बदायूं। सपा नेता एवं पूर्व ब्लाक प्रमुख राकेश गुप्ता, उनकी पत्नी शारदा देवी, मां शांति देवी की सोमवार शाम गोली मारकर हत्या कर दी गई। उनके पैतृक गांव सथरा स्थित घर में तीनों के शव पड़े मिले। पांच मिनट के अंदर वारदात को अंजाम देकर आरोपित फरार हो गए। वारदात की जानकारी उनके भाई के घर पहुंचने पर हुई। उन्होंने गांव के ही एक भाजपा नेता और जिला पंचायत सदस्य पर हत्या का आरोप लगाया है। एसएसपी समेत कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच कर वारदात की पड़ताल में लगी है।

अलग-अलग कमरे में पड़े थे शव

उसावां के पूर्व ब्लाक प्रमुख और वर्तमान में जिला पंचायत सदस्य राकेश गुप्ता सपा के कद्दावर नेता थे। वह और उनका परिवार शहर के आवास विकास कालोनी में रहता है। कुछ दिन पहले बीमार होने पर आपरेशन कराने के बाद से वह उसहैत थाना क्षेत्र के अपने पैतृक गांव सथरा में रह रहे थे। सोमवार शाम घर में राकेश गुप्ता के अलावा उनकी पत्नी शारदा देवी और मां शांति देवी ही थीं। शाम करीब छह बजे उनके भाई पूर्व ब्लाक प्रमुख राजेश गुप्ता घर पहुंचे तो तीनों के शव घर के अलग अलग कमरों में पड़े हुए थे।

घटनास्‍थल पर एसएसपी समेत कई थानों की फोर्स पहुंची

इसके बाद राजेश गुप्ता ने रोते हुए चीखना शुरू किया, जिस पर गांव के लोग एकत्र हो गए। सूचना पर उसहैत थाना पुलिस भी पहुंच गई। एक साथ तीन हत्याओं से पूरे जिले में सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर एसएसपी डा. ओपी सिंह ने कई थानों की पुलिस बल को गांव में तैनात कर दिया। कुछ देर बाद एसएसपी डा. ओपी सिंह भी मौके पर पहुंच गए। राकेश गुप्ता के भाई राजेश गुप्ता ने राजनीतिक रंजिश के चलते हत्या की आशंका जताई है।

राकेश गुप्‍ता के घर में न कोई घुसते देखा गया न निकलते

उन्होंने गांव के रहने वाले भाजपा नेता व जिला पंचायत सदस्य पर दो अन्य साथियों के साथ मिलकर हत्या के आरोप लगाए हैं। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है। भाई राजेश गुप्ता के अलावा गांव में और कोई व्यक्ति कुछ भी बोलने से इन्कार कर रहा है। लोगों के अनुसार किसी ने राकेश गुप्ता के घर में किसी को घुसते देखा न निकलते देखा है।

"
""
""
""
""
"

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ये भी पढ़ें