देहरादून : अंकिता ने विगत 28 अगस्‍त को इंटरनेट पर विज्ञापन देखने के बाद वनन्‍तरा रिसॉर्ट में रिसेप्‍शनिस्‍ट के तौद पर ज्‍वॉइनिंग की थी। अंकिता रिसॉर्ट में चलने वाले काले कारनामों को भांप गई थी और इसलिए नौकरी ज्‍वॉइन करने के तीन हफ्ते बाद ही वह दूसरी नौकरी तलाश रही थी।

अंकिता पर रिसॉर्ट में हो रही ज्‍यादती की बातें सामने आईं

यह खुलासा अंकिता के दोस्‍त पुष्‍प ने किया है। पुष्‍प जम्‍मू से ऋषिकेश एसआइटी के पास अपने बयान दर्ज कराने पहुंचा है। गुरुवार को वह ऋषिकेश पहुंचा और यहां एसआइटी ने उससे करीब सात घंटे तक पूछताछ की।

इस पूछताछ में अंकिता पर रिसॉर्ट में हो रही ज्‍यादती की बातें सामने आईं हैं। और यह भी सामने आया है कि वह किस प्रकार आरोपितों के गलत इरादों के सामने अकेली खड़ी रही और अंत तक लड़ती रही।

  • पुष्‍प ने अपने बयानों में बताया कि रिसॉर्ट मालिक पुलकित आर्या, सौरभ और अंकित उसे प्रताडि़त किया करते थे।
  • इन प्रताड़नाओं से अंकिता इतनी तंग आ गई थी कि वह परेशान रहने लगी थी।
  • अंकित वनन्‍तरा में नौकरी ज्‍वॉइन करने के महज तीन हफ्ते बाद ही दूसरी नौकरी तलाश करने लगी थी।
  • पुष्प ने बताया कि अंकिता उससे रिसॉर्ट, पुलकित व उसके साथियों की हर हकीकत साझा करती थी।
  • रिसॉर्ट में अंकिता पर अनैतिक काम के लिए दबाव बनाया जा रहा था।
  • अनैतिक काम करने के लिए आरोपितों द्वारा अंकिता को रुपयों का लालच भी दिया जाता था।
  • जब अंकिता ने अनैतिक काम करने से मना किया तो उसे नौकरी से निकाले जाने की धमकी तक दी गई।
  • 17 सितंबर को अंकिता और पुष्‍प की वाट्सएप पर लंबी चैट हुई थी। जिसमें अंकिता रिसॉर्ट में आने वाले वीआइपी गेस्‍ट के बारे में जिक्र किया था।
  • अंकिता ने बताया था कि मैनेजर अंकित गुप्‍ता ने वीआइपी गेस्‍ट को स्‍पेशल सर्विस देने की बात कही थी।
  • अंकिता और पुष्‍प की इसी चैट से रिसॉर्ट की हकीकत और पुलकित व उसके साथियों के काले कारनामों का सच सामने आया था।
  • इसलिए पुलिस अंकिता और पुष्प के बीच हुई वाट्सएप चैट और फोन काल को महत्वपूर्ण सुबूत मान रही है।

तीनों आरोपित हिरासत में, एसआइटी कर रही जांच

गौरतलब है कि 18 सितंबर को अंकिता को नजर में धक्‍का देकर उसकी हत्‍या कर दी गई थी। जिसके लिए आरोपित रिसॉर्ट मालिक पुलकित आर्या, सौरभ और अंकित गुप्‍ता को पुलिस ने हिरासत में लिया है। मामले की जांच मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी के आदेश के बाद एसआइटी को सौंपी गई है।

"
""
""
""
""
"

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ये भी पढ़ें