उत्तर प्रदेश के इटावा में रात के समय एक घर में लोग सो रहे थे, उसी दौरान कमरे में 8 फीट का मगरमच्छ घुस आया. घर के लोगों ने जब मगरमच्छ को देखा तो हड़कंप मच गया. लोग जान बचाकर इधर-उधर भागे. गांव के लोगों को पता चला तो मौके पर भीड़ जुट गई. सूचना पुलिस को दी गई. जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने रात में मगरमच्छ को कमरे में बंद करवा दिया. इसके बाद सुबह होने पर रेस्क्यू किया गया.

जानकारी के अनुसार, इटावा के बैदपुरा क्षेत्र स्थित महिला सेंट्रल जेल के सामने जैतिया गांव के हरनाम सिंह के घर में रात के समय 10 बजे कमरे में 8 फीट लंबा मगरमच्छ घुस आया. परिवार के लोगों ने देखा तो सभी जान बचाकर भागे. सभी लोग पड़ोसी के घर चले गए.

हरनाम सिंह ने सूचना पुलिस को दी. रात्रि में पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मगरमच्छ को कमरे को बंद करवा दिया. इसके बाद वन्यजीव विशेषज्ञ को सूचना दी. सुबह होने पर वन्यजीव विशेषज्ञ डॉ. आशीष त्रिपाठी ने मगरमच्छ का रेस्क्यू किया. मगरमच्छ को वन विभाग एवं वाइल्डलाइफ की टीम के सुपुर्द कर दिया गया.

रेस्क्यू करने वाले डॉ. आशीष त्रिपाठी ने बताया कि एक घर में मगरमच्छ घुसने की प्राप्त हुई थी. जब यहां आकर देखा तो यह जुवेनाइल मगरमच्छ है. गांव वाले बहुत भयभीत थे. यह मगरमच्छ बहुत ही हमलावर और एग्रेसिव स्वभाव का था. एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद रेस्क्यू किया है.
उन्होंने बताया कि इस मगरमच्छ की लंबाई 8 फीट है, उम्र लगभग डेढ़ से दो वर्ष है. वन विभाग की टीम और पुलिस की टीम ने सहयोग किया है. भोगनीपुर नहर से यह भोजन की तलाश में गांव में घुस आया था. इसको यमुना या चंबल के प्राकृतिक वास में छोड़ दिया जाएगा.

हरनाम सिंह ने बताया कि मगरमच्छ हमारी बकरियों के पास सबसे पहले गया, उसके बाद वह घर के अंदर आ गया. पूरा परिवार देखकर डर गया था. हम लोग पूरी रात जागते रहे.

"
""
""
""
""
"

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ये भी पढ़ें