आज सदन में दूसरा अनुपूरक बजट पेश करेगी योगी सरकार, किसानों और युवाओं को मिल सकती है बड़ी सौगात

खबरे सुने

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की सत्ता में दोबारा वापसी के लिए हर मुमकिन जतन कर रही योगी सरकार विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में आज गुरुवार को वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए दूसरा अनुपूरक बजट पेश करेगी। वित्तीय वर्ष 2022-23 का अंतरिम बजट और उसके पहले चार महीनों के दौरान सरकार के जरूरी खर्चों से निपटने के लिए लेखानुदान भी प्रस्तुत करेगी। विधान सभा चुनाव के मुहाने पर खड़ी सरकार दूसरे अनुपूरक बजट के जरिये किसानों, असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों, बेरोजगारों के साथ राज्य कर्मचारियों व मानदेय पर तैनात कर्मियों को साधेगी और उनके लिए खजाना खोलेगी।

तीन कृषि कानूनों की वापसी और उत्तर प्रदेश में सिंचाई क्षमता में अभूतपूर्व वृद्धि के बावजूद सरकार किसानों को खुश करने का मौका नहीं चूकना चाहती है। प्रदेश के 2.42 करोड़ लघु व सीमांत किसानों को केंद्र सरकार किसान सम्मान निधि के तहत साल में दो हजार रुपये की तीन किस्तों में कुल छह हजार रुपये दे रही है।

दूसरे अनुपूरक बजट के जरिये राज्य सरकार इन किसानों को अपने खजाने से दो हजार रुपये की एक और किस्त देने की घोषणा कर सकती है। असंगठित क्षेत्र के पंजीकृत 2.7 करोड़ श्रमिकों पर भी सरकार धनवर्षा कर सकती है। इन श्रमिकों को साल में 500-500 रुपये की दो से चार किस्त देने का इरादा है।

सरकार राज्य कर्मचारियों की कैशलेस इलाज की वर्षों पुरानी मांग को पूरा करने के लिए उन्हें मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत यह सुविधा मुहैया कराने का फैसला करने जा रही है। सरकार कर्मचारियों के कैशलेस इलाज के लिए सरकारी मेडिकल कालेजों को सरकार कार्पस फंड भी उपलब्ध करा सकती है।

दूसरे अनुपूरक बजट में इसके लिए धनराशि का इंतजाम हो सकता है। आशा कार्यकर्ता और पंचायत प्रतिनिधियों का मानदेय बढ़ाने के भी दूसरे अनुपूरक बजट में संसाधन जुटाये जा सकते हैं। आशा कार्यकर्ताओं का मानदेय 500 से 750 रुपये तक बढ़ाया जा सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.