वेस्‍टइंडीज के धाकड़ बल्‍लेबाज ,यूनिवर्स बॉस को इंतज़ार अपने रिकार्ड टूटने का ।

खबरे सुने

नई दिल्ली : दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग यानी आईपीएल ने अब तक 14 सीजन खेले जा चुके हैं अब 15वें सीजन की तैयारी चल रही है. अगले साल यानी 2022 के मार्च अप्रैल में आईपीएल फिर खेला जाएगा.

इससे पहले जनवरी में हो सकता है कि आईपीएल 2022 के लिए ऑक्‍शन हो. लेकिन इतने लंबे समय के बाद भी वेस्‍टइंडीज के धाकड़ बल्‍लेबाज पूरी दुनिया में यूनिवर्स बॉस के नाम से मशहूर क्रिस गेल की सबसे बड़ी पारी का रिकॉर्ड अभी तक कोई भी नहीं तोड़ पाया है. क्रिस गेल ने विराट कोहली की कप्‍तानी वाली आरसीबी की ओर से बल्‍लेबाजी करते हुए 175 रन की नाबाद पारी खेली थी. बड़ी बात ये भी थी कि अकेले क्रिस गेल ने जितने रन बनाए थे, विपक्षी टीम यानी पुणे वॉरियर्स के सभी बल्‍लेबाज मिलकर भी इस स्‍कोर को पार नहीं कर पाए थे. हालांकि उस दिन क्रिस गेल टी20 का पहला दोहरा शतक लगाने से चूक गए थे उन्‍हें इसका मलाल भी है. आज तक कोई बल्‍लेबाज इस स्‍कोर को पार करना तो दूर इसके आसपास भी नहीं पहुंच पाया है.
वो दिन था 23 अप्रैल 2013 का मैदान था बेंगलोर का चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम. आरसीबी की टीम पहले बल्‍लेबाजी के लिए मैदान पर उतरी. मैदान पर क्रिस गेल तिलकरत्‍ने दिलशान आ चुके थे. क्रिस गेल को भी शायद उस दिन पता नहीं होगा कि वे आज एक ऐसा कीर्तिमान बनाने जा रहे हैं, जो आने वाले कई सालों तक दुनिया का कोई भी बल्‍लेबाज तोड़ नहीं पाएगा. क्रिस गेल ने 66 गेंद पर 175 रन बना दिए थे विरोधी टीम उन्‍हें आउट नहीं कर पाई थी. इस पारी के दौरान क्रिस गेल ने 17 छक्‍के 13 चौके मारे थे. अमूमन बल्‍लेबाज चौके ज्‍यादा लगाता है छक्‍के उससे कम, लेकिन कभी कभार ही ऐसा होता है कि कोई बल्‍लेबाज छक्‍के ज्‍यादा मारे चौके कम. यानी क्रिस गेल हर गेंद पर ऊंचा लंबा स्‍ट्रोक खेल रहे थे. हर गेंद उनके बल्‍ले पर भी आ रही थी आसमान की सैर कर रही थी. विरोधी टीम का कोई भी गेंदबाज ऐसा नहीं था, जो क्रिस गेल के ताप से बच पाया हो, सिवाया भुवनेश्‍वर कुमार के. मैच की जब पहली पारी खत्‍म हुई तो पता चला कि आरसीबी ने पांच विकेट के नुकसान पर 263 रन बना दिए थे.
इसके बाद जब पुणे वॉरियर्स की टीम बल्‍लेबाजी के लिए मैदान पर उतरी तो पूरी टीम मिलकर 20 ओवर में नौ विकेट के नुकसान पर 133 रन ही बना सकी थी. इस तरह से आरसीबी ने 130 रन के बड़े अंतर से मैच जीत लिया था. ये आईपीएल की सबसे बड़ी जीत में से एक है. क्रिस गेल उस दिन दोहरा शतक नहीं लगा पाए थे. हालांकि बाद में क्रिस गेल ने एक किताब में लिखा भी था कि उस दिन वे दोहरा शतक लगा सकते थे. पिच इतनी शानदार थी कि हर गेंद बल्‍ले पर आ रही थी जो भी बल्‍लेबाज आ रहा था वो रन बना रहा था, इसलिए उनके पास गेंदों की कमी पड़ गई उन्‍हें 175 रन की नाबाद पारी के बाद वापस लौट आए. उस दिन क्रिस गेल जिस तरह का खेल दिखा रहे थे, उससे लगता है कि अगर उन्‍हें छह से सात गेंद मिल जाती तो वो दिन टी20 में पहले दोहरे शतक के लिए याद किया जाता. हालांकि ये रिकॉर्ड अभी भी अटूट है पता नहीं कभी टूट भी पाएगा या नहीं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.