Home उत्तर प्रदेश हम कोविद के खिलाफ पूरी तरह से तैयार हैं: यूपी के स्वास्थ्य...

हम कोविद के खिलाफ पूरी तरह से तैयार हैं: यूपी के स्वास्थ्य मंत्री

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मार्च के दूसरे हफ्ते के बाद से तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के मामले अब चिंता बढ़ा रहे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को हाई अलर्ट पर कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने भी दावा किया है कि प्रदेश सरकार कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर बेहद सतर्क तथा पूरी तरह से तैयार है।

स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने बताया कि प्रदेश में केरोना वायरस संक्रमण के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। इसको लेकर खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार इसकी समीक्षा बैठक कर रहे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सरकार इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। हर जिले में कोविड हेल्प डेस्क एक्टिव है। कहीं पर भी अगर केस बढ़े हैं तो उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन में तब्दील किया गया है। उस पूरे इलाके में विशेष सतर्कता बरती जा रही है।

हर जिले में बाहर से आने वालों को रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड व एयरपोर्ट ही चेक किया जा रहा है। बाहर से आने वाले लोगों का टेस्ट किया जा रहा है। प्रदेश में कोविड-19 कंट्रोल रूम को एक्टिव कर दिया गया है। सभी जगह पर जिलाधिकारी और सीएमओ के रोज दोनों समय अपडेट दे रहे हैं।

होली को लेकर गाइडलाइंस जारी: कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले देख उत्तर प्रदेश सरकार ने होली तथा अन्य पर्व को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए होली के अवसर पर किसी भी प्रकार की पार्टी आयोजित नहीं की जाएगी। गृह विभाग ने पाॢटयों के अलावा किसी भी तरह के सार्वजनिक आयोजन पर रोक लगा दी है। अगर किसी भी तरह का आयोजन करना है तो इसके लिए जिला प्रशासन से अनुमति लेनी होगी। इसके अलावा कोविड नियमों का पालन करना होगा। इनमें मास्क तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करने के लिए कहा गया है। सार्वजनिक कार्यक्रमों में सीनियर सिटीजन और छोटे बच्चे हिस्सा नहीं लेंगे। 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के व्यक्ति और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को कार्यक्रम में शामिल होने की पाबंदी है। बिना प्रशासन की अनुमति जुलूस या समारोह की इजाजत नहीं है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने एक और महत्वपूर्ण फैसला किया है। प्रदेश में 30 मार्च तक कक्षा एक से आठ तक के सभी निजी और सरकारी स्कूल बंद कर दिए गए हैं।