Home क्राइम तीन राज्यों का वांटेड गिरफ्तार, नेताओं की आवाज में बात कर ठग...

तीन राज्यों का वांटेड गिरफ्तार, नेताओं की आवाज में बात कर ठग लिए 50 लाख रुपये

नई दिल्ली। मोती नगर विधायक शिवचरण गोयल की आवाज निकालकर पार्टी फंड के नाम पर एक कारोबारी से छह लाख की ठगी करने वाले आरोपित को पुलिस ने मुंबई से गिरफ्तार कर लिया। आरोपित भलिंदर पाल सिंह मुंबई में जूते की दुकान करने के साथ-साथ आपराधिक गतिविधि में लिप्त था। आवाज बदलने में माहिर भलिंदर के खिलाफ पंजाब के जालंधर में दो मामला, संगरूर में एक मामला के अलावा छत्तीसगढ़ के रायपुर में एक मामला दर्ज है।

ये स्थानीय नेताओं की आवाज निकालकर पार्टी फंड के नाम पर ठगी की वारदात को अंजाम देता था। अभी तक की पूछताछ में पुलिस को पता चला कि है कि इसने 50 लाख रुपये की ठगी की है।

पश्चिमी जिला पुलिस उपायुक्त उर्विजा गोयल ने बताया कि मोती नगर थाना क्षेत्र में मनी एक्सचेंज का कार्य करने वाले राजेश खेड़ा ने ठगी की शिकायत की। इन्होंने कहा कि बदमाश ने विधायक शिवचरण गोयल की आवाज निकालकर पार्टी फंड के नाम पर छह लाख रुपये ठग लिए। मामले की गंभीरता को देखते हुए मोती नगर थाना के एसएचओ राजबीर सिंह लांबा के नेतृत्व में टीम ने जांच शुरू की। सबसे पहले बदमाश के फोन को सर्विलांस पर लगाया गया।

वहीं इंटरनेट मीडिया के जरिये भी आरोपित की पहचान की कोशिश पुलिस ने शुरू की। जांच के क्रम में पुलिस को पता चला कि इस वारदात को भलिंदर ने अंजाम दिया है, लेकिन पुलिस को इसकी लोकेशन के बारे में नहीं पता चल रहा था। फेसबुक पर सर्च करने के दौरान भलिंदर का प्रोफाइल पुलिस को दिखा और यहां से पुलिस को पता चला कि वह मोहाली में रहता है। इसके बाद पुलिस टीम मोहाली गई, लेकिन वहां भलिंदर नहीं मिला। मकान मालिक ने कहा कि दस वर्ष पहले ही वह यहां से चला गया।

जांच के क्रम में भलिंदर के फेसबुक फ्रेंड के माध्यम से उसके पिता का नंबर पुलिस को मिल गया। इसके बाद भलिंदर का दोस्त बनकर पुलिस ने उस नंबर पर बात की और भलिंदर के मुंबई में होने की जानकारी मिली। पुलिस की एक टीम बंग्लो रोड अंधेरी वेस्ट मुंबई पहुंची और जूते की दुकान के आसपास नजर रखने लगी। लगातार दो दिनों तक भलिंदर अपनी दुकान पर नहीं आया, लेकिन पुलिस ने संयम नहीं खोया। जैसे ही तीसरे दिन भलिंदर दुकान पर दिखाई दिया पुलिस ने उसे दबोच लिया।

भलिंदर के पिता है आढ़ती

मूलरूप से उत्तराखंड के देहरादून का रहने वाला भलिंदर संपन्न परिवार से ताल्लुक रखता है। इसके पिता बड़े आढ़ती हैं और कैंट क्षेत्र में आलू व प्याज की आपूर्ति करते हैं। कुछ दिनों तक भलिंदर ने भी इस काम में परिवार का हाथ बंटाया लेकिन लापरवाही के कारण उसे घाटा होने लगा। इसके बाद आरोपित मुंबई में जूता की दुकान खोला लेकिन उसमें भी उसे घाटा हो रहा था। इसके बाद वह ठगी की वारदात को अंजाम देने लगा।

दो तरह के लोग होते थे निशाने पर

पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपित के निशाने पर मनी एक्सचेंजर व ट्रैवल एजेंट होते थे। आरोपित यह मानता था कि ये दोनों पुलिस में जल्दी शिकायत नहीं करते हैं। ऐसे में इन्हीं से ठगी की वारदात को अंजाम दिया जाए। उन्होंने कहा कि यह इतना शातिर है कि जिस इलाके में यह ठगी की वारदात को अंजाम देता था, पहले वहां के प्रभावशाली नेता के बारे में पता करता था और फिर उनकी आवाज यूट्यूब पर बार-बार सुनता था। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इसने अभी तक कितने लोगों के साथ ठगी की वारदात को अंजाम दिया है।