इस बार का वोट स्कूल के नाम पर दीजिए, 21 साल के धोखे और टूटे सपनों को 21 महीनों में करेंगे पूरा: मनीष सिसोदिया

खबरे सुने

आम आदमी पार्टी ने कुमाऊं में चुनाव अभियान तेज कर दिया है। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया चार दिन के कुमाऊं दौरे के तहत गुरुवार को हल्द्वानी पहुंचे। इस दौरान उन्होंने जनसभा में लोगों से बेहतर उत्तराखंड बनाने के लिए आम आदमी पार्टी को वोट देने की अपील की।

गुरुवार शाम हल्द्वानी के रामलीला मैदान में हुई जनसभा में उन्होंने अपना भाषण शिक्षा पर केंद्रित रखा। सिसोदिया ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस ने राज्य के बच्चों का भविष्य बर्बाद कर दिया है। यदि राज्य गठन के समय ही यहां व्यवस्थाएं सुधारी गई होतीं तो उस समय पैदा हुए बच्चे आज 21 वर्ष की युवावस्था में राज्य के विकास में अहम योगदान दे रहे होते।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि 21 साल में भाजपा और कांग्रेस ने राज्य को बर्बाद किया है। इस बर्बादी को आम आदमी पार्टी 21 महीने में ठीक करेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टी जानती हैं कि शिक्षा व्यवस्था अच्छी कर दी तो लोग पढ़ेंगे, सवाल करेंगे और रोजगार मागेंगे। इसलिए दोनों दलों ने पढ़ाई लिखाई के सिस्टम को ही बर्बाद कर दिया।

सिसोदिया ने आरोप लगाया कि दिल्ली में आप सरकार के कार्य में दिल्ली के उप राज्यपाल कई अड़ंगे लगाते हैं, बावजूद इसके हमने दिल्ली की हालत को सुधारा है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में विकास की अपार संभावनाएं है और आम आदमी पार्टी अपने वादे पूरा करेगी। अरविंद केजरीवाल को वादे का पक्का बताते हुए कहा कि उन्होंने जो भी वादा किया है उसे पूरा करते हैं।

इस दौरान उत्तराखंड प्रभारी दिनेश मोहनिया, प्रदेश प्रवक्ता समित टिक्कू, शिशुपाल सिंह रावत, अब्दुल कादिर, पवन पांडे, संतोष कबडवाल, रईसुल हसन, बबीता चंद, त्रिलोचन जोशी, रक्षित वर्मा, दीप पांडे, रमेश कांडपाल, डीएस कोटलिया आदि मौजूद रहे।

रामलीला मैदान पहुंचने से पहले दिल्ली के डिप्टी सीएम एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने लालकुआं में रेलवे कॉलोनी के पास स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया। वहां उन्होंने बच्चों और अभिभावकों से बातचीत की। विद्यालय प्रांगण में पड़े खस्ताहाल टिन शेड में बैठकर पढ़ने की व्यवस्था पर सिसोदिया ने हैरानी जताते हुए कहा कि उत्तराखंड की सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में कुछ नहीं किया।

हल्द्वानी के रामलीला मैदान में अपने भाषण में उन्होंने कहा दो कमरे और एक टिन शेड में चल रहे लालकुआं के प्राइमरी स्कूल से खराब स्कूल मैंने अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड को बेहतर बनाने के लिए सरकारी स्कूलों को प्राइवेट से स्कूलों से बेहतर बनाया जाएगा।

जनसभा में पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की भागीदारी ज्यादा दिखीं। जनसभा में आधे से ज्यादा महिलाएं उपस्थित थीं। लेकिन जनसभा पहले से तय समय शाम 5 बजे की बजाय शाम 6 बजे शुरू हुई। ऐसी स्थिति में कई महिलाएं जनसभा स्थल से उठकर चली भी गईं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.