Home उत्तर प्रदेश ग्रामीणों ने टूंडला विधानसभा में किया मतदान का बहिष्कार

ग्रामीणों ने टूंडला विधानसभा में किया मतदान का बहिष्कार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा की सात रिक्त सीटों के लिए मंगलवार को सुबह से ही लोग बूथ पर पहुंच गए। मतदान सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक होगा। इन सात सीटों के लिए कुल 88 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला 24.27 लाख मतदाता करेंगे। मतदान के लिए 1754 पोलिंग सेंटर और 3655 पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं। मतदान के दौरान कोई गड़बड़ी न हो इसलिए पर्याप्त मात्रा में अर्धसैनिक बल लगाए गए हैं। क्रिटिकल बूथों पर नजर रखने के लिए 371 बूथों की वेबकास्टिंग कराई जा रही है।

10:45 AM- टूंडला के बूथ संख्या 30 पर बहिष्कार

फिरोजाबाद के टूंडला विधानसभा में रूधऊ मुस्तक़िल की बूथ संख्या 30 पर ग्रामीणों ने उप चुनाव का बहिष्कार किया। ग्रामीणों का आरोप है कि गांव में कोई विकास कार्य नहीं हुआ है। उनका कहना है कि विकास नहीं तो वोट नहीं। गांव भैंसा बृजपुर  में पानी और सड़क की समस्या को लेकर गांववासी लामबंद हो गए। एक भी मतदाता वोट डालने नहीं पहुंचा। स्टेटिक मजिस्ट्रेट ने समझाया, मगर मानने को तैयार नहीं हुए। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व शिक्षामित्रों ने भी साफ मना कर दिया है कि हम भी गांव वालों के साथ हैं और हम भी वोट नहीं करेंगे। कायथा ग्रामपंचायत का नगला बलू ,कछपुरा और भैसा मंडनपुर और रूधऊ मुस्तक़िल में सन्नाटा पसरा है।मतदाता वोट डालने को तैयार नहीं है। उनका कहना है कि गांव में  समस्याएं बरकरार हैं।

10:30 मल्हनी में बूथों पर मतदाताओं की संख्या कम

जौनपुर के मल्हनी विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव के मतदान में  नौ बजे तक 6.5 फीसद मतदाताओं ने मत का प्रयोग किया‌। मतदान के लिए बनाए गए 554 बूथों में से पांच पर ईवीएम, वीवीपैट व थर्मल स्कैनर की गड़बड़ी के चलते आधे घंटे बाद मतदान शुरू हो सका। साथ ही आठ बजे तक बूथों पर मतदाताओं की संख्या कम रही। आठ बजे के बाद बढ़ी मतदाताओं की भीड़ के बीच 6.5 फीसद लोगों ने मत का प्रयोग किया। इस दौरान बूथों के निरीक्षण में जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर के साथ ही जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट लगे रहे। बूथों पर कोरोना से बचाव के संसाधनों के साथ ही मतदाताओं की थर्मल स्क्रीनिंग व हाथ को सैनिटाइज कराया जा रहा है।

10:00 AM- मतदाता की चाल सुस्त, पहले दो घंटे में 7.87 प्रतिशत मतदान

कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में भी उत्तर प्रदेश में सात विधानसभा सीट पर चुनाव के दौरान मतदान पर असर देखा जा रहा है। पहले दो घंटे यानी सात से नौ बजे के बीच में मतदान का प्रतिशत सिर्फ 7.87 है। इसमें भी सर्वाधिक दस प्रतिशत मतदान देवरिया सदर सीट पर हुआ है। कानपुर के घाटमपुर सुरक्षित सीट पर मतदाता काफी सुस्त हैं। यहां पर सिर्फ पांच प्रतिशत ही मत पड़े हैं। इनके साथ अमरोहा की नौगावां सादात में 8.50, बुलंदशहर की बुलंदशहर सदर में 7.80, फिरोजाबाद की टूंडला सुरक्षित सीट में आठ, उन्नाव की बांगरमऊ सीट पर 8.27 तथा जौनपुर की मल्हनी सीट पर 7.50 प्रतिशत मतदान हुआ है।

9:30 AM- घाटमपुर में पहले दो घंटे में पांच फीसद मतदान

कानपुर के घाटमपुर विधानसभा सीट पर सुबह 7 बजे मतदान शुरू हुआ। कई ऐसे बूथ थे जहां ईवीएम, वीवीपैट में तकनीकी खराबी सामने आई। इस वजह से वहां देरी से मतदान शुरू हुआ। मास्टर ट्रेनर बूथों पर पहुचे और खराब ईवीएम और वीवीपैट को बदला और फिर मतदान शुरू हो पाया। सुबह 9 बजे तक 5 प्रतिशत मतदान हुआ। मतदान केंद्रों पर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए भी सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है। बिना मास्क के जो लोग आ रहे हैं उनसे आग्रह किया जा रहा है कि मास्क लगाकर पर आएं। मास्क नहीं है तो अंगोछा बांधकर आएं। चुनाव में भाजपा के उपेंद्रनाथ पासवान ,सपा के पूर्व मंत्री इंद्रजीत कोरी, बसपा के कुलदीप संखवार समेत छह उम्मीदवार मैदान में हैं। मतदान शुरू होने के बाद ही ईवीएम की बैलट यूनिट 9, कंट्रोल यूनिट 7, 13 वीवीपैट को बदलना पड़ा। इस तरह 29 वीवीपैट और ईवीएम बदली गई। अभी तक कि भी बूथ पर विवाद की बात सामने नहीं आई है। डीएम आलोक तिवारी ने बताया कि शांतिपूर्ण तरीके से मतदान हो रहा है।

9:00 AM- जौनपुर में बाहुबली धनंजय सिंह ने पत्नी के साथ किया मतदान

जौनपुर में मल्हनी विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी बाहुबली धनंजय सिंह ने गांव के पास बने मतदान केंद्र में अपनी पत्नी श्रीकला सिंह के साथ मतदान किया। जौनपुर से सांसद रहे धनंजय सिंह मल्हनी विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में उतरे हैं। बीते विधानसभा चुनाव 2017 में वह निषाद पार्टी के प्रत्याशी थे।

8:30 AM- मतदान के दौरान ईवीएम मशीन भी दे रही दगा 

अमरोहा के नौगांवा सादात क्षेत्र के उपचुनाव में मतदान के दौरान ईवीएम मशीन भी दगा दे रही हैं। गांव लिसडी बुजुर्ग व भीकनपुर सुमाली में ईवीएम मशीन खराब होने के कारण मतदान रुक गया। लिसडी बुजुर्ग में 7:30 बजे मशीन शुरू होने के बाद कुछ देर चली और बाद में तकनीकी दिक्कत के कारण बंद हो गई।

करीब 20 मिनट यहां पर मशीन बंद रही। इसके बाद करीब 8:30 बजे गांव में भिकनपुर शुमाली में बूथ नंबर 308 में मशीन रुक गई। जिसके कारण मतदान रुक गया। 9:10 पर जॉन मजिस्ट्रेट द्वारा मौके पर पहुंचकर दूसरी ईवीएम मशीन लगाकर मतदान शुरू कराया गया।

अमरोहा की नौगावां सादात क्षेत्र के सब्दलपुर शर्की गांव में चुनाव का बहिष्कार जारी, नहीं डाले जा रहे वोट। सूने पड़े बूथ तथा धूप में मतदाताओं के आने का इंतजार करते मतदान कर्मी।

बुलंदशहर के देहात क्षेत्र में चार बूथों पर ईवीएम और वीवीपैट मशीनों में गड़बड़ी, बदली गईं। नौगांवा सादात क्षेत्र के सब्दलपुर शर्की गांव में चुनाव का बहिष्कार जारी, नहीं डाले जा रहे वोट।

8:00 AM- कानपुर के घाटमपुर विधानसभा के दो बूथ पर ईवीएम खराब

कानपुर के घाटमपुर सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र में मतदान को लेकर लोगों में काफी रुझान है। सुबह से ही लोग बूथ पर पहुंच गए। इसी बीच दो बूथ पर ईवीएम मशीन में खराबी की सूचना पर उनको बदला गया है। यहां के पतारा तथा शास्त्रीनगर पोलिंग बूथ पर ईवीएम मशीन में खराबी आ गई।

7:30 AM- मल्हनी के अभयचंद पट्टी बूथ पर आधे घंटे विलंब से शुरू हुआ मतदान

जौनपुर के मल्हनी विधानसभा क्षेत्र के करंजाकला ब्लाक के अभय चंद पट्टी प्राथमिक विद्यालय के एक बूथ पर ईवीएम की बैटरी की गड़बड़ी के चलते मतदान आधे घंटे विलंब से 7.32 बजे शुरू हो सका। जौनपुर के मल्हनी विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव के लिए सुबह छह बजे से ही बूथों पर हलचल शुरू हो गई। सुरक्षा बल के जवान अपने ड्यूटी स्थल पर मुस्तैद हो गए। साथ ही कर्मचारी मतदान शुरू कराने के लिए ईवीएम ठीक करने व अन्य तैयारी में लगे।

उत्तर प्रदेश में उपचुनाव अमरोहा की नौगावां सादात, बुलंदशहर की बुलंदशहर सदर, फीरोजाबाद की टूंडला, उन्नाव की बांगरमऊ, कानपुर की घाटमपुर, देवरिया की देवरिया व जौनपुर की मल्हनी सीट पर हो रहा है। चुनाव मैदान में 88 उम्मीदवारों में नौ महिलाएं हैं। कोरोना से मतदान कर्मियों व मतदाताओं की सुरक्षा के लिए थर्मल स्कैनर, सैनिटाइजर, ग्लव्स, फेस मास्क, फेस शील्ड, पीपीई किट, साबुन, पानी आदि की पर्याप्त व्यवस्था की गई है।

उत्तर प्रदेश की इन सात विधानसभा सीटों में 13.03 लाख पुरुष, 11.30 लाख महिलाएं व 130 थर्ड जेंडर मतदाता हैं। चुनाव के लिए सात सामान्य प्रेक्षक व सात व्यय प्रेक्षकों के अलावा 301 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 46 जोनल मजिस्ट्रेट, 76 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तथा 333 माइक्रो ऑब्जर्वर तैनात किए गए हैं। मतदान के लिए 5127 ईवीएम की कंट्रोल यूनिट व 6710 बैलट यूनिट तथा 5492 वीवीपैट लगाए जाएंगे।

17 हजार से अधिक मतदान कर्मी कराएंगे चुनाव : उपचुनाव में 17183 मतदान कर्मी लगाए गए हैं। चुनाव प्रक्रिया को संपन्न कराने के लिए 1046 भारी वाहन तथा 467 हल्के वाहन लगाए गए हैं।