Home उत्तर प्रदेश डीएम पहुंचे बीएसए कार्यालय तो खुल गई दफ्तर की पोल पट्टी कई...

डीएम पहुंचे बीएसए कार्यालय तो खुल गई दफ्तर की पोल पट्टी कई पटल के कक्ष में लटक रहा था ताला, नदारद मिले तो कर्मचारी, मचा हड़कम्प

राजसत्ता पोस्ट

जौनपुर

फर्जी शिक्षकों के बड़े संजाल से चर्चा में आए बेसिक शिक्षा विभाग के जौनपुर कार्यालय की सही तस्वीर देखने के लिए जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह बुधवार को झमाझम बारिश के बीच पूर्वाहन 11 बजे दिन में बीएसए कार्यालय पहुंच गए । डीएम के धमकने से पूरे कार्यालय में अफरा तफरी मच गया ।
इस दरम्यान वित्त एवं लेखाधिकारी कक्ष में ताला लटकता मिला, एक बाबू नदारत मिला। कार्यालय परिसर में झाड़ झंखाड़ देखकर डीएम भड़क गए । हैरत की बात यह रहा कि पिछले जांच में पाई गई खामियों को दुरुस्त करने का डीएम द्वारा दिये गए आदेश को भी दरकिनार किया गया पाया गया ।

आज करीब 11 बजे डीएम बीएसए कार्यालय का निरीक्षण करने पहुंच गए , इस दरम्यान वित्त एवं लेखाधिकारी नंदराम कुरील का कक्ष बंद मिला , बरिष्ठ लिपिक विजय शंकर लापता मिले, डीएम ने दोनों लोगो के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया। उधर कार्यालय परिसर में उगी झाड़ियो को देखकर नराजगी व्यक्त करते हुए तत्काल साफ सफाई का आदेश दिया ।

दरअसल जिलाधिकारी को पिछले कई दिनों से कई अभिभावकों और जनप्रतिनिधियों ने शिकायत किया था कि खुद विभाग के बड़े अधिकारी कार्यालय में आमजन से नहीं मिलते, उन्होंने लोगों से मिलने के लिए पर्ची प्रक्रिया निर्धारित कर दी है। आगंतुक व्यक्ति पहले अपने नाम पते की पर्ची पर आने का कारण लिखकर बीएसए को भेजेगा फिर जरूरत पड़ने पर वह चाहेंगे तो उस व्यक्ति से मुलाकात कर सकते हैं।

ऐसी कई शिकायत भाजपा के जनप्रतिनिधियों ने की थी, जिस पर बदलापुर के भाजपा विधायक रमेश चंद्र मिश्र ने पिछले दिनों प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी से लखनऊ में विधानसभा सत्र के दौरान मुलाकात के दौरान की थी। हालांकि विधायक श्री मिश्र ने खुद बीएसए को भी फोन करके शासन की नीतियों पर अमल करने के लिए कहा था, कोई सुधार नहीं हुआ और जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पहुंचे तो पूर्व की सभी शिकायतें सच पाई गई।