Home उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश को मिले कोरोना काल में 47,572 करोड़ के निवेश प्रस्ताव…

उत्तर प्रदेश को मिले कोरोना काल में 47,572 करोड़ के निवेश प्रस्ताव…

लखनऊ। कोरोना काल में जब हर तरफ बेरोजगारी को लेकर आशंकाएं मजबूत होती जा रही थीं, तब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने लगातार राज्य में निवेश आकर्षित करने के लिए काम किया। उन प्रयासों का परिणाम अब सामने आ रहा है। इनवेस्ट यूपी की समीक्षा करते हुए एमएसएमई और निवेश एवं निर्यात प्रोत्साहन मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने दावा किया कि कोरोना काल में ही 47,572 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं। सभी प्रस्तावों को जमीन पर उतारने की प्रक्रिया तेज कर दी गई है।

इनवेस्ट यूपी की उपसमिति की बैठक में एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि कोविड के दौरान विभिन्न देशों के राजदूतों और उच्चायुक्तों से लगातार संपर्क बनाए रखा गया, जिसके परिणाम अब सामने आ रहे हैं। इसके तहत जो कुल 47,572 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं, उनमें घरेलू निवेशकों से 37,714 करोड़ रुपये के 33 प्रस्ताव और विदेशी निवेशकों से 9,858 करोड़ रुपये के प्रस्ताव शामिल हैं। इन्हें जमीन पर उतारने के लिए औद्योगिक विकास विभाग के विशेष सचिव मुत्थू स्वामी को नोडल अधिकारी नामित किया गया है।

ये हैं प्रमुख प्रस्ताव

  • अडानी समूह एनसीआर में 1500 करोड़ की लागत से डेटा सेंटर की स्थापना करेगा।
  • मैकमैन मेडिकल प्राइवेट लिमिटेड एनसीआर में 7400 करोड़ का निवेश करेगी।
  • कनाडा की इकाग्राटा कंपनी ग्रेन इन्फ्रास्ट्रक्चर इक्विपमेंट के लिए 746 करोड़ और मेडिकॉम ग्रुप जेवर में 1000 करोड़ का निवेश कर पीपीई किट, मास्क और ग्लव्स का प्लांट लगाएगी।
  • जर्मनी की चार कंपनियां लाट्रिक वॉन वेलेक्टस इंडिया लिमिटेड फुटवियर, स्विंग स्टेटर इंडिया लिमिटेट हैवी मशीनरी, जॉक टेक्नालॉजी पावर प्लांट और उप्पल्स आइटी प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड आइटी के क्षेत्र में निवेश करेगी।
  • हांगकांग की तांग-फांग कंपनी ग्रेटर नोएडा में 1000 करोड़ रुपये से सोल्डर वायर के क्षेत्र में निवेश करेगी।
  • सिंगापुर की आरबीडीसी प्राइवेट लिमिटेड नोएडा में 1500 करोड़ रुपये डेटा सेंटर की स्थापना में निवेश करेगी।
  • यूके की ट्रिनिटी नेचुरल गैस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी जेवर एयरपोर्ट के पास 1000 करोड़ रुपये लॉजिस्टिक एवं वेयरहाउसिंग में लगाएगी। करेगी।
  • यूके की ही एसोसिएटेड ब्रिटिश फूड कंपनी मध्यांचल में 375 करोड़ का निवेश करके यीस्ट और बेकरी का प्रोसेसिंग प्लांट लगाएगी।
  • हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड सुमेरपुर में डिटरजेंट उत्पादन के क्षेत्र में 700 करोड़ रुपये निवेश करेगी।
  • इंडोस्पेस कैपिटल एडवाइजर लिमिटेड 1000 करोड़ की लागत से एनसीआर में डेटा सेंटर खोलेगी।
  • अंकुर उद्योग द्वारा गोरखपुर में 351 करोड़ रुपये से स्टील प्लांट लगाया जाएगा।
  • हिंदुस्तान फूड लिमिटेड पूर्वांचल में 100 करोड़ की लागत से डेयरी प्रोसेसिंग प्लांट लगाएगी।
  • ट्रेड प्रमोशन काउंसिल ऑफ इंडिया फर्नीचर क्लस्टर के क्षेत्र में 1000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी।
  • वीके मोदी ग्रुप रामपुर में 1000 करोड़ का निवेश हाईटेक प्रीसीजन इक्विपमेंट लगाने में करेगा।