Home अंतरराष्ट्रीय ‘विफल हुआ एक चीन सिद्धांत को चुनौती देने का अमेरिकी प्रयास’

‘विफल हुआ एक चीन सिद्धांत को चुनौती देने का अमेरिकी प्रयास’

संयुक्त राष्ट्र| संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के लिए चीनी मिशन ने ट्वीट कर कहा कि एक-चीन सिद्धांत को चुनौती देने का अमेरिका का प्रयास विफल हो गया है। समाचार एजेंसी के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत केली क्राफ्ट और ताइवान की नेता साई इंग-वेन के बीच फोन पर हुई बातचीत के जवाब में, चीन के संयुक्त राष्ट्र मिशन ने बुधवार को ट्वीट किया, “संयुक्त राष्ट्र के लिए स्थायी प्रतिनिधि के रूप में केली क्राफ्ट को संयुक्त राष्ट्र चार्टर और महासभा प्रस्ताव 2758 (1971) को फिर से पढ़ना चाहिए। अमेरिका को समझना चाहिए कि एक-चीन सिद्धांत को चुनौती देने के प्रयास को कोई समर्थन नहीं मिला है और वह विफल हो गया है।”

वहीं, क्राफ्ट ने ट्विटर पर लिखा कि साई के साथ बात करना अच्छा रहा।

चीनी संयुक्त राष्ट्र मिशन ने ट्वीट किया कि चीन और अमेरिका के बीच 16 दिसंबर 1978 को जारी राजनयिक संबंधों की स्थापना पर संयुक्त विज्ञप्ति में यह स्पष्ट रूप से कहा गया है कि अमेरिका चीन सरकार को एकमात्र कानूनी सरकार के रूप में मान्यता देता है चीन के, और इस संदर्भ में, अमेरिका के लोग ताइवान के लोगों के साथ सांस्कृतिक, वाणिज्यिक और अन्य अनौपचारिक संबंध बनाए रखेंगे।

इसने कहा कि यह कदम अमेरिका द्वारा चीन के साथ की गई प्रतिबद्धता का उल्लंघन है और अमेरिकी सरकार में फिर से ईमानदारी की कमी को साबित करता है।