कश्मीर घाटी के पुंछ में आतंकियों से मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो जवान विक्रम सिंह नेगी व योगम्बर सिंह शहीद

खबरे सुने

नई टिहरी: जम्मू के पूंछ जिले के नाढ़खास में आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो जवान शहीद हो गए। शहीद टिहरी गढ़वाल के राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी और चमोली के राइफलमैन योगंबर सिंह थे। शनिवार को दोनों शहीदों का पार्थिव शरीर उनके गांव लाए जाएंगे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में आतंकी मुठभेड़ के दौरान उत्तराखंड के दो जवानों के शहीद होने पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी और योगंबर सिंह ने देश सेवा के लिए अपने प्राणों का सर्वोच्च बलिदान दिया है, जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है। मुख्यमंत्री ने दोनों शहीद जवानों के स्वजन को इस दुख की घड़ी में धैर्य रखने की कामना की है।

टिहरी के विमाण गांव निवासी 26 वर्षीय राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी के शहीद होने की खबर सुनते ही गांव में कोहराम मच गया। शुक्रवार सुबह 11 बजे पार्वती देवी को फोन पर पति विक्रम सिंह नेगी के शहीद होने की सूचना मिली। विक्रम के चाचा और ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि विक्रम पांच साल पहले सेना में भर्ती हुए थे। तीन साल पहले उनकी शादी हुई थी, उनका एक डेढ़ साल का बेटा भी है।

शहीद के माता-पिता और पत्नी गांव में ही रहते हैं। विक्रम अपने घर का इकलौता बेटा था। उनकी एक बहन है, जिसकी शादी हो चुकी है। शहादत की खबर के बाद से ही विक्रम की 95 वर्षीया दादी रुकमा देवी, मां बिरजा देवी और पत्नी पार्वती बेसुध हैैं। विक्रम इसी साल जुलाई में गांव आए थे और डेढ़ महीने की छुट्टी बिता कर गए थे। 22 अक्टूबर को विक्रम को फिर घर आना था। उनके घर में पूजा रखी गई थी, लेकिन इससे पहले ही उनके शहीद होने खबर आ गई।

चमोली जिले के ग्राम सांकरी निवासी 26 वर्षीय राइफलमैन योगंबर सिंह के शहीद होने की सूचना फोन पर मिलने के बाद से गांव में मातम छाया है।

ग्राम प्रधान आनंद सिंह भंडारी ने बताया कि योगंबर ङ्क्षसह छह साल पहले सेना में भर्ती हुए थे। जुलाई माह में ही वह छुट्टी पर घर आए थे। शुक्रवार दोपहर दो बजे सेना मुख्यालय से योगंबर सिंह के स्वजन को उनके शहीद होने की सूचना मिली। तीन साल पहले उनकी शादी कुसुम से हुई थी। उनका एक साल का बेटा अक्षित भी है। शहीद के परिवार में माता जानकी देवी, पिता वीरेंद्र सिंह के अलावा शहीद के दो छोटे भाई प्रशांत और वसुदेव के अलावा एक बहन श्रुति भी है।

टिहरी का जवान शहीद, घर मे मचा कोहराम

टिहरी नरेंद्रनगर ब्लाक के विमाण गांव निवासी सैनिक विक्रम सिंह नेगी के शहीद होने की खबर सुनने के बाद उनके परिवार और गांव में कोहराम मच गया। आज सुबह 11 बजे सेना हेड क्वार्टर से शहीद विक्रम नेगी के स्वजन को फोन आया। जिसमें उसके शहीद होने की जानकारी दी गई थी। ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि विक्रम पांच साल पहले सेना में भर्ती हुआ था। तीन साल पहले उसकी शादी हुई थी। उसका एक डेढ़ साल का बेटा भी है। शहीद के माता पिता और उसकी पत्नी का रो रोकर बुरा हाल है। शहीद की खबर आने से 95 वर्षीय दादी भी सदमे में है। इस संबंध में नरेंद्रनगर एसडीएम देवेंद्र नेगी ने बताया सैनिक के शहीद होने की सूचना मिली है, लेकिन अभी सेना की तरफ से इस संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली है। इस संबंध में जानकारी ली जा रही है।

शहीदों को दी भावभीनी श्रद्धांजलि

आतंकी हमले में जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में शहीद हुए जवानों के साथ गुवाहाटी में शहीद हुए धनौरी (रुड़की) निवासी सोनित कुमार सैनी को कांग्रेस कार्यकत्र्ताओं ने भावभीनी श्रद्धांजलि दी। गुरुवार को गांधी पार्क के समक्ष कांग्रेस अनुसूचित विभाग के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व विधायक राजकुमार के नेतृत्व में कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि दी गई। पूर्व विधायक ने कहा कि ऐसे ही वीरों की बदौलत आज देश सुरक्षित है। उत्तराखंड वीरों का प्रदेश है और जवान अपनी जान की परवाह किए बिना सीमा पर डटे रहते हैं। श्रद्धांजलि देने वालों में नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष डा. बिजेंद्र पाल, नीनू सहगल, जगदीश धीमान, अरुण शर्मा, जितेंद्र ठाकुर, प्रकाश नेगी, देवेंद्र सिंह, अर्जुन सोनकर आदि शामिल रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.