Home बिज़नेस शुरुआती कारोबार में घरेलू शेयर बाजारों में जबरदस्त उतार-चढ़ाव, 380 अंक...

शुरुआती कारोबार में घरेलू शेयर बाजारों में जबरदस्त उतार-चढ़ाव, 380 अंक से अधिक चढ़ने के बाद टूटा Sensex

नई दिल्ली। घरेलू शेयर बाजारों पर मंगलवार को शुरुआती कारोबार में जबरदस्त उतार-चढ़ाव देखने को मिला। BSE का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक Sensex मंगलवार को मामूली गिरावट के साथ खुला लेकिन उसके बाद उसमें जबरदस्त तेजी देखने को मिली और शुरुआती कारोबार में वह 384.44 अंक की बढ़त के साथ 45,938.40 अंक के स्तर पर पहुंच गया था। हालांकि, जल्द ही मुनाफावसूली के दबाव के चलते Sensex में गिरावट देखने को मिली। सुबह 09:42 बजे Sensex 313.97 अंक यानी 0.69 फीसद की गिरावट के साथ 45,239.99 अंक पर ट्रेंड कर रहा था। इसी तरह NSE Nifty पर सुबह 09:52 बजे 97 अंक यानी 0.73 फीसद की गिरावट के साथ 13,231.40 अंक के स्तर पर ट्रेडिंग हो रही थी।

सुबह 09:42 बजे Sensex पर Bajaj Finance के शेयर सबसे ज्यादा 2.97 फीसद तक टूट गए। इसके अलावा ओएनजीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, महिंद्रा एंड महिंद्रा, इंडसइंड बैंक और आईटीसी के शेयर भी दो फीसद से ज्यादा टूट गए थे। इनके अलावा बजाज फिनजर्व, एसबीआई, डॉक्टर रेड्डीज, सन फार्मा, लार्सन एंड टुब्रो, बजाज ऑटो, मारुति, टाइटन, एक्सिस बैंक, एशियन पेंट, नेस्ले इंडिया, अल्ट्राटेक सीमेंट, कोटक महिंद्रा बैंक, भारती एयरटेल, आईसीआईसीआई बैंक, हिन्दुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड और टेक महिंद्रा के शेयर लाल निशान में थे। दूसरी ओर, एचसीएल टेक, पावरग्रिड, टीसीएस, एचडीएफसी, इन्फोसिस, एनटीपीसी और एचडीएफसी बैंक के शेयर हरे निशान में थे।

इससे पिछले सत्र में Sensex 1,406.73 अंक यानी 3 फीसद लुढ़ककर 45,553.96 अंक के स्तर पर बंद हुआ था। यह इस साल चार मई के बाद की सबसे बड़ी गिरावट थी। NSE Nifty भी 432.15 अंक यानी 3.14 फीसद टूटकर 13,328.40 अंक के स्तर पर बंद हुआ था।

शेयर बाजार के अस्थायी आंकड़ों के मुताबिक विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (FPIs) सोमवार को शुद्ध आधार पर बिकवाल रहे क्योंकि उन्होंने शुद्ध आधार पर उन्होंने 323.55 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री की।

समाचार एजेंसी एक रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस सिक्योरिटीज में प्रमुख (स्ट्रेटेजी) बिनोद मोदी ने कहा कि कमजोर वैश्विक संकेतों के बावजूद घरेलू शेयर बाजार सुदृढ़ स्थिति में नजर आ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि घरेलू बाजार में सोमवार को जबरदस्त बिकवाली आश्चर्यजनक नहीं थी क्योंकि पिछले दो माह में निफ्टी में 16 फीसद से ज्यादा की तेजी देखने को मिली थी और इसने कई वैश्विक बाजारों को पीछे छोड़ दिया था।