20 मीटर ऊंचाई से भू-स्खलन होने पर घर में मलबा घुसने से मां-बेटे की दर्दनाक मौत

खबरे सुने

भू-स्खलन से चम्पावत के सेलाखोला गांव में एक मकान और कच्ची रसोई में बड़ी मात्रा में मलबा घुसा गया। हादसे में मां और बेटे की मौत हो गई। पुलिस ने दोनों शवों का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। मकान के पीछे करीब 20 मीटर ऊंचाई से भारी मात्रा में गिरे मलबे के कारण ये हादसा हुआ। एसडीआरएफ, पुलिस, एसएसबी और ग्रिफ के जवानों ने कड़ी मशक्कत के बाद दोनों शवों को बाहर निकाला।

कोतवाल शांति कुमार ने बताया कि सोमवार को भारी बारिश की वजह से दोपहर साढ़े 11-12 बजे के बीच सेलाखोला गांव में एक मकान और उससे लगी कच्ची रसोई में बड़ी मात्रा में ऊपर पहाड़ी से मलबा और पत्थर घुस गए। घटना की जानकारी भाजपा नगर अध्यक्ष कैलाश अधिकारी, विनोद और मोहन चंद्र ने प्रशासन को दी।

कोतवाल ने बताया कि हादसे में कलावती देवी (48) पत्नी आनंद सिंह मौनी और राहुल सिंह मौनी (17) पुत्र आनंद सिंह मौनी की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि कड़ी मशक्कत के बाद कलावती देवी का शव कच्ची रसोई से और राहुल का शव मकान के अंदर से बरामद किया गया। कोतवाल ने बताया कि करीब 20 मीटर ऊंचाई से बड़ी मात्रा में मलबा और पत्थर गिरने से मकान की दीवारें क्षतिग्रस्त हो गई।

जबकि कच्ची रसोई पूरी तरह से नेस्तानाबूत हो गई। मकान के अंदर करीब डेढ़ मीटर ऊंचाई तक मलबा जमा हो गया। इससे घर के अंदर रखा पूरा सामान नष्ट हो गया। आनंद सिंह मौनी मजदूरी कर के परिवार का भरण पोषण करते हैं। घटना के वक्त आनंद दूध बेचने बाजार गए हुए थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.