Home उत्तराखंड जागरूक किया फेरी व्‍यवसाइयों को आत्मनिर्भर बनाने और डिजिटल लेनदेन के लिए

जागरूक किया फेरी व्‍यवसाइयों को आत्मनिर्भर बनाने और डिजिटल लेनदेन के लिए

ऋषिकेश। अवास और शहरी विकास मंत्रालय भारत सरकार के निर्देश पर नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती-ढालवाला के फेरी व्‍यवसाइयों को पीएम स्वनिधि योजना (मैं भी डिजिटल) के तहत आत्मनिर्भर बनाने और डिजिटल लेनदेन के प्रति जागरुक किया गया।

नगर पालिका सभागार में सोमवार को आयोजित पीएम स्वनिधि योजना के तहत प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। इसे संबोधित करते हुए पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी ने कहा कि आधुनिक युग में डिजिटल लेनदेन की जानकारी होने के बाद धोखाधड़ी जैसे मामलों से बचा जा सकता है। पीएम स्वनिधि योजना के तहत पालिका फेरी व्‍यवसाइयों का पूरा सहयोग करने में लगी है। ईओ बद्री प्रसाद भट्ट ने बताया कि पालिका क्षेत्र के अधिकांश फेरी व्यवसाइयों को पीएम स्वनिधि योजना का लाभ मिल चुका है। कहा कि कोरोना में लगे लॉकडाउन के कारण फेरी व्यावसायियों की आर्थिक स्थिति काफी कमजोर हो चुकी है।

इससे उबारने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए पीएम स्वनिधि योजना के तहत 10 हजार रुपए का ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। बताया कि पालिका क्षेत्र में 184 फेरी व्‍यवसाई हैं। इनमें 80 प्रतिशत से अधिक को ऋण उपलब्ध कराया जा चुका है। डिजिटल लेनदेन के प्रति जागरुक करने के लिए प्रत्येक फेरी व्यवसाई को बैंक, पेटीएम, गूगल-पे और भीम-पे एप आदि की ओर से बारकोड उपलब्ध कराया जाएगा।

उन्होंने बताया कि डिजिटल लेनदेन के लिए मोबाइल का बैंक में लिंक होना अति आवश्यक है। इससे फेरी व्यवसाई के खाते में लेनदेन होने पर मोबाइल पर मैसेज की सुविधा मिल सकेगी। साथ ही इस योजना के तहत फेरी व्यवसाइयों को डिजिटल लेनदेन पर 100 रुपए मासिक कैशबेक भी प्राप्त होता है। इसके बाद विभिन्न बैंको से आए प्रतिनिधियों ने फेरी व्यवसाइयों को बारकोड बांटे और मोबाइल पर डिजिटल लेनदेन करने की जानकारी दी।

मौके पर आईओबी बैंक के शाखा प्रबंधक अजिताभ, यूनियन बैंक से शशांक बिजल्वाण, एसबीआई स्वर्गाश्रम से ज्योति, पीएनबी से मनोज राणा, बैंक ऑफ इंडिया से अमित ध्यानी, सिटी मिशन मैनेजर अरविंद जोशी, नीलम उनियाल, अनिता नेगी, स्वास्थ्य लिपिक दीपक कुमार, कर अधीक्षक अनुराधा गोयल और फेरी व्यवसाई उपस्थित थे।