नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी करने वाला गिरोह गिरफ्तार; जाने कितनों को ठगा

खबरे सुने

उत्तराखंड : सेना में क्लर्क और जीडी पद के लिए युवक को फर्जी नियुक्ति पत्र देकर करोड़ों रुपये ठगने वाले गिरोह के एक सदस्य को एसटीएफ ने देहरादून से गिरफ्तार किया है. गिरोह के तीन और सदस्यों के नाम सामने आए हैं। एसटीएफ भी उसे गिरफ्तार करने की कोशिश कर रही है। एसटीएफ के मुताबिक अब तक 20 युवकों को गिरोह ने ठगा है। यह गिरोह उत्तर प्रदेश के मेरठ, मुजफ्फरनगर, बिजनौर और दिल्ली जैसी जगहों से सेना में भर्ती होने के इच्छुक युवकों को निशाना बनाता था।

एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि एसटीएफ को सूचना मिली थी कि सेना में नौकरी दिलाने के नाम पर युवकों से ठगी करने वाला गिरोह देहरादून में सक्रिय है. जिस पर एसटीएफ और आर्मी इंटेलिजेंस की टीम ने इस संबंध में जानकारी जुटाई। पता चला है कि गिरोह का एक सदस्य देहरादून में रहता है। वह खुद को सेना में लेफ्टिनेंट बताता है। मुखबिर की सूचना पर एसटीएफ को गिरोह के सदस्य के बल्लीवाला चौक के आसपास होने की सूचना मिली।

जिसके बाद एसटीएफ ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की पहचान अंकुर कुमार पुत्र सोमपाल सिंह निवासी यूनियन बैंक वाली गली, वन्यजीव संस्थान चंद्रबनी के पास के रूप में हुई है। पूछताछ में गिरोह के तीन और सदस्य धामपुर (बिजनौर) निवासी अंकित, अमरोहा निवासी गावस्कर चौहान उर्फ ​​आशु और अमरोहा निवासी निपेंद्र चौहान उर्फ ​​कंचन चौहान के नाम भी सामने आए हैं. एसटीएफ ने इनकी गिरफ्तारी के लिए टीमें भेजी हैं।

आरोपी ने खुद को बताया था कि वह सेना में लेफ्टिनेंट है।
पूछताछ में आरोपी ने बताया कि युवक को समझाने के लिए वह खुद सेना का लेफ्टिनेंट बनता था। गिरोह के अन्य सदस्य डॉक्टर आदि बनते थे। इसके बाद उसका गिरोह उत्तर प्रदेश के मेरठ, मुजफ्फरनगर, बिजनौर और दिल्ली जैसे युवाओं को अपना निशाना बनाता था, जो सेना में भर्ती होना चाहते थे। इसके बाद वह क्लर्क, जीडी में भर्ती के लिए युवकों को फर्जी नियुक्ति पत्र देकर लाखों रुपये हड़प लेता था।

अंकुर के खाते से पिछले सालों में किया डेढ़ करोड़ का बैंक लेनदेन
अंकुर के खातों की जांच के बाद, एसटीएफ ने उसके खाते से पिछले वर्षों में 1.5 करोड़ रुपये के बैंक लेनदेन का पता लगाया। एसटीएफ के मुताबिक अब तक 20 युवक ठगी करते पाए गए हैं। गिरोह ने कितने लोगों को ठगा है, इसकी जानकारी ली जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.