ये हैं वो 3 लक्षण जो कोरोना से रिकवरी के बाद लंबे समय तक दिख सकते हैं

K

नई दिल्ली। कोविड-19 संक्रमण के दौरान मरीज़ को कई तरह के लक्षणों का अनुभव होता है। इतना ही नहीं कोविड से रिकवरी के बाद कुछ ऐसे लक्षण हैं, जो लंबे समय तक परेशान करते रहते हैं। इसे लॉन्ग कोविड कहा जाता है। जिन लोगों को कोविड का हल्का या मध्यम संक्रमण होता है, उन्हें रिकवरी के बाद दो सप्ताह या फिर उससे भी कम समय तक लक्षण परेशान करते हैं।

वहीं, कुछ ऐसे भी मरीज़ हैं, जिन्हें 12 हफ्तों तक लक्षणों का अनुभव होता रहता है, इसे ही लॉन्ग कोविड यानी लंबा कोविड कहा जाता है।

कोविड से रिकवरी के बाद भी दिखते हैं लक्षण

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन द्वारा किए गए एक नए अध्ययन के अनुसार, मध्यम या गंभीर संक्रमण वाले 70 प्रतिशत रोगियों ने COVID के ठीक होने के महीनों बाद कई तरह के लक्षणों का अनुभव किया। शोध ने कुछ सबसे आम समस्याओं का सुझाव दिया, कई लोग कोविड से ठीक होने के बाद भी काफी समय तक अनुभव करते रहते हैं। आइए जानें इन लक्षणों के बारे में:

थकावट

गंभीर थकावट या कमज़ोरी कोविड-19 का एक सामान्य लक्षण रहा है। लेकिन स्टैनफोर्ड के शोधकर्ताओं के अनुसार, यह लक्षण उन लोगों को भी परेशान करता है, जो बीमारी से उबर चुके हैं। कोविड-19 संक्रमण होने पर शरीर का इम्यून सिस्टम थक जाता है, जिसकी वजह से लंबे समय तक थकान महसूस होती रहती है।

भ्रम

ब्रेन फॉग यानी भ्रम एक ऐसा लक्षण है जो कोविड संक्रमण में बेहद आम है। ब्रेन फॉग लोगों के लिए ध्यान केंद्रित करना बेहद मुश्किल बना देता है।

सांस लेने में कठिनाई

सांस लेने में तकलीफ कोविड का एक महत्वपूर्ण लक्षण है, जो इस बात का संकेत हो सकता है कि शरीर में ऑक्सीजन का स्तर सकम हो गया है या अत्यधिक थकान। अगर आप आराम से सांस नहीं ले पा रहे हैं, तो इसका समय से इलाज न होने पर सीने में दर्द भी शुरू हो सकता है।

Share this story