कार्यकर्ताओं ने लगाए गंभीर आरोप

राज्य मंत्री बृजेश सिंह और विधायक राजीव कुमार के खिलाफ जमकर नारेबाजी

कार्यकर्ताओं ने दोनों नेताओं पर लगाए गंभीर आरोप

हंगामा के चलते बीच में ही रोकनी पड़ी बैठक

लखनऊ,गुरुवार 20 जून
सहारनपुर लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद भाजपा में विरोध के श्वर फूटने लगे हैं। गुरुवार को सहारनपुर में भाजपा लोकसभा चुनाव की समीक्षा बैठक में जमकर हंगामा हो गया। कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी करते हुए पार्टी के विधायक और मंत्री पर साजिश के तहत चुनाव हारने का आरोप लगाया है। हंगामा के चलते बैठक को बीच में ही रोक दिया गया। इसके बाद एक-एक पदाधिकारी को अंदर बुलाया गया और चुनाव की समीक्षा की गई।
सहारनपुर सर्किट हाउस में गुरुवार को लोकसभा चुनाव की समीक्षा बैठक में पहुंचे प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला के सामने भाजपा कार्यकर्ताओं का गुस्सा फूट पड़ा। कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया नानौता महापंचायत के बाद सहारनपुर में भाजपा विरोधी माहौल तैयार किया गया। महापंचायत करने में भी कुछ भाजपा के नेता और मंत्री शामिल रहे। जिसके चलते लोकसभा चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा है। कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि महापंचायत को भाजपा के मंत्री और कुछ नेताओं ने फंडिंग की है। वह नहीं चाहते थे कि सहारनपुर में बीजेपी जीत सके। इतना ही नहीं कार्यकर्ताओं ने विधायक राजीव गुंबर के खिलाफ भी मोर्चा खोल दिया और आरोप लगाया कि विधायक राजीव गुंबर द्वारा चुनाव हराने में पूरी ताकत झोंक दी। इतना ही नहीं मात्र 50% हिंदू पोलिंग हुआ। चुनाव के लिए आई सामग्री को कार्यकर्ताओं के बीच नहीं बांटा गया। जिस पार्टी को करोड़ों रुपए का भारी नुकसान हुआ है। इसी बीच कार्यकर्ताओं ने राज्य मंत्री बृजेश सिंह और विधायक राजीव गुंबर के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी ने कार्यकर्ताओं को शांत कराया। लेकिन इसी दौरान जब पूर्व जिला पंचायत सदस्य शशि त्यागी देवबंद विधानसभा को लेकर अपनी बात रख रही थी तो इसी दौरान वहां पहुंचे राज्य मंत्री बृजेश सिंह के समर्थकों की और पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच जमकर नोक झोक और गाली गलौज हो गई। जिसके चलते हंगामा ज्यादा बढ़ गया और बैठक को बीच में ही रोकना पड़ा। इतना ही नहीं बैठक से जिला अध्यक्ष और महानगर अध्यक्ष भी दूर रहे।‌ इसके बाद समीक्षा करने पहुंचे गोविंद नारायण शुक्ला ने एक-एक पार्टी पदाधिकारी को अंदर बुलाया और उनका पक्ष जाना। गोविंद नारायण शुक्ला ने बताया कार्यकर्ताओं से फीडबैक ले लिया गया है हाई कमान को रिपोर्ट भेजी जाएगी।

गुरुवार को नगर के सर्किट हाउस में लोकसभा में मिली हार की समीक्षा करने पहुंचे प्रदेश महामंत्री एमएलसी गोविंद नारायण शुक्ला तो कार्यकर्ताओं के बीच पहुंचे और एक-एक पदाधिकारी से बात। की और सुनी, तो दूसरी और पर्यवेक्षक के रूप में दूसरे नेता उन्नाव से विधायक आशुतोष सिंह कार्यकर्ताओं के बीच नहीं आए वह अंदर ही बैठे रहे। जिसको लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं। इतना ही नहीं पार्टी के जनप्रतिनिधि और अन्य नेता भी बैठक से नदारद रहे।

भाजपा कार्यकर्ताओं में हुई गाली गलौज जमकर हंगामा

सर्किट हाउस में समीक्षा बैठक के दौरान राज्य मंत्री बृजेश सिंह और भाजपा कार्यकर्ता उस उसे समय आमने-सामने आ गए जब देवबंद से पूर्व जिला पंचायत सदस्य शशि त्यागी अपना पक्ष रख रही थी। जिसके चलते वहां हंगामा हो गया और कार्यकर्ता एक दूसरे के साथ गाली गलौज करने लगे। हंगामें और बिगड़ती स्थिति को देख समीक्षा करने पहुंचे भाजपा के प्रदेश महामंत्री उठकर कमरे में चले गए।

प्रशासनिक अधिकारियों पर भी लगाए गए गंभीर आरोप

समीक्षा बैठक के दौरान जहां एक और कार्यकर्ता पार्टी के नेता और मंत्री के खिलाफ भी जमकर जहर उगल रहे थे, तो वही पार्टी कार्यकर्ताओं का गुस्सा प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ भी फूट पड़ा। अधिकारियों पर आरोप लगाया कि सहारनपुर के अधिकारियों द्वारा साजिश के तहत पार्टी और आरएसएस से जुड़े कार्यकर्ताओं को लाल कार्ड दिए गए। कई स्थानों पर भाजपा का वोट भी नहीं डालने दिया गया।

वर्जन…..

पार्टी पर्यवेक्षकों के सामने अपना पक्ष हमने रख दिया है। कुछ स्थानों पर कम मतदान हुआ इसके संबंध में रिपोर्ट दी गई है।

राहुल लखनपाल शर्मा, पूर्व राष्ट्रीय सचिव युवा मोर्चा भाजपा।
..……..

कार्यकर्ताओं से फीड बैक लिया जा रहा है। फीडबैक के आधार पर प्रदेश संगठन को रिपोर्ट भेजी जाएगी।

गोविंद नारायण शुक्ला, पर्यवेक्षक सहारनपुर लोकसभा।

"
""
""
""
""
"

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ये भी पढ़ें