Home उत्तर प्रदेश राजेश पायलट युवा कल्याण केंद्र पर आयोजित कार्यक्रम में गुर्जर समाज की...

राजेश पायलट युवा कल्याण केंद्र पर आयोजित कार्यक्रम में गुर्जर समाज की प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया।

राजसत्ता पोस्ट

मुज़फ्फरनगर
स्वामी कल्याण देव राजेश पायलट युवा कल्याण केंद्र रामपुर तिराहा मुज़फ्फरनगर द्वारा आज दिनाँक 22 नवंबर 2020 को प्रतिभा सम्मान समारोह का भव्य आयोजन किया गया।
राजेश पायलट युवा कल्याण केंद्र पर आयोजित कार्यक्रम में गुर्जर समाज की प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ओंकार सिंह,सयुक्त सचिव गृह विभाग, उत्तराखंड सरकार रहे, सभा की अध्यक्षता अशोक पंवार जी ने की। कार्यक्रम में 60 से अधिक प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ कलमसिंह व् रामपाल सिंह ने किया। कार्यक्रम में पुष्पेंद्र,
ओ पी चौहान, मदनपाल सिंह, सुरेश, बालकराम, सत्यपाल, संदीप, डॉ बीपी सिंह आदि का सहयोग रहा।
समारोह को संबोधित करते हुए ओंकार सिंह जी ने कहा कि जाति की प्रतिभाओं का सम्मान करने से नवीन प्रतिभाओं को प्रेरणा मिलती है और अभिभावकों को अपने बच्चों को शिक्षा की ओर बढ़ाने का उत्साह मिलता है। अशोक जी ने घोषणा की कि समाज का कोई भी बच्चा यदि आगे बढ़ना चाहता है तो हम प्राणप्रण से उसकी सहायता करेंगे ।
कार्यक्रम में बोलते हुए संस्था के सचिव पुष्पेंद्र कुमार ने कहा कि इस छात्रावास ने इस समाज को कई प्रतिभाएं दी हैं । हम अपनी भावी पीढ़ी को आश्वस्त कर देना चाहते हैं कि उनके विकास के रास्ते में आने वाली रुकावटों को दूर करना हमारा काम है और आगे बढ़ना उनका काम है।

प्रोफेसर रामपाल सिंह ने कहा कि गुर्जर समाज का इतिहास स्वर्णिम रहा है गुर्जर समाज मे सम्राट मिहिरभोज, सम्राट कनिष्क, सम्राट मिहिरकुल हूण जैसे अनेको महान सम्राट पैदा हुए है हमारे युवाओं को अपने इतिहास से प्रेरणा लेकर अपना भविष्य उज्जवल करना चाहिए।
ओ पी चौहान ने अपने वक्तव्य में कहा कि समाज के युवाओं को समाज से संबंधित जितनी भी गतिविधिया जिला स्तर पर या गांव स्तर पर होती है उनमें बढ़ चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए तथा पढ़ लिखकर सिविल सेवा की नौकरियों में अपनी हिस्सेदारी बढ़ानी चाहिए।
समारोह को कालूराम जी, बालकराम जी मनोज कुमार मदनपाल जी आदि ने संबोधित किया।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से अमित, वेदपाल गुर्जर, अजय कुमार, देवीसिंह, जयपाल सिंह, महाराज सिंह आदि लोग उपस्थित रहे।