11 कक्षा के छात्र की हत्या का खुला राज, जानकार हो जायेंगे हैरान

खबरे सुने

रुड़की। 11वीं के छात्र की हत्या का पुलिस ने पर्दाफाश कर दया है। हत्या के दो आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें एक नाबालिग है। पूछताछ में उन्होंने बताया कि छात्र उसकी बहन को पंसद करता था। ये बात उनको नागवार गुजरी और इसलिए उसकी गोली मारकर हत्या कर दी।

कोतवाली सिविल लाइंस में घटना का पटाक्षेप करते हुए डीआइजी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि लहबोली गांव निवासी 18 वर्षीय मंजीत कक्षा 11 का छात्र था। वो 22 अक्टूबर से लापता था। छात्र का शव 23 अक्टूबर की शाम को मखदुमपुर में मिला। उसकी दो बार गोली मारकर हत्या की गई थी। मृतक छात्र के पिता अशोक की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले के जांच शुरू की गई।

सीआइयू और पुलिस टीम का गठन किया गया। सर्विलांस और सीसीटीवी के आधार पर आरोपितों की तलाश शुरू की तो सीसीटीवी में देखा गया कि छात्र राजसिंह उर्फ मनजीत अपने दोस्त के साथ मोटरसाइकिल पर बैठकर रनसूरा की तरफ जाता हुआ दिखाई दे रहा है। इस पर 26 अक्टूबर को दोस्त अंशुल को गिरफ्तार किया। पूछताछ करने पर उसने बताया कि 12 अक्टूबर को उसका जन्मदिन था, जिसमें उसने सभी दोस्तों को बुलाया था। इसमें राज सिंह उर्फ मनजीत भी उसके घर आया था, जो उसकी बुआ की लड़की के पीछे पड़ा हुआ था और 15 अक्टूबर की रात से नशा करने के बाद मनजीत ने बताया कि उसे अंशुल की बहन अच्छी लगती है। अंशुल ने बताया कि उसे यह बात चुभ गई और उसने हत्या मनजीत की हत्या कर की योजना बनाई।

22 अक्टूबर को मनजीत को बहाना बनाकर अपने साथ ले गया और सढोली चलने को कहा। मखदुमपुर में ट्रांसफार्मर के पास चकरोड पर चलकर सिगरेट पीने के लिए कहा। मनजीत ने सिगरेट निकाली ही थी कि अंशुल ने उसपर फायर कर दिया। घटना को अंजाम देने के बाद उसने तमंचा अपने नाबालिग दोस्त को दे दिया। पुलिस टीम में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक प्रवीण सिंह कोश्यारी, वरिष्ठ उप निरीक्षक रफत अली, सीआयु प्रभारी जहांगीर अली, उप निरीक्षक एनके बचकोटि, थानाध्यक्ष झबरेड़ा विनोद थपलियाल आदि शामिल रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.