Home उत्तराखंड पर्यटकों की तादाद कोरोना काल में बढ़ी, पांच माह में कॉर्बेट नेशन...

पर्यटकों की तादाद कोरोना काल में बढ़ी, पांच माह में कॉर्बेट नेशन पार्क को इतनी आय

रामनगर : उत्‍तराखंड के खूबसूरत पर्यटन स्‍थलों में एक कॉर्बेट नेशनल पार्क पर्यटकों के आकर्षण का बड़ा केन्‍द्र है। अमूमन हर सीजन में यहां बुकिंग फुल होती है। पिछले साल कोरोना लॉकडाउन के कारण सीटीआर को भी सैलानियों के लिए बंद कर दिया गया था। लेकिन पार्क लाकडाउन के बाद जैसे ही खुला सैलानियों की भीड़ उमड़ पड़ी। बाघ, तेंदुआ, हाथी, हिरन के दीदार के लिए पर्यटकों का अब भी निरंतर आना जारी है।

अब तक सात करोड़ हुई आय

लॉकडाउन खत्म होने के बाद कॉर्बेट पार्क में देशी-विदेशी पर्यटकों की संख्या में अच्छा खासा इजाफा हुआ है। यही वजह है कि मौजूदा वित्तीय वर्ष में कॉर्बेट पार्क को फरवरी तक पर्यटकों से 7.25 करोड़ रुपये की आय हो गई। अभी कार्बेट में साढ़े तीन यानी 15 जून तक नाइट स्टे खुला है। ऐसे में पर्यटन सत्र की समाप्ति तक दस करोड़ रुपये से अधिक की आय कार्बेट को होने की उम्मीद है।

पर्यटन सीजन खत्‍म होने तक दस करोड़ आय की उम्‍मीद 

कार्बेट पार्क रात्रि विश्राम के लिए पिछले साल 15 नवंबर को पर्यटकों के लिए खोला गया था। जबकि बिजरानी व दुर्गादेवी पर्यटन जोर एक अक्टूबर से खोला गया था। नवंबर से अब तक कार्बेट पार्क में काफी संख्या में पर्यटक सफारी व रात्रि विश्राम के लिए पहुंचे। पार्क प्रशासन से मिले आंकड़ों के मुताबिक फरवरी तक कार्बेट में 1.65 लाख पर्यटक पहुंचे हैं। इनसे विभाग को 7.25 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। पिछले वित्तीय वर्ष 2019-20 में विभाग को 10.40 करोड़ रुपये का राजस्व पर्यटकों से मिला था।

गिरिजा जोन से करोड़ प्रतिवर्ष राजस्‍व की उम्‍मीद 

पिछले साल ही नया गिरिजा पर्यटन जोन भी खोला गया है। विभाग को इस नये जोन से एक करोड़ रुपये प्रतिवर्ष राजस्व मिलने की उम्मीद है। कार्बेट पार्क में वर्तमान में 350 जिप्सी मालिक, चालक के अलावा डेढ़ सौ नेचर गाइडों को रोजगार मिला हुआ है। कार्बेट पार्क के वार्डन आरके तिवारी ने बताया कि कोरोना के खतरे के बीच मौजूदा साल में पर्यटकों का अच्छा रिस्पांस है। मार्च माह में ढिकाला में नाइट स्टे की बुकिंग फुल हो चुकी है।