The mystery: अलीगढ़ के मदरसे में बंधक बच्चों का रहस्य अभी बरकरार

खबरे सुने

The mystery: अलीगढ़ के सासनी गेट थाना क्षेत्र के लडिया इलाके में तालीम उल कुरान नाम से मस्जिद में संचालित अवैध मदरसे में 13 साल के मासूम को जंजीरों से बांधकर पिटाई करने के मामले में पुलिस ने मौलाना फहीम उद्दीन पुत्र अब्दुल शकूर निवासी मोहल्ला लडिय़ा सराय भट्ट, सासनीगेट और बंधक बनाए बच्चे के पिता शहजाद पुत्र मोहम्मद अब्दुल्ला खां निवासी इस्लाम नगर, जमालपुर, क्वार्सी को गिरफ्तार कर मंगलवार को जेल भेज दिया।

इन दोनों पर एसआई विनोद की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया। बच्चे के पिता पर आरोप है कि बच्चे के दो बार मदरसे से भागने पर खुद उसने ही अपने बच्चे को बंधक बनाने के लिए मौलाना से कहा था। इधर, वीडियो वायरल करने के आरोपी वसीम व अन्य लोगों के साथ अवैध मदरसा के समर्थकों ने मंगलवार को हमला कर दिया। सूचना पर पुलिस के पहुंचने से पहले ही हमलावर फरार हो गए।

बता दें कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल होने पर मामला प्रकाश में आया था। सोमवार को इस वीडियो के इंटरनेट पर वायरल होने के बाद पुलिस और अल्पसंख्यक विभाग हरकत में आया। मौके पर पहुंची पुलिस ने मासूम को छुड़वाया था और मौलाना को हिरासत में लिया था।

सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह ने मौलाना व बच्चे के पिता पर मुकदमे व उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजे जाने की पुष्टि की। इधर, जिला अल्पसंख्यक अधिकारी स्मिता सिंह ने बताया कि मदरसे का कोई भी रिकॉर्ड विभाग के पोर्टल पर नहीं है। यह अवैध है। इसके खिलाफ व अन्य ऐसे अवैध मदरसों के खिलाफ शासन को पत्र लिखा गया है। वहां से दिशा-निर्देश मिलते ही आगे कार्रवाई की जाएगी।

The mystery: मदरसे के खिलाफ भेजी रिपोर्ट

मौलवी के गिरफ्तार होने के बाद अन्य बच्चों के स्वजन भी चिंतित हैं। हालांकि यहां पढ़ाई तो जारी है। लेकिन, पुलिस ने मदरसे के खिलाफ रिपोर्ट बनाकर प्रभारी जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी स्मिता सिंह को भेजी है। इस संबंध में स्मिता सिंह ने बताया कि मदरसा अल्पसंख्यक विभाग में पंजीकृत नहीं है। इसका संबंध आगरा की किसी सोसाइटी से है। ऐसे में संचालक को नोटिस जारी किया गया है। जवाब आने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.