Home उत्तर प्रदेश राज्यपाल ने पत्रिका शब्दिता के विशेषांक का विमोचन किया

राज्यपाल ने पत्रिका शब्दिता के विशेषांक का विमोचन किया

 

राजसत्ता पोस्ट

 

——-

राज्यपाल ने पत्रिका शब्दिता के विशेषांक का विमोचन किया

—–

नयी शिक्षा नीति पर भी विशेषांक निकालें – राज्यपाल

—–

लखनऊ: 18 अक्टूबर, 2020

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने साहित्यकार आचार्य चन्द्र प्रकाश सिंह के 111वें जन्मदिवस के अवसर पर पत्रिका ‘शब्दिता’ के विशेषांक ‘ऋषि परम्परा के महाकवि’ का आज राजभवन में विमोचन किया। इस अवसर पर अपर महा-साॅलिसिटर भारत सरकार श्री शशि प्रकाश सिंह, संपादक डाॅ0 रामकठिन सिंह सहित अन्य लोग भी उपस्थित थे।

राज्यपाल ने कहा कि आचार्य चन्द्र प्रकाश सिंह ने साहित्य की जो सेवा की है वह अनुपम है। छात्र-छात्राएं उनके साहित्य को पढ़ते तथा शोध भी करते हैं। आचार्य के कार्य को आगे बढ़ाने की जरूरत है। राज्यपाल ने कहा कि पत्रिका को नयी शिक्षा नीति पर भी विशेषांक निकालना चाहिए। बच्चों को क्या और कैसे पढ़ाना एवं सिखाना है, इस पर चर्चा होनी चाहिए। प्राइमरी, सेकेण्डरी तथा विश्वविद्यालय में शिक्षण कैसा हो, यह विचार का विषय है। उच्च शिक्षा में शोध केवल नौकरी प्राप्ति के लिये हो रहा है। चिकित्सा, समाज सेवा के क्षेत्र में भी उच्च स्तर का शोध होना चाहिए, जिससे समाज लाभान्वित हो। उन्होंने कहा कि विद्वतजन विद्यार्थियों के लिए पाठ्यक्रम एवं कंटेंट तैयार करें।

पत्रिका के सम्पादक डाॅ0 रामकठिन सिंह ने कहा कि ऋषि परम्परा की वाहक शब्दिता शुद्ध साहित्यिक पत्रिका है जिसका उद्देश्य साहित्य की कसौटी पर खरा उतरना तथा देशहित में कार्य करना है। आचार्य चन्द्र प्रकाश को जो स्थान साहित्य के क्षेत्र में मिलना चाहिए था वह नहीं मिल सका। वह बड़े साहित्यकार थे जिन्होंने शिक्षक तथा साहित्यकार के रूप में देश सेवा की तथा गुजरात के दुर्लभ ग्रंथों की खोज की। उन्होंने कहा कि आचार्य चन्द्र प्रकाश भारतीयता में विश्वास रखते थे।

इस अवसर पर श्री शशि प्रकाश सिंह ने आचार्य चन्द्र प्रकाश के जीवन पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए बताया कि आचार्य के जीवन पर सम्पूर्ण ग्रंथावली तैयारी की जा रही है।

——

ओ0पी0राय/राजभवन (49/12)
राज्यपाल ने ‘गिव विद डिग्निटी’ अभियान के राहत सामग्री वाहन को झण्डी दिखाकर रवाना किया

—–

दूसरों को खुशी देने का आनंद ही कुछ और है- राज्यपाल

—–

लखनऊ: 18 अक्टूबर, 2020

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज राजभवन से मुकुल माधव फाउण्डेशन एवं फिनोलेक्स इंडस्ट्रीज द्वारा संचालित ‘गिव विद डिग्निटी’ अभियान के तहत गरीब एवं जरूरतमंदों के सहायतार्थ वितरित की जाने वाली राहत सामग्री के वाहन को झण्डी दिखाकर रवाना किया। राहत सामग्री का यह वाहन लखनऊ के विभिन्न क्षेत्रों सहित चित्रकूट एवं बांदा जनपद में 3,000 गरीब लोगों को राशन सामग्री किट वितरित करेगा।

राज्यपाल ने कहा कि अभी नवरात्रि चल रही है और फिर दशहरा और दीपावली के पर्व आने वाले हैं। हम सभी अपने परिजनों के साथ पर्वों को खुशी एवं उल्लास से मनाते हैं, परन्तु बहुत से ऐसे भी लोग हैं जो पर्वों का आनंद नहीं ले पाते हैं। हमें अपनी खुशियों में ऐसे लोगों को शामिल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि दूसरों को खुशी देने से स्वयं को जो अनुभूति होती है उसका आनंद ही कुछ और है।

मुकुल माधव फाउण्डेशन के पदाधिकारी श्री गौरव प्रकाश ने बताया कि वर्ष 1999 में पुणे में स्थापित मुकुल माधव फाउण्डेशन स्वास्थ्य, शिक्षा, सामाजिक सेवा, जल संरक्षण एवं स्वच्छता के लिये पूरे देश में कार्य कर रही है। फिनोलेक्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अधिकृत सी0एस0आर0 के रूप में संस्था द्वारा कार्य किया जा रहा है। मुकुल माधव फाउण्डेशन द्वारा ‘गिव विथ डिग्निटी’ अभियान के अंतर्गत दीपावली पर पूरे देश में गरीब एवं जरूरतमंद पचास हजार लोगों को राशन किट वितरित किये जाने का संकल्प लिया गया है, वहीं प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ‘वोकल फाॅर लोकल’ के विजन के तहत यह राशन उन किसानों, स्वयं सहायता समूह या छोटे उद्यमियों से खरीदा गया है जिन्होंने कोविड-19 के दौरान अपना रोजगार खोया है।

एक राहत सामग्री किट में 5-5 किलो चावल एवं आटा, 2-2 किलो दाल एवं चीनी, एक लीटर रिफाइंड आॅयल, चायपत्ती, मसाले एवं सेनेटरी पैड शामिल है। इस अवसर पर श्रीमती माधुरी हलवासिया, श्री दीपक यादव, श्री अरूण सिंह सहित अन्य लोग भी उपस्थित थे।

——

ओ0पी0राय/राजभवन (50/13)