भारत का आज पहला मुकाबला, साउथ अफ्रीका के खिलाफ चैलेंज है बड़ा तगड़ा

जॉर्ज टाउन। रिकॉर्ड चार बार की चैंपियन भारत शनिवार को अंडर-19 विश्व कप के अपने पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका से भिड़ते हुए अपने शानदार रिकॉर्ड को बनाए रखते हुए नई प्रतिभाओं की तलाश करेगी। हरनूर सिंह, राजवर्धन हंगरगेकर, कप्तान यश धूल और रवि कुमार से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जाएगी जिन्होंने अब तक पिछले टूर्नामेंटों में अपनी क्षमता साबित की है।

भारतीय टीम एशिया कप जीतकर वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया को अभ्यास मैचों में हराकर यहां पहुंची। टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे सफल टीम भारतीय टीम पिछले तीन सीजन में फाइनल में पहुंची है। दो साल पहले बांग्लादेश के खिलाफ फाइनल में हारने वाली भारतीय टीम का कोई भी खिलाड़ी सीनियर टीम में जगह नहीं बना पाया। अब देखना यह होगा कि क्या 2022 की अंडर-19 टीम में से कोई यह कमाल कर पाता है। वर्तमान टीम में पृथ्वी शॉ और शुभमन गिल (2018 बैच) की प्रतिभा की कमी है, लेकिन कुछ खिलाड़ियों ने ध्यान खींचा है।

ओपनर हरनूर से काफी उम्मीदें हैं। पिछली बार इस टूर्नामेंट में यशस्वी जायसवाल ने काफी रन बनाए थे। हरनूर ने एशिया कप में पांच मैचों में 251 रन बनाए और 11 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच में नाबाद 100 रन बनाए। तेज गेंदबाज हंगरगेकर महाराष्ट्र के लिए सीनियर क्रिकेट खेल चुके हैं। एशिया कप में, उन्होंने अपनी गति से प्रभावित किया और आठ विकेट लिए। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक और तेज गेंदबाज रवि कुमार ने चार विकेट लिए। कप्तान धूल की गिनती दिल्ली क्रिकेट के सबसे प्रतिभाशाली बल्लेबाजों में होती है। वह एशिया कप में कोई कमाल नहीं कर सके लेकिन यहां दोनों अभ्यास मैचों में अर्धशतक जड़े। ऑलराउंडर राज बावा मध्यम गति के तेज गेंदबाज और बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं जो टीम के बहुत उपयोगी सदस्य हैं।

हेड कोच हृषिकेश कानिटकर ने कहा, ‘इस टूर्नामेंट में भारत का इतिहास शानदार रहा है लेकिन यह बीते दिनों की बात है। हमें नई टीम के साथ नए सिरे से शुरुआत करनी होगी। भारत को ग्रुप बी में दक्षिण अफ्रीका, आयरलैंड और युगांडा के साथ रखा गया है। शीर्ष दो टीमें क्वार्टर फाइनल में पहुंचेंगी। साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाला मैच इस ग्रुप का सबसे मुश्किल मैच होगा। दक्षिण अफ्रीका ने 2014 में खिताब जीता था लेकिन दो साल पहले क्वार्टर फाइनल में हार गया था। उनके पास देवाल्ड ब्रेविस जैसा ऑलराउंडर है, जिसकी तुलना एबी डिविलियर्स से की जाती है।

टीमें:

भारत: यश धूल (कप्तान), हरनूर सिंह, अंगक्रिश रघुवंशी, एसके राशिद, निशांत सिंधु, सिद्धार्थ यादव, अनिश्वर गौतम, दिनेश बाना, आराध्या यादव, राज अंगद बावा, मानव पारख, कुशल तांबे, राजवर्धन हंगरगेकर, वासु वत्स, विक्की ओस्तवाल , रवि कुमार, गर्व सांगवान।

दक्षिण अफ्रीका: जॉर्जेस वान हीर्डन (कप्तान), लियाम एल्डर, मैथ्यू बॉस्ट, डेवाल्ड ब्रेविस, माइकल कोपलैंड, एथन कनिंघम, वेलेंटाइन किटाइम, वेना माफका, गेरहार्ड मैरी, फाइव मायांडा, एंडिले सिमेलाने, जेड स्मिथ, कैडेन सोलोमन्स, जोशुआ स्टीफेंसन, असाखे ताशका।

Leave A Reply

Your email address will not be published.