तोहफे और गिफ्ट पर भी देना होता है टैक्स,वसीयत या विरासत में मिले तोहफे भी टैक्स फ्री

खबरे सुने

भारत में त्योहार, पर या शादी ब्याह , आदि के मौके पर तोहफे देना एक परंपरा है| एक-दूसरे को तोहफे दिया बिना कोई कार्य पूरे नहीं होते हैं. दोस्तों और परिवार के लोग आपको कैश, सोना, डायमंड आदि के तौर पर आपको बहुत से तोहफे देते हैं. यह जरूरी नहीं है कि आपको मिले तोहफों पर टैक्स छूट मिलती हो. अगर गिफ्ट का मूल्य 50,000 रुपये से ज्यादा है, तो आपको उस पर टैक्स का भुगतान करना होगा. 50 हजार रुपये तक के तोहफे पूरी तरह से टैक्स फ्री होते हैं, लेकिन अगर इस राशि से ज्यादा है, तो तोहफों की पूरी राशि पर टैक्स लगता है. उदाहरण के लिए, अगर आपको वित्त वर्ष के दौरान 55,000 रुपये के तोहफे मिलते हैं, तो यह पूरी राशि टैक्सेबल होगी.
इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 56(2) के तहत, 50 हजार रुपये से ज्यादा
जानिए कौन से तोहफे टैक्स फ्री और किनपर देना होगा टैक्स , वसीयत या विरासत में मिले तोहफे भी टैक्स फ्री होते हैं. या नहीं ऐसे बहोत से सवाल जो आप के मन में आते है आइये जाने उनके जवाब, 50 हजार रुपये तक के तोहफे पूरी तरह से टैक्स फ्री होते हैं, लेकिन अगर इस राशि से ज्यादा है, तो तोहफों की पूरी राशि पर टैक्स लगता है. उदाहरण के लिए, अगर आपको वित्त वर्ष के दौरान 55,000 रुपये के तोहफे मिलते हैं, तो यह पूरी राशि टैक्सेबल होगी.के तोहफे होने पर, कुल तोहफों पर टैक्स लगता है. 50,000 रुपये की सीमा वित्त वर्ष के दौरान मिले तोहफों की कुल राशि पर लागू होती है. गिफ्ट पर टैक्स साल के दौरान मिले तोहफों के कुल मूल्य के आधार पर तय होता है. यह एक किसी तोहफे के आधार पर तय नहीं होता. अगर कुल वैल्यू 50,000 रुपये से ज्यादा है, तो ऐसे तोहफों की कुल वैल्यू पर टैक्स लगेगा.रिश्तेदारों से मिले तोहफों पर टैक्स छूट मिलती है. आईटी एक्ट के तहत, इन लोगों को रिश्तेदार माना जाएगा- जीवनसाथी, भाई या बहन, जीवनसाथी का भाई या बहन, किसी भी माता-पिता का भाई या बहन आदि. दोस्त रिश्तेदार के अंदर नहीं आते हैं और उनके द्वारा मिले किसी भी तोहफे पर टैक्स लगेगा.

इसके अलावा शादी के समय मिले तोहफों पर टैक्स से छूट मिलती है. लेकिन, जन्मदिन, सालगिरह आदि पर मिले तोहफों पर टैक्स लिया जाएगा. वसीयत या विरासत में मिले तोहफे भी टैक्स फ्री होते हैं. तोहफे के तौर पर मिली अचल संपत्ति  अचल संपत्ति की स्टैम्प ड्यूटी पर टैक्स लगता है, अगर स्टैम्प ड्यूटी की वैल्यू उस अचल संपत्ति की विचार की गई वैल्यू से कम से कम 50 हजार रुपये ज्यादा है.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.