Browsing Tag

सी

स्वर्ग सी धरती

हम जो होते हैं हम वही होते हैं क्यों बेवजह आडंबर का आवरण ओढ़कर दुनिया को भ्रमित करते हैं... दुनिया छली नहीं छली दुनिया को बनाता है मानव जिंदगी जीने के लिए ना जाने कैसे-कैसे ढोंग रचता है मानव... जानवरों में सबसे शीर्ष कहलाता है…