Sri Lankan Navy ने 55 Indian मछुआरों को पकड़ा, तमिलनाडु के CM ने केंद्र से मांगी मदद

खबरे सुने

मिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन (Tamil Nadu Chief Minister MK Stalin) ने रविवार को विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर (Foreign Minister Dr S Jaishankar) को पिछले 24 घंटों में श्रीलंकाई नौसेना (Sri Lankan Navy) की ओर से 55 तमिलनाडु मछुआरों की गिरफ्तारी की 2 घटनाओं में हस्तक्षेप करने के लिए पत्र लिखा. पत्र में मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने विदेश मंत्री से श्रीलंका की हिरासत में 55 भारतीय मछुआरों और 73 मछली पकड़ने वाली नौकाओं की तत्काल रिहाई के लिए अनुरोध किया है.

इससे पहले शनिवार को श्रीलंकाई नौसेना की ओर से तमिलनाडु के मछुआरों को गिरफ्तार करने पर रामेश्वरम के मछुआरा एसोसिएशन ने उनकी तत्काल रिहाई की मांग करते हुए सोमवार को प्रदर्शन करने और अनिश्चितकालीन धरना करने की भी घोषणा की. मत्स्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मछुआरे 500 से अधिक नौकाओं में सवार होकर 18 दिसंबर को यहां से रवाना हुए थे और वो कच्चातीवू द्वीप के पास मछलियां पकड़ रहे थे कि तभी मछुआरों को गिरफ्तार कर लिया गया और नौकाएं भी जब्त कर ली गईं.

मछुआरा एसोसिएशन के एक नेता और प्राधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद मछुआरों को श्रीलंका के कांगेसानतुरई शिविर ले जाया गया. रामनाथपुरम से सांसद के नवसकणि ने केंद्रीय मंत्रियों से बात की और मछुआरों एवं उनकी नौकाओं को छुड़ाने के लिए तत्काल कदम उठाने का आग्रह किया.

अक्टूबर महीने में सीएम स्टालिन ने पीएम मोदी को लिखा था पत्र

इससे पहले अक्टूबर महीने में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर राज्य के 23 मछुआरों की रिहाई सुनिश्चित करने में हस्तक्षेप की मांग की थी. सीएम स्टालिन ने पीएम मोदी को लिखे अपने पत्र में श्रीलंकाई प्राधिकरण की ओर से मछुआरों की गिरफ्तारी की बार-बार होने वाली घटनाओं पर चिंता व्यक्त की और पीएम मोदी से इस मामले का स्थाई समाधान निकालने का आग्रह किया था.

वहीं अगस्त महीने में तमिलनाडु के मंडपम के मछुआरों के एक समूह ने श्रीलंकाई नौसेना पर उनकी नाव पर पत्थरों से हमला करने का आरोप लगाया था. कथित घटना दोनों देशों के बीच पाक जलडमरूमध्य में श्रीलंका के नेदुन्थीवु और भारत के रामेश्वरम के बीच स्थित एक कच्छथीवु द्वीप के पास हुई. रामेश्वरम के जयपॉल के रूप में पहचाने जाने वाले एक मछुआरे को कथित श्रीलंकाई हमले के परिणामस्वरूप चोटें भी आईं थी. श्रीलंकाई नौसेना के जवानों ने उन पर कथित रूप से गोली चला दी. हालांकि इस घटना में वो बाल-बाल बच गए.

Leave A Reply

Your email address will not be published.