मेरठ के होनहार बनाया हादसों से जान बचाने के लिए स्पेशल चश्मा ।

खबरे सुने

मेरठ (उत्तर प्रदेश). देश रोजाना हो रहे सैंकड़ों एक्सीडेंट और उनमे हज़ारों लोगों की मौत सिर्फ सड़क हादसों की वजह से हो जाती है। लाख कोशिशों के बावजूद सरकार और प्रशासन के कई प्रयास करने के बाद हादसों में कोई कमी नहीं आ रही है।
जितनी अच्छी सड़क होती है एक्सीडेंट उतने ही ज्यादा हो रहे हैं। लेकिन उत्तर प्रदेश के मेरठ के एक नौजवान युवक ने ऐसा कमाल किया है, जिसकी चर्चा हर तरफ हो रही है। क्योंकि युवक ने ऐसा चश्मा बनाया है, जिसे लगाने से एक्सीडेंट होने से बचाव होगा। आइए जानते हैं इस खास चश्में के बारे में…
दरअसल, हादसों से जान बचाने के लिए स्पेशल चश्मा बनाने वाले इस होनहार युवक का नाम सचिन कुमार है। जो कि मूल रूप से मेरठ के रहने वाले हैं। सचिन मेरठ में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) के छात्र हैं।

सचिन ने बताया कि ज्यादातर एक्सीडेंट वाहन चालक की झपकी या नींद लगने की वजह से होते हैं। इसलिए मैंने ऐसा खास चश्मा बनाया है जो ड्राइवर को नींद आने की हालत में कान के पास अलार्म बजेगा जिससे चालक की नींद खुल जाएगी और हादसा होने से बच जाएगा।

बता दें कि सचिन के अनुसार इस खास चश्मे को बनाने के लिए उसमें नैनो डिवाइस, एडवांस माइक्रो कंट्रोलर, इंफ्रा रे सेंसर, एक छोटा बजर और बैट्री का इस्तेमाल किया गया है। जिसके कारण तीन सेकेंड के लिए अगर चालक को वाहन चलाते वक्त झपकी आती है तो चश्मे में लगा सेंसर एक्टिव हो जाता है। फिर चश्मे में लगा बजर कान के पास बजने लगता है। इसके बाद ड्राइवर की नींद टूट जाती है।

सचिन का कहना है कि अभी मैंने इस चश्मे का पेटेंट नहीं कराया है। जल्द ही इसे पेटेंट कराऊंगा। खास बात यह है कि यह चश्मा चार पहिया वाहन चालकों के लिए है। अभी इसमें और भी कई चीजों पर काम करना बाकी है, जिसे जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.