Home उत्तर प्रदेश सपा देगी बंगाल में ममता बनर्जी को समर्थन, अखिलेश यादव ने की...

सपा देगी बंगाल में ममता बनर्जी को समर्थन, अखिलेश यादव ने की घोषणा

आगमगढ़। बिहार के विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनता दल को समर्थन देने के बाद अब समाजवादी पार्टी ने पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस को समर्थन देने का फैसला किया है। अपने संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ के दो दिन के दौरे पर पहुंचे समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मीडिया से दावा किया कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी 2022 में सरकार बनाएगी। 2022 में हम छोटे दलों के साथ गठबंधन करेंगे और सबको साथ लेकर चलेंगे।

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनना तय है। उन्होंने कहा कि हमारे सभी काम का भाजपा ने उद्घाटन किया है। अब तो हमारा समय आने वाला है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में भी भाजपा ने नफरत फैलाने का काम शुरू कर दिया है। हम तो पश्चिम बंगाल में एक बार फिर ममता बनर्जी की सरकार चाहते हैं। हम वहां पर ममता बनर्जी को समर्थन देंगे। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को नफरत फैलाने के साथ साजिश व षडयंत्र करने के साथ धोखा करने वाली पार्टी बताया। अखिलेश यादव ने भाजपा झूठ बोलने के अलावा करनेहम आजमगढ़ की सड़क पर जहाज उतार कर दिखाएंगे। उन्होंने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर सवाल उठाए।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सोमवार को पूर्व कैबिनेट मंत्री दुर्गा के घर एक निजी कार्यक्रम में पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने भाजपा की केंद्र व राज्य सरकारों पर जमकर भड़ास निकाली। उन्होंने भाजपा सरकार को किसान बिल, किसानों की फसल के समर्थन मूल्य, विकास के मुद्दे व कानून व्यवस्था पर खूब कोसा। गन्ना मूल्य भुगतान पर ऑनलाइन पर्ची के मुद्दे पर भी उन्होंने घेरा और कहा कि किस किसान के घर पर छाई है वह जरा बताएं हमें। सपा किसानों का पूरा समर्थन कर रही है इस कारण उत्पीडऩ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सपा हमेशा किसानों की पार्टी रही है इसलिए किसानों के आंदोलन में उनके साथ खड़ी है और आगे भी खड़ी रहेगी।

वही कोविड-19 की रोकथाम को लेकर वैक्सीन के मैनेजमेंट पर भी उन्होंने केंद्र सरकार को आड़े हाथ लिया। कहा तमाम देशों में पूरी तैयारियां कर ली गई है लेकिन यहां पर अभी कुछ नहीं तैयारी की गई है। केवल हवा हवाई बातें बनाई जा रही है। वैक्सीन को लेकर भ्रम की स्थिति है। भाजपा खुद गाइडलाइन का पालन नहीं कर रही है। हैदराबाद का चुनाव हो या बिहार के चुनाव भाजपा सरकार भीड़ इकट्ठा करने में लगी रही।

आजमगढ़ में हवाई पट्टी चार किमी की होने के बाद भी भाजपा पर उसको पूरा न करने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा वाले जानते हैं कि यहां का विकास होगा तो सपाई ही यहां उतरेंगे। वही पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर कहा कि उन्होंने इसका शिलान्यास किया था, लेकिन इसके बाद भी झूठ बता कर प्रधानमंत्री से शिलान्यास कराया गया। एक नामी कंपनी को ठेका दिया गया था जिसने भाजपा के ही सरकार की पहल पर स्टैचू ऑफ यूनिटी का निर्माण किया लेकिन उसको हटा दिया गया। प्रदेश में मानवाधिकार उल्लंघन हिरासत में मौत समेत कानून व्यवस्था को लेकर भी उन्होंने कई सवाल खड़ा किए इसके अलावा जमीन की पैमाइश व मुख्यमंत्री के आवास का नक्शा न पास होने को लेकर भी सवाल खड़े किए।