Home उत्तर प्रदेश मिशन शक्ति के तहत गोष्ठी का आयोजन, महिला अधिकारों और कानूनी सलाह...

मिशन शक्ति के तहत गोष्ठी का आयोजन, महिला अधिकारों और कानूनी सलाह के लिए किया जागरूक

रिपोर्टर- रविता

शामली। प्रदेश सरकार के विशेष अभियान मिशन शक्ति के तहत नारी सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन के प्रचार-प्रसार के लिए बुधवार को सदर तहसील प्रांगण में गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में नारी सशक्तीकरण, महिलाओं के अधिकारों और कानूनी सलाह के प्रति पर वीडियो के माध्यम से महिलाओं को जागरूक किया गया। गोष्ठी में सभी पांचों ब्लॉक शामली, कैराना, ऊन एवं थानाभवन से बाल विकास परियोजना अधिकारियों व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व महिलाओं ने भाग लिया
जिला कार्यक्रम अधिकारी संतोष श्रीवास्तव ने बताया नारी की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन के लिए सरकार की अनेक योजनाएं चल रही हैं। उन्होंने कहा किसी भी महिला के साथ शोषण, घरेलू हिंसा, या उत्पीड़न होता है तो 181 हेल्पलाइन नंबर डायल करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकती हैं। किसी भी मनचले या शोहदे द्वारा परेशान किया जाता है तो 1090 नंबर पर कॉल करके शिकायत की जा सकती है, महिला की पहचान पूर्ण रूप से गुप्त रखी जाएगी। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की सरहाना करते हुए कहा कि बच्चों की देखभाल, पालन-पोषण, टीकाकरण, पुष्टाहार वितरण, वजन, पोषण प्रबधन आदि का कार्य वह काफी अच्छी तरह कर रही हैं। गोष्ठी को संबोधित करते हुए वन स्टॉप सेंटर की प्रभारी गजला त्यागी ने कहा कि समाज में घटित होने वाली घटनाओं से लड़ने की क्षमता स्वयं अपने अंदर विकसित करें। हमारी लड़ाई पुरुषों से नहीं है, हमारी लड़ाई अपनी पहचान, अपने सम्मान को बचाए रखने की है। उन्होंने कहा कि किसी भी महिला के साथ दहेज उत्पीड़न, शारीरिक शोषण, घरेलू हिंसा होती है तो वह निसंकोच 181 नंबर पर फोन करके सहायता मांग सकती है। इसके अलावा यदि कोई लड़की कहीं देर होने पर या साधन न मिलने पर अकेली महसूस करती है तो ऐसी परिस्थिति में वह इसी नंबर (181) पर फोन कर सकती है, उसको घर तक पहुंचाने का प्रबंध किया जाएगा।
इस अवसर पर वन स्टॉप सेंटर की दुर्गा टीम आयशा, नीलम, पल्लवी, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग से रेखा सैनी, मुख्य सेविका शोभा रानी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित रहीं। इसके अलावा कांधला ब्लॉक से बाल विकास परियोजना अधिकारी शोभा विश्वकर्मा, थाना भवन से विमला शर्मा, ऊन से उर्मिला शर्मा, कैराना से सुदेश भारती ने कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना योगदान दिया।