SC ने मांगा स्टेटस रिपोर्ट तो, हरकत में आयी पुलिस, गृह राज्य मंत्री के बेटे से आज करेगी पूछताछ

खबरे सुने

लखनऊ। लखीमपुर खीरी में बीते रविवार को उपद्रव के बाद हिंसा में चार किसानों सहित आठ लोगों की मौत के बाद मामला काफी तूल पकड़ चुका है। सुप्रीम कोर्ट के इस प्रकरण को स्वत: संज्ञान लेने के बीच में शुक्रवार को दिन भी काफी अहम है। प्रकरण की जांच कर रही लखीमपुर क्राइम ब्रांच की टीम ने मामले में नामजद केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा को शुक्रवार को तलब किया है। फरार चल रहे आशीष मिश्रा के घर पर गुरुवार को नोटिस भी चस्पा की गई है। आज सभी की निगाहें लखीमपुर खीरी पुलिस लाइन पर हैं, जहां पर आशीष मिश्रा को तलब किया गया है।

आशीष मिश्रा को लेकर आज सभी के मन में सवाल चल रहा है। सबकी निगाह लखीमपुर खीरी पुलिस की क्राइम ब्रांच की जांच प्रणाली पर टिकी हैं। सभी के जेहन में सवाल है कि क्या पुलिस आशीष मिश्रा को इस केस में गिरफ्तार करेगी या फिर पूछताछ के बाद रिहा कर देगी। लखीमपुर खीरी कांड में दर्ज हुई हत्या की रिपोर्ट के मुख्य आरोपित केन्द्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्र मोनू के घर गुरुवार देर शाम पुलिस ने नोटिस चस्पा की है। जिसमें उनको शुक्रवार को पुलिस की अपराध शाखा के समक्ष तलब किया गया है। उनको शुक्रवार सुबह दस बजे पुलिस लाइंस स्थित अपराध शाखा के कार्यालय में उनके पास मौजूद सभी साक्ष्यों के साथ उपस्थित होने को कहा गया है। माना जा रहा है कि पेशी के दौरान आशीष मिश्रा सौ लोगों की गवाही का एफिडेविट भी दे सकता है। इसमें सौ लोगों ने गवाही दी है कि घटना के समय आशीष मिश्रा दंगल के आयोजन में था।

इस मामले में अब देखने वाली बात यह होगी कि पुलिस मोनू को इसी बातचीत के दौरान गिरफ्तार कर लेगी या फिर पूछताछ के बाद उनको रिहा कर देगी। इस मामले की जांच कर रहीं आइजी लखनऊ जोन लक्ष्मी सिंह ने बताया कि केन्द्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्र मोनू को भी पुलिस ने समन किया है। उनको आज पुलिस लाइंस में बुलाया गया है। पर्यवेक्षण टीम के सामने वह भी अपनी बात रखें और पुलिस की जांच में अपना सहयोग दें। उन्होंने कहा कि घटना की विवेचना तेजी से चल रही है। बहुत ही जल्द सब कुछ पुलिस सार्वजनिक करेगी।

लखनऊ जोन की पुलिस महानिरीक्षक लक्ष्मी सिंह ने बताया कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे और लखीमपुर कांड के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। अगर आशीष पूछताछ के लिए नहीं आते हैं तो इसके लिए विधिक प्रक्रिया अपनाई जाएगी। पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि आशीष को भेजे गए सम्मन में किसी समय सीमा का जिक्र नहीं है। उन्होंने बताया कि इस मामले में कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है।

इससे पहले लखीमपुर खीरी कांड पर सुप्रीम कोर्ट के स्वत: संज्ञान और यूपी सरकार से सवाल पूछे जाने पर गुरुवार को पुलिस की रफ्तार में तेजी आई है। लखीमपुर खीरी पुलिस ने तिकुनिया हिंसा से जुड़े दो आरोपितों को दोपहर में गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की गिरफ्त में आए लवकुश निवासी बनवीरपुर और आशीष पाण्डेय निवासी तारानगर को खीरी की पुलिस लाइंस में बने अस्पताल में पूछताछ के लिए लाया गया। यहां पर करीब तीन घंटे तक चली इस पूछताछ की कमान खुद रेंज की आइजी लक्ष्मी सिंह ने संभाली। पूछताछ के बाद आइजी लक्ष्मी सिंह ने कहा कि दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इन दोनों आरोपियों से पूछताछ चल रही है। इस कांड के तीन अन्य आरोपितों की मौत हो चुकी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.