Home धार्मिक आज का पञ्चाङ्ग रविवार, ९ अगस्त २०२०

आज का पञ्चाङ्ग रविवार, ९ अगस्त २०२०

 

राजसत्ता पोस्ट

 

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉
🌄सुप्रभातम🌄
🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓
🌻रविवार, ९ अगस्त २०२०🌻

सूर्योदय: 🌄 ०५:४९
सूर्यास्त: 🌅 ०७:०६
चन्द्रोदय: 🌝 २२:३१
चन्द्रास्त: 🌜१०:३३
अयन 🌕 दक्षिणायने (उत्तरगोलीय)
ऋतु: ⛈️ वर्षा
शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी)
विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी)
मास 👉 भाद्रपद
पक्ष 👉 कृष्ण
तिथि: 👉 षष्ठी (पूर्ण रात्रि)
नक्षत्र: 👉 रेवती (१९:०७ तक)
योग: 👉 धृति (०६:४६ तक)
प्रथम करण: 👉 गर (१७:२९ तक)
द्वितीय करण: 👉 वणिज (पूर्ण रात्रि)
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️
॥ गोचर ग्रहा: ॥
🌖🌗🌖🌗
सूर्य 🌟 कर्क
चंद्र 🌟 मेष (१९:०५ से)
मंगल 🌟 मीन (उदित, पूर्व)
बुध 🌟 कर्क (अस्त, पश्चिम, मार्गी)
गुरु 🌟 धनु (उदित, पश्चिम, वक्री)
शुक्र 🌟 मिथुन (उदित, पूर्व, मार्गी)
शनि 🌟 मकर (उदय, पूर्व, वक्री)
राहु 🌟 मिथुन
केतु 🌟 धनु
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
शुभाशुभ मुहूर्त विचार
⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳
〰〰〰〰〰〰〰
अभिजित मुहूर्त: 👉 ११:५६ से १२:४९
अमृत काल: 👉 १६:२५ से १८:१३
होमाहुति: 👉 गुरु
अग्निवास: 👉 पृथ्वी
दिशा शूल: 👉 पश्चिम
नक्षत्र शूल: 👉 ❌❌❌
चन्द्र वास: 👉 उत्तर (पूर्व १९:०७ से)
दुर्मुहूर्त: 👉 १७:१४ से १८:०७
राहुकाल: 👉 १७:२० से १९:००
राहु काल वास: 👉 उत्तर
यमगण्ड: 👉 १२:२२ से १४:०१
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
☄चौघड़िया विचार☄
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
॥ दिन का चौघड़िया ॥
१ – उद्वेग २ – चर
३ – लाभ ४ – अमृत
५ – काल ६ – शुभ
७ – रोग ८ – उद्वेग
॥रात्रि का चौघड़िया॥
१ – शुभ २ – अमृत
३ – चर ४ – रोग
५ – काल ६ – लाभ
७ – उद्वेग ८ – शुभ
नोट– दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
शुभ यात्रा दिशा
🚌🚈🚗⛵🛫
उत्तर-पूर्व (पान का सेवन कर यात्रा करें)
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
तिथि विशेष
🗓📆🗓📆
〰️〰️〰️〰️
पंचक समाप्त १९:०५ पर, हल चंदन षष्ठी व्रत आदि।
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
आज जन्मे शिशुओं का नामकरण
〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️
आज १९:०७ तक जन्मे शिशुओ का नाम
रेवती नक्षत्र के तृतीय एवं चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (च, ची) नामाक्षर से तथा इसके बाद जन्मे शिशुओ का नाम अश्विनी नक्षत्र के प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय चरण अनुसार क्रमश (चू, चे, चो) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है।
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
उदय-लग्न मुहूर्त:
०५:४५ – ०६:१८ कर्क
०६:१८ – ०८:३७ सिंह
०८:३७ – १०:५५ कन्या
१०:५५ – १३:१६ तुला
१३:१६ – १५:३५ वृश्चिक
१५:३५ – १७:३९ धनु
१७:३९ – १९:२० मकर
१९:२० – २०:४६ कुम्भ
२०:४६ – २२:०९ मीन
२२:०९ – २३:४३ मेष
२३:४३ – २५:३८ वृषभ
२५:३८ – २७:५२ मिथुन
२७:५२ – २९:४५ कर्क
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
पञ्चक रहित मुहूर्त:
०५:४५ – ०६:१८ रोग पञ्चक
०६:१८ – ०८:३७ शुभ मुहूर्त
०८:३७ – १०:५५ मृत्यु पञ्चक
१०:५५ – १३:१६ अग्नि पञ्चक
१३:१६ – १५:३५ शुभ मुहूर्त
१५:३५ – १७:३९ रज पञ्चक
१७:३९ – १९:०७ शुभ मुहूर्त
१९:०७ – १९:२० चोर पञ्चक
१९:२० – २०:४६ शुभ मुहूर्त
२०:४६ – २२:०९ रोग पञ्चक
२२:०९ – २३:४३ चोर पञ्चक
२३:४३ – २५:३८ शुभ मुहूर्त
२५:३८ – २७:५२ रोग पञ्चक
२७:५२ – २९:४५ शुभ मुहूर्त
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
आज का राशिफल
🐐🐂💏💮🐅👩
〰️〰️〰️〰️〰️〰️
मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)
आज दिन के आधे भाग में सुख शांति कामनापूर्ति तथा आधे भाग में शोक संताप हानि से मन दुविधा में रहेगा दिन के आरम्भ से मध्यान तक परिस्थितियां आपके अनुकूल रहेंगी इसका लाभ अवश्य उठाये इस अवधि में की गई मेहनत आज आशा से अधिक लाभ दिला सकती है कार्यो के प्रति वैसे तो आज गंभीर ही रहेंगे लेकिन घर या बाहर किसी से हंसी मजाक में अथवा रंजिश के कारण झगड़ा होने की संभावना है जिससे बाकी का दिन मानसिक अशांति में खराब होगा। कार्य व्यवसाय में आशानुकूल गति नही रहेगी फिर भी आवश्यकता पड़ने पर कही न कहीं से धन का जुगाड़ कर लेंगे। सहकर्मियो से कार्य शैली को लेकर तीखी झड़प होगी आज वाणी में नरमी रखें अन्यथा आने वाले कुछ दिनों परिणाम परेशान करेंगे। संध्या के समय घर मे मामूली बात का बतंगड़ बनने से अच्छा भला माहौल खराब हो सकता है। परिजनों की जगह बाहर के लोगो से बात करना अधिक भायेगा। शारीरिक और मानसिक रूप से कुछ न कुछ कमी रहेगी।

वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)
आज का दिन आपके लिये सार्वजनिक क्षेत्र और सामाजिक कार्यो के लिये शुभ रहेगा लेकिन घरेलू मामलों में कुछ न कुछ खटपट लगी रहेगी। दिन के आरम्भ में पूर्वनियोजित कार्यो से लाभ होने के आसार बनेंगे लेकिन टलते टलते मध्यान तक ही हो पायेगा पर जितनी लाभ की संभावना रहेगी उससे कम ही मिल मिलेगा। कार्य क्षेत्र पर आज वातावरण सहयोगी नही रहेगा सहकर्मी आराम तलबी के कारण आवश्यक कार्यो में भी लापरवाही करेंगे जिससे क्रोध तो आएगा पर स्थिति को भांप शांत ही रहेंगे। घरेलू वातावरण आज समझ से परे रहेगा किसी के हित में बात करना भी परिजन को बुरा लगेगा। पति पत्नी के आपसी विचारों को छोड़ आज घर मे किसी से विचार मेल नही खाएंगे। भाई बंधु भी शत्रु जैसा व्यवहार कर मन को आहत करेंगे किसी के व्यक्तिगत मामले में ना पड़े अन्यथा आत्मसम्मान को ठेस पहुच सकती है। पेट मे गैस कब्ज की परेशानी हो सकती है।

मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा)
आज का दिन आपको मिला जुला फल देगा। दिन के आरंभ में जिस कार्य मे हानि का भय रहेगा मध्यान बाद उन्ही से लाभ होता देख अपना निर्णय बदलना पड़ेगा। आज किसी को आवश्यकता पडने पर भी परामर्श ना दें अन्यथा झूठे साबित हो जाएंगे। कार्य व्यवसाय में आज असमंजस की स्थिति रहेगी हानि के डर से जोखिम लेने से डरेंगे लेकिन आज लाभ जोखिम लेकर ही पाया जा सकता है इसका ध्यान रखें सहकर्मियो से आज भी तालमेल की कमी रहेगी पूर्ण के मतभेद के कारण जानबूझकर देरी अथवा कार्य बिगाड़ सकते है। धन की आमद में अन्य दिनों की अपेक्षा सुधार आएगा। सरकारी कार्यो में भय का वातावरण बनेगा उलझने बढ़ने का डर सताएगा। घरेलू वातावरण में गलतफहमियां परिजनों से वैचारिक दूरी बनायेगीं आज रिश्तों को केलव जरूरत के समय ही महत्त्व देंगे। कोई रोग धीमी गति से शरीर को प्रभावित करेगा जिसका पता आगे जाकर लगेगा।

कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)
आज दिन के पहले भाग में स्फूर्ति की कमी रहेगी। शरीर मे अकड़न सरदर्द की थोड़ी बहुत समस्या रहेगी लेकिन दिन चढ़ते इनमे सुधार आने लगेगा। धार्मिक भावना भी आज अन्य दिनों की तुलना में अधिक रहेगी लेकिन कार्य व्यस्तता के कारण इनके लिये उपयुक्त समय नही दे पाएंगे फिर भी दिन के खाली समय मे किसी न किसी रूप में आध्यात्म से जुड़े रहेंगे। कार्य क्षेत्र पर किसी नए काम के आने से अतिरिक्त दौड़ धूप होगी लेकिन इसका कोई विशेष लाभ नही उठा पाएंगे फिर भी दैनिक आय संतोषजनक हो ही जाएगी। सार्वजनिक क्षेत्र पर सरल व्यक्तित्त्व के कारण सम्मान में वृद्धि होगी लेकिन आपकी धीमी कार्यशैली आलोचना भी कराएगी। घरेलू वातावरण भी आज सुखदायक रहेगा भूमि भवन वाहन सुख उत्तम मिलेगा लेकिन पैतृक मामलो में कल जैसा सहयोग आज नही मिल पाने का दुख भी रहेगा। आज किसी पुराने परिचित से भेंट होने पर काफी समय गप्पे मारेंगे।

सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)
आज दिन के आरंभिक भाग को छोड़ अन्य समय सेहत संबंधित मामलों में अधिक सतर्क रहने की आवश्यकता है। बीमारी की थोड़ी सी आशंका होने पर ही तुरंत उपचार ले अन्यथा बाद में बढ़ने से ज्यादा परेशानी देखनी पड़ेगी। घर अथवा कार्य क्षेत्र पर भाई बंधुओ का प्रभाव ज्यादा रहेगा जिससे स्वयं को निम्नतर आकेंगे मन मे ईर्ष्या की भावना भी रहेगी फिर भी अपने हित साधने के लिये किसी की गलत बातो का भी विरोध नही करेंगे। नौकरी पेशाओ को व्यवसायी वर्ग की तुलना में अधिक संघर्ष करना पड़ेगा दिन भर की भाग दौड़ के बाद भी परिणाम निराश करने वाले ही मिलेंगे। धन की आमद तो कही न कहीं से हो जाएगी लेकिन व्यर्थ के खर्च भी साथ रहने से कम ही लगेगी। पारिवारिक वातावरण में ऊबन अनुभव होगी लेकिन ससुराल पक्ष से आकस्मिक लाभ या शुभ समाचार मिल सकते है। यात्रा में विशेष सावधानी बरते वाहनादि से दुर्घटना का भय है।

कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)
आज का दिन आपके लिये बीते कुछ दिनों की तुलना में सुधार वाला रहेगा दिन के आरंभिक भाग में धन एवं कुटुम्ब संबंधित उलझनों के कारण आक्रोश में रहेंगे हो सके तो मध्यान तक विवाद से बचने का प्रयास करें किसी परिजन की गलती को पकड़ कर ना बैठे अन्यथा मानसिक संतुलन खराब होने पर दिन का उचित लाभ उठाने से वंचित रह सकते है। नौकरी कारोबार में आज भी विविध अड़चनों का सामना करना पड़ेगा लेकिन आज कोई पूर्व में सोची योजना के सफल होने से भविष्य में लाभ के मार्ग खुलने से राहत मिलेगी। स्वयंजन के सहयोग एवं अपनी बुद्धि विवेक से सरकारी कार्यो में भी सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे
सरकारी कर्मचारियों से काम निकालना आसान रहेगा आज लोन अथवा अन्य आर्थिक कार्यो में ढील ना दें अन्यथा बाद में इसका मलाल रहेगा। आज धन की आमद आशा से कम लेकिन भविष्य में होने के मार्ग खुलेंगे। घर मे किसी के व्यर्थ खर्च करने अथवा अनैतिक आचरण को लेकर कहासुनी हो सकती है। परिजन की सेहत को लेकर अतिरिक्त दौड़धूप हो सकती है।

तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)
आज प्रातःकाल में किसी अनिच्छित प्रसंग अथवा कार्य करने पर मन मे ग्लानि होगी फिर भी पारिवारिक दबाव के चलते करना ही पड़ेगा। मध्यान बाद का समय कार्यो में विजय दिलाने वाला रहेगा। पूर्व में की मेहनत का फल धीरे धीरे मिलने से मन को संतोष होगा। आज कार्य क्षेत्र पर कम समय मे अधिक मुनाफा कमाने के प्रलोभन भी मिलेंगे भविष्य को देखते हुए ये लाभदायक ही रहेंगे फिर भी सतर्कता बरते ठगी के शिकार भी हो सकते है। आज आपके अंदर साहस एवं धैर्य की कमी भी रहेगी जिसके चलते अपने दम पर कोई कार्य करने की हिम्मत नही जुटा पाएंगे फिर भी भागीदार एवं सहयोगियों का मार्गदर्शन सही मिलने से धन लाभ अवश्य होगा इसकी गति भले ही धीमी रहे पर संतुष्ट जरूर करेगी। कुटुम्बीजनो की आपसे कुछ महात्त्वकांक्षाये रहेंगी इनको पूर्ण करने का प्रयास करेंगे फिर भी कुछ न कुछ कमी के कारण विरोध देखना पड़ेगा। घर मे स्त्री वर्ग की सेहत चिन्ता बढ़ाएगी खर्च करने पर भी लाभ कम ही होगा।

वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)
आज दिन के पहले भाग में किसी मनोकामना के पूरा ना होने पर क्रोध से भरे रहेंगे जानबूझकर कार्यो में विलंब या खराब भी कर सकते है। मध्यान के समय स्वभाव में जिद्दीपन भी आने से आस पास के लोगो से बैठे बिठाये झगड़ा मोल लेंगे आज आपकी कोई भी कामना भविष्य के लिये लाभदायक ना रहने से परिजन भी इनको टालने के प्रयास करेंगे लेकिन जिद बहस के बाद अपनी बात मनवा ही लेंगे। कार्य क्षेत्र पर आपका व्यवहार घर की तुलना में एकदम विपरीत रहेगा अपना हित साधने के लिए किसी की झूठी तारीफ करने से भी संकोच नही करेंगे। आर्थिक दृष्टिकोण से दिन शुभ रहेगा धन किसी न किसी मार्ग से आप तक अवश्य पहुचेगा लेकिन भविष्य में इसके गलत कार्यो में लगने की संभावना अधिक है। परिवार के सदस्य आपके व्यवहार के एकदम विपरीत शांत होकर आपकी उल्टी सीधी हरकतों को सह लेंगे जिससे टकराव की आशंका नही रहेगी फिर भी पिता से गरमा गर्मी हो सकती है। सेहत आज थोड़े बहुत शारीरिक दर्द को छोड़ लगभग ठीक ही रहेगी।

धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे)
आज दिन के पूर्वार्ध में आपको परिजनों से खरी खोटी सुनने को मिलेंगी आपका ध्यान भी इधर उधर की बातों में ज्यादा रहेगा अपने कार्यो के प्रति इतने गंभीर नही रहेंगे जितने पराये झगड़ो में रुचि दिखाएंगे। लेकिन एक बार किसी कार्य से जुड़ने पर उसे गंभीरता से पूर्ण करके ही हटेंगे। आज के दिन धन लाभ की ज्यादा संभावना नही रहेगी फिर भी अकस्मात होने पर कार्यो के प्रति रुचि और उत्साह बढ़ेगा। नौकरी पेशा बेहतर प्रदर्शन कर सम्मान के अधिकारी बनेंगे अतिरिक्त आय बनाने के मौके भी मिलेंगे लेकिन अधिक मेहनत वाले होने के कारण टालमटोल कर सकते है। संध्या बाद घर में अपना वर्चस्व बनाने के लिये छोटी मोटी खींचतान होगी फिर भी वातावरण आनंद ही देगा भविष्य में सुख वृद्धि के लिये खर्च की योजना भी बन सकती है। सेहत वैसे तो ठीक ही रहेगी लेकिन शरीर की अनदेखी आगे के लिये परेशानी ना करें इसका ध्यान रखें।

मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी)
आज दिन के पहले भाग में कल वाली समस्या यथावत रहेगी लाभ कमाने के अवसर मिलेंगे लेकिन मानसिक रूप से तैयार ना होने के कारण किसी अन्य प्रतिस्पर्धी को मिल सकती है अथवा सही निर्णय ना कर पाने के चक्कर मे आप स्वयं दूसरे को सौप देंगे। घर मे छोटी छोटी बातों पर वातावरण उग्र बनेगा बाहर समय बिताना अधिक पसंद करेंगे लेकिन मध्यान के बाद परिस्थिति में सुधार आने लगेगा जो लोग आपकी हर बात का विरोध कर रहे थे उन्हें अपनी गलती का अहसास होगा लेकिन अहम के कारण स्वीकार करने की जगह बात को रफा दफा करने का प्रयास करेंगे। व्यवसाय में लाभ के अवसर कम ही मिलेंगे फिर भी संध्या तक छोटी छोटी आय से दिन भर का खर्च निकाल लेंगे। नौकरी पेशाओ को आज परिश्रम का फल नही मिल पायेगा लेकिन मेहनत आज नही तो कल अवश्य फल देगी। पापकर्म से दूर रहे आगे परेशानी हो सकती है। सेहत ठीक रहेगी।

कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)
आज के दिन आपको घर एवं कार्य क्षेत्र के कार्य एक साथ आने पर असहजता होगी। कार्य बोझ होने पर भी दिन के आरंभिक भाग में धीमी गति से कार्य करने पर दिनचर्या अव्यवस्थित बनेगी। कार्य क्षेत्र पर अन्य लोगो का दखल बढ़ने से स्वयं के हित साधने में परेशानी आएगी फिर भी कल की तरह स्वयं को लाचार नही बनने देंगे उद्दंडता का अपने स्वभाव अनुसार दमन कर अपने मन के अनुसार कार्य करेंगे धन की आमद आज थोड़ी थोड़ी मात्रा में लेकिन आवश्यकता अनुसार हो जाएगी। आज आपके खर्च भी राजसी रहेंगे सुख सुविधा के लिये कंजूसी नही करेंगे जिससे परिजन भी प्रसन्न बने रहेंगे घर के बड़े बुजुर्गों की सलाह के बिना कोई कार्य करने पर नाराजगी देखनी पड़ेगी। संध्या का समय दिन की तुलना में अधिक आनंद से बीतेगा। सेहत में थोड़ा बहुत उतार चढ़ाव लगा रहने पर भी बाधक नही बनेगा।

मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)
आज का दिन बीते दिनों की तुलना में राहत भरा रहेगा लेकिन मन मे बेचैनी अधिक रहेगी निराशा में जल्दबाजी दिखाएंगे मध्यान तक कोई बड़ा निर्णय लेने से बचें अन्यथा बाद में पछताना पड़ेगा। कार्य क्षेत्र पर मध्यान तक कल जैसी स्थिति बनी रहेगी इसके बाद किसी पुराने संबंध अथवा सौदे से धन लाभ होगा जिससे थोड़ी राहत अवश्य मिलेगी लेकिन संतोष नही। आज आप किसी साधन द्वारा एकदम से मोटा लाभ पाने के चक्कर मे रहेंगे लेकिन किसी का सहयोग ना मिलने पर अंत मे आगे के लिए टाल देंगे पर हार नही मानेंगे। बाहर के कुछ लोग आपकी छवि धनवान जैसी समझ मदद की आस लगाए रहेंगे परंतु अंदर के हालात विपरीत रहने के कारण सहायता में असमर्थता जताएंगे। घरेलू वातावरण में संध्या के समय सुधार आएगा फिर भी आवेश में आने से बचे अन्यथा घर से सुख शांति की की आशा ना रखें। शरीर मे अकस्मात वात कफ बढ़ने से सेहत नरम होगी।
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️Anuj Tyagi: 🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞
⛅ *दिनांक 09 अगस्त 2020*
⛅ *दिन – रविवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2077 (गुजरात – 2076)*
⛅ *शक संवत – 1942*
⛅ *अयन – दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु – वर्षा*
⛅ *मास – भाद्रपद (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार – श्रावण)*
⛅ *पक्ष – कृष्ण*
⛅ *तिथि – षष्ठी पूर्ण रात्रि तक*
⛅ *नक्षत्र – रेवती शाम 07:07 तक तत्पश्चात अश्विनी*
⛅ *योग – धृति सुबह 06:46 तक तत्पश्चात शूल*
⛅ *राहुकाल – शाम 05:23 से शाम 07:00 तक*
⛅ *सूर्योदय – 06:16*
⛅ *सूर्यास्त – 19:11*
⛅ *दिशाशूल – पश्चिम दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण – रांधण-हल षष्ठी, षष्ठी वृद्धि तिथि*
💥 *विशेष – षष्ठी को नीम की पत्ती, फल या दातुन मुँह में डालने से नीच योनियों की प्राप्ति होती है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
💥 *रविवार के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
💥 *रविवार के दिन मसूर की दाल, अदरक और लाल रंग का साग नहीं खाना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75.90)*
💥 *रविवार के दिन काँसे के पात्र में भोजन नहीं करना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75)*
💥 *स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं।*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *जन्माष्टमी* 🌷
🙏🏻 *भारतवर्ष में रहनेवाला जो प्राणी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का व्रत करता है, वह सौ जन्मों के पापों से मुक्त हो जाता है | – ब्रह्मवैवर्त पुराण*
🙏🏻 *स्त्रोत : ऋषिप्रसाद – अगस्त २०१६ से*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *गर्भवती देवी के लिये–जन्माष्टमी व्रत* 🌷
👩🏻 *जो गर्भवती देवी जन्माष्टमी का व्रत करती हैं….. उसका गर्भ ठीक से पेट में रह सकता है और ठीक समय जन्म होता है….. ऐसा भविष्यपुराण में लिखा है |*
🙏🏻 *- Pujya Bapuji Surat 10th Aug’ 2012*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *हजार एकादशी का फल देनेवाला व्रत* 🌷
🙏 *जन्माष्टमी के दिन किया हुआ जप अनंत गुना फल देता है । उसमें भी जन्माष्टमी की पूरी रात, जागरण करके जप-ध्यान का विशेष महत्व है ।*
🙏 *भविष्य पुराण में लिखा है कि जन्माष्टमी का व्रत अकाल मृत्यु नहीं होने देता है । जो जन्माष्टमी का व्रत करते हैं, उनके घर में गर्भपात नहीं होता ।*
🙏 *एकादशी का व्रत हजारों – लाखों पाप नष्ट करनेवाला अदभुत ईश्वरीय वरदान है लेकिन एक जन्माष्टमी का व्रत हजार एकादशी व्रत रखने के पुण्य की बराबरी का है ।*
🙏 *एकादशी के दिन जो संयम होता है उससे ज्यादा संयम जन्माष्टमी को होना चाहिए ।*
*बाजारु वस्तु तो वैसे भी साधक के लिए विष है लेकिन जन्माष्टमी के दिन तो चटोरापन, चाय, नाश्ता या इधर – उधर का कचरा अपने मुख में न डालें ।*
🙏 *इस दिन तो उपवास का आत्मिक अमृत पान करें ।अन्न, जल, तो रोज खाते – पीते रहते हैं, अब परमात्मा का रस ही पियें । अपने अहं को खाकर समाप्त कर दें।*
🙏🏻 *- ऋषि प्रसाद अगस्त 2015*

📖 *हिन्दू पंचांग संपादक ~ अंजनी निलेश ठक्कर*
📒 *हिन्दू पंचांग प्रकाशित स्थल ~ सुरत शहर (गुजरात)*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞
­🙏🍀🌷🌻🌺🌸🌹🍁🙏