Home धार्मिक आज का पञ्चाङ्ग शनिवार, ८ अगस्त २०२०

आज का पञ्चाङ्ग शनिवार, ८ अगस्त २०२०

 

राजसत्ता पोस्ट

 

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉

🌄सुप्रभातम🌄
🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓
🌻शनिवार, ८ अगस्त २०२०🌻

सूर्योदय: 🌄 ०५:४९
सूर्यास्त: 🌅 ०७:०७
चन्द्रोदय: 🌝 २२:०२
चन्द्रास्त: 🌜०९:४०
अयन 🌕 दक्षिणायने (उत्तरगोलीय)
ऋतु: ⛈️ वर्षा
शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी)
विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी)
मास 👉 भाद्रपद
पक्ष 👉 कृष्ण
तिथि: 👉 पञ्चमी (२८:१८ तक)
नक्षत्र: 👉 उत्तराभाद्रपद (१६:१२ तक)
योग: 👉 सुकर्मा( ०५:५७ तक)
प्रथम करण: 👉 कौलव (१५:१० तक)
द्वितीय करण: 👉 तैतिल (२८:१८ तक)
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️
॥ गोचर ग्रहा: ॥
🌖🌗🌖🌗
सूर्य 🌟 कर्क
चंद्र 🌟 मीन
मंगल 🌟 मीन (उदित, पूर्व)
बुध 🌟 कर्क (अस्त, पश्चिम, मार्गी)
गुरु 🌟 धनु (उदित, पश्चिम, वक्री)
शुक्र 🌟 मिथुन (उदित, पूर्व, मार्गी)
शनि 🌟 मकर (उदय, पूर्व, वक्री)
राहु 🌟 मिथुन
केतु 🌟 धनु
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
शुभाशुभ मुहूर्त विचार
⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳
〰〰〰〰〰〰〰
अभिजित मुहूर्त: 👉 ११:५६ से १२:४९
अमृत काल: 👉 १०:५२ से १२:३९
होमाहुति: 👉 मंगल (१६:१२ तक)
अग्निवास: 👉 पृथ्वी (२८:१८ तक)
दिशा शूल: 👉 पूर्व
नक्षत्र शूल: 👉 ❌❌❌
चन्द्र वास: 👉 उत्तर
दुर्मुहूर्त: 👉 ०५:४४ से ०६:३७
राहुकाल: 👉 ०९:०३ से १०:४३
राहु काल वास: 👉 पूर्व
यमगण्ड: 👉 १४:०२ से १५:४१
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
☄चौघड़िया विचार☄
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
॥ दिन का चौघड़िया ॥
१ – काल २ – शुभ
३ – रोग ४ – उद्वेग
५ – चर ६ – लाभ
७ – अमृत ८ – काल
॥रात्रि का चौघड़िया॥
१ – लाभ २ – उद्वेग
३ – शुभ ४ – अमृत
५ – चर ६ – रोग
७ – काल ८ – लाभ
नोट– दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
शुभ यात्रा दिशा
🚌🚈🚗⛵🛫
उत्तर-पश्चिम (वाय विन्डिंग अथवा तिल मिश्रित चावल का सेवन कर यात्रा करें)
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
तिथि विशेष
🗓📆🗓📆
〰️〰️〰️〰️
विवाहादि मुहूर्त (हिमाचल-पंजाब) दिवालग्न ५ (चंद्र-मंगल परिहार दान), लग्न ७-८ (शुक्र परिहार, नीवखुदाई एवं गृहारम्भ मुहूर्त ०८:४५ से १०:४० तक, दुकान-व्यवसाय आरम्भ मुहूर्त १६:११ तक आदि।
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
आज जन्मे शिशुओं का नामकरण
〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️
आज १६:१२ तक जन्मे शिशुओ का नाम
उत्तराभाद्रपद नक्षत्र के तृतीय एवं चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (झ, ञ) नामाक्षर से तथा इसके बाद जन्मे शिशुओ का नाम रेवती नक्षत्र के प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय चरण अनुसार क्रमश (दे, दो, च) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है।
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
उदय-लग्न मुहूर्त:
०५:४४ – ०६:२२ कर्क
०६:२२ – ०८:४१ सिंह
०८:४१ – १०:५९ कन्या
१०:५९ – १३:२० तुला
१३:२० – १५:३९ वृश्चिक
१५:३९ – १७:४३ धनु
१७:४३ – १९:२४ मकर
१९:२४ – २०:५० कुम्भ
२०:५० – २२:१३ मीन
२२:१३ – २३:४७ मेष
२३:४७ – २५:४१ वृषभ
२५:४१ – २७:५६ मिथुन
२७:५६ – २९:४५ कर्क
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
पञ्चक रहित मुहूर्त:
०५:४४ – ०६:२२ शुभ मुहूर्त
०६:२२ – ०८:४१ रज पञ्चक
०८:४१ – १०:५९ शुभ मुहूर्त
१०:५९ – १३:२० चोर पञ्चक
१३:२० – १५:३९ शुभ मुहूर्त
१५:३९ – १६:१२ रोग पञ्चक
१६:१२ – १७:४३ शुभ मुहूर्त
१७:४३ – १९:२४ मृत्यु पञ्चक
१९:२४ – २०:५० अग्नि पञ्चक
२०:५० – २२:१३ शुभ मुहूर्त
२२:१३ – २३:४७ मृत्यु पञ्चक
२३:४७ – २५:४१ अग्नि पञ्चक
२५:४१ – २७:५६ शुभ मुहूर्त
२७:५६ – २८:१८ रज पञ्चक
२८:१८ – २९:४५ शुभ मुहूर्त
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
आज का राशिफल
🐐🐂💏💮🐅👩
〰️〰️〰️〰️〰️〰️
मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)
आज प्रातः काल जल्द ही अपने आवश्यक कार्य पूर्ण करने का प्रयास करे इसके बाद परिस्थिति प्रतिकूल होने लगेगी जो काम आसानी से बन रहे थे वही बाद में खुशामद के बाद भी बनाने में परेशानी आएगी। सार्वजनिक क्षेत्र पर आज भी आपकी छवि गरिमामय रहेगी लेकिन घर मे कोई नए पुराने विवाद के बढ़ने से मानसिक रूप से विचलित हो सकते है इसका प्रभाव कार्य क्षेत्र पर भी देखने को मिलेगा। उखड़े मन से कार्य करने पर आस पास को लोगो को असहजता होगी। आज स्वयं के व्यवसाय की जगह शेयर सट्टे अथवा पैतृक व्यवसाय से लाभ की सम्भवना अधिक है लेकिन होगा कामचलाऊ ही। पूर्व में किसी सुखोपभोग के लिये अमर्यादित आचरण अथवा अन्य गलत कार्य को लेकर दंडित भी हो सकते है। घर एवं कार्य क्षेत्र के अधिकार आपके पास रहने के बाद भी आपकी चलेगी नही। व्यसन से दूरी रखे सेहत संबंधित समस्या अकस्मात हो सकती है।

वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)
आज के दिन सार्वजनिक क्षेत्र पर आपकी जैसी छवि रहेगी अंदर से उसके उलट होगी। दिन के आरंभ से परिस्थियों को भली भांति जानते हुए भी बेकार में चिंता करेंगे। मध्यान तक का समय सोच विचार में बीतेगा अन्य लोगो से स्वयं की तुलना करने पर निर्धनता का अहसास दुखी करेगा लेकिन आज कई दिनों से चल रही आर्थिक विषमताएं कुछ कम होंगी कार्य क्षेत्र पर सोची हुई योजना में सफलता मिलने से आज धन लाभ कम होगा लेकिन भविष्य के लिये नए आय के मार्ग विकसित होंगे। सहकर्मियो से काम निकालने के लिये क्रोध का सहारा लेना पड़ेगा जिससे अशांति तो होगी लेकिन काम जल्दी बन जायेगा। घरेलू सुख साधनों की पूर्ति करने के लिये अधिक परिश्रम करना पड़ेगा फिर भी लड़ झगड़ कर उत्तरदायित्व की पूर्ति कर ही देंगे। सेहत ठीक रहेगी लेकिन थोड़े से काम से अधिक थकान बनेगी।

मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा)
आज दिन के पूर्वार्ध भाग में सुख शांति यथावत बनी रहेगी लेकिन मध्यान से पहले कोई अशुभ समाचार मिलने से मानसिक बेचैनी बढ़ेगी। आप जिस कार्य को लेकर कई दिन से उम्मीद लगा रहे थे उसके अकस्मात निरस्त होने या आगे बढ़ने से मन मे नकारत्मक भाव आएंगे। दिनचार्य आज व्यवस्थित नही रहेगी जो काम पहले सोचकर बैठे है उसमें बदलाव के चलते अनावश्यक कार्य पहले करना पड़ेगा। कार्य क्षेत्र पर भी व्यवसाय मन मुताबिक नही रहेगा जहां से धन मिलने की संभावना थी वहां से निराशा मिलने के कारण कई कार्य अधूरे रह सकते है। दिमाग मे धन प्राप्ति को लेकर उटपटांग युक्तियां लगाएंगे फिर भी आमद आज अत्यंत अल्प ही रहेगी। परिवार कुटुम्ब से आर्थिक सहायता मिलने से थोड़ा सब्र आएगा। निवेश भूल कर भी ना करें। परिवार का वातावरण कुछ समय के लिये गमगीन बनेगा। सेहत संबंधित समस्या अकस्मात बनने से ज्यादा परेशानी होगी।

कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)
आज का दिन उतार चढ़ाव से भरा रहेगा आज आप पहले से जो योजना बनाएंगे उसे अंत समय मे अन्य कारण से निरस्त करना पड़ेगा अकस्मात आने वाले अथवा पुराने अधुरे कार्यो से असुविधा होगी लेकिन मान हानि के डर से पहले करने पड़ेंगे। आज किसी सरकारी कार्य मे उलझन बढ़ने का भय भी रह सकता है। लेकिन किसी का सहयोग मिलने से इससे निजात मिल जाएगी। कार्य क्षेत्र पर दिन भर झंझट लगे रहेंगे शत्रु द्वारा मानसिक पीड़ा मिलेगी फिर भी आज विद्या के प्रभाव से सम्मान एव संतान का सुख मिलने से मानसिक राहत अनुभव करेंगे। लोग आज आपकी प्रसंशा अवश्य करेंगे लेकिन इसके पीछे उनका निजी स्वार्थ छुपा होगा चाहे फिर घर के सदस्य ही क्यो ना हो बिना मतलब कोई भी स्नेह नही देगा। शरीर मे आज कोई न कोई कष्ट बना रहेगा जोखिम वाले कार्यो में अधिक सतर्कता बरते। आंखों पेट में जलन हिचकी अथवा मुख में छाले की समस्या हो सकती है।

सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)
आज के दिन भी परिस्थितियां प्रतिकूल रहने वाली है शरीर साथ ना देने के कारण दिन के आरम्भ से ही कार्यो में विलंब होने लगेगा जिसे मध्यान बाद तक व्यवस्थित नही कर पाएंगे। कार्य क्षेत्र पर भी धीमी गलती से कार्य करने पर किस न किसी रूप में हानि उठानी पड़ सकती है। नौकरी पेशाओ को अधिकारियों की फटकार सुन्नी पड़ेगी लेकिन आज कार्यो के प्रति असमर्थता ही रहेगी धन की आमद बहुत धीमी गति से होगी इसके विपरीत खर्च निरंतर लगे रहने से धन संबंधित समस्या बनेगी किसी से उधार लेने की योजना भी बनाएंगे लेकिन अंत समय मे टाल भी सकते है। घरेलू वातावरण भी आज धन एवं सदस्यों के लापरवाह आचरण के कारण मानसिक अशांति बढ़ाने वाला रहेगा। आज किसी से वादा न करें अन्यथा वचन भंग हो सकता है। उपकरणों से सावधानी बरतें।

कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)
आज का दिन भी आपके लिये परिस्थिति अनुसार अनुकूल बना हुआ है लेकिन मन किसी अरिष्ट की आशंका से दिन भर भयभीत रहेगा जिसके कारण खुलकर व्यवहार नही कर पाएंगे। कार्य क्षेत्र पर लाभ हानि बराबर रहेगी आज के दिन जितनी प्राप्ति हुई उसकी खुशी की जगह जो नही मिल सका उसका शोक करेंगे। नौकरी पेशाओ को पूर्व में की किसी गलती के कारण भय बना रहेगा मन मे शंका रहने के कारण काम तो करेंगे लेकिन अनिर्णय की स्थिति असमंजस में रखेगी। गर्म वस्तु अथवा बिजली संबंधित व्यवसाय से अच्छा लाभ पाया जा सकता है। सरकारी कार्यो में निर्विरोध सफलता मिल सकती है लापरवाही ना करें। घर का वातावरण सुखोपभोगी रहेगा जल्दी से कोई मेहनत करने के लिये तैयार नही होगा जिससे जिद बहस की स्थिति बनेगी। आज जल्दी से किसी की बातो में ना आये धोका खा सकते है। पेट दर्द अथवा शारीरिक कमजोरी अनुभव होगी।

तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)
आज का दिन आपके लिये धन धान्य वृद्धि कारण रहेगा। मौज शौक मनोरंजन पर खर्च भी राजसी करेंगे लेकिन पारिवारिक एवं व्यक्तिगत खुशी आज सर्वोपरि रहने के कारण खर्च अखरेंगे नही। आज किसी न किसी कारण से अपने स्थान से दूर रहने के योग बन रहे है लेकिन इसका आर्थिक लाभ नही मिल पायेगा। कार्य क्षेत्र पर आपका व्यवहार लापरवाह रहेगा जिसका फायदा प्रतिस्पर्धी अवश्य उठाएंगे आवश्यक कार्यो के लिये भी सहयोगियों के ऊपर निर्भर रहने से लाभ में कमी देखने को मिलेगी फिर भी संतोषजनक हों जाएगा। आज मनोरंजन को सीमित दायरे में रह कर ही करें अन्यथा संकट में पढ़ सकते है। घरेलू वातावरण इच्छानुकूल रहेगा पति पत्नी में मामूली नोक झोंक के बाद संबंधों में पहले से अधिक भावुकता आएगी प्रेम प्रसंगों में भी आत्मीयता का अनुभव करेंगे लेकिन ध्यान रखे आज लोग आपके नरम व्यवहार का अनुचित लाभ उठाने से चूकेंगे नही।

वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)
आज के दिन आपकी दिनचार्य व्यवस्थित रहेगी। व्यावसायिक एवं पारिवारिक कार्यो में बुद्धिमता का परिचय देंगे जिससे गलती होने की संभावना बहुत कम रहेगी। आज कुटुम्बीजन इच्छा पूर्ति के लिये ही मीठा व्यवहार करेंगे। कार्य क्षेत्र और घर मे तालमेल बैठाने में थोड़ी दिक्कत जरूर आएगी घर परिवार का वातावरण प्रतिकूल रहने पर भी मानसिक रूप से विचलित नही होंगे। किसी विषय को लेकर माता पिता के विरोध का सामना करना पडेगा फिर भी कुछ ही देर में जटिल समस्या का समाधान कर प्रशंसा के पात्र बनेंगे। कार्य व्यवसाय में भी आज जोखिम लेने से बचेंगे यह निर्णय आज आपके लिये ठीक ही रहेगा। बाजार का हाल सुस्त रहने के कारण धन फंस सकता है दैनिक उपभोग की वस्तुओ को छोड़ अन्य सभी मे निवेश हानि कराएगा। सुखोपभोग की चाहत आज भी अधिक रहेगी लेकिन इसके लिये बेचैन नही होंगे। भाई बंधु अथवा नौकरों के हाथ हानि होने की संभावना है। त्वचा अथवा गर्दन के ऊपरी भाग में समस्या बन सकती है।

धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे)
आज दिन के आरम्भ में आपका स्वभाव उदासीन रहेगा। व्यवहार मे भी रूखापन रहने के कारण दाम्पत्य जीवन मे खटास आएगी बाद में पछताना ना पड़े इसका ध्यान रख दिन का आरंभिक भाग धैर्य से बिताए। मध्यान के समय व्यवसाय अथवा अन्य रोजगार संबंधित कार्य से शुभ समाचार मिलने पर दिमाग ठंडा होगा। किसी नई योजना अथवा पुराना अटका धन अकस्मात मिलने की संभावना है। पिता अथवा घर के वरिष्ठ व्यक्ति का स्वभाव थोड़ा जिद्दी अवश्य रहेगा लेकिन आपको आज इनसे किसी न किसी रूप में लाभ ही मिलने वाला है। पूर्व में बनाये सामाजिक व्यवहार आवश्यकता के समय काम आएंगे लेकिन आपका संकोची स्वभाव मदद में देरी कर सकता है। आज मन की बात निसंकोच होकर कहे। पति पत्नी के बीच घर के किसी सदस्य को लेकर असंतोष दिखेगा फिर भी मामला गंभीर होने से पहले ही शांत हो जाएगा। मूत्राशय स्थान में कोई लंबा रोग होने की संभावना है रक्त एवं कफ संबंधित समस्या भी हो सकती है।

मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी)
बीते दिनों की तुलना में आज का दिन अधिक राहत वाला रहेगा आज भी दिन के आरम्भ में पारिवारिक एवं व्यावसायिक चिंताये रहेंगी लेकिन मध्यान आते आते अनुकूल वातावरण बनने से आपकी मानसिकता एकदम विपरीत हो जाएगी। लेकिन आज मानसिक रूप से चंचलता अधिक रहेगी अनुभव होने के बाद भी हड़बड़ी में कार्य करने पर सफलता संदिग्ध बनेगी। कार्य क्षेत्र पर सहयोग भी आसानी से मिल जाएगा घर के सदस्य भी व्यावसायिक कार्यो में हाथ बटाएंगे लेकिन विचारों में मेल ना खाने पर थोड़ी बहुत बहस हो सकती है। सार्वजनिक क्षेत्र पर उच्च प्रतिष्ठित लोगो से मेल जोल होने पर आपकी पहचान भी ऐसी ही बनेगी चाहे इसका कोई व्यक्तिगत लाभ ना मिल पाए। अनुभव के आधार पर जरूरत के अनुसार आय बना लेंगे। घरेलू मामलो में आज स्त्री संतान पक्ष की ही अधिक चलेगी। पेट एवं गले संबंधित थोड़ी बहुत समस्या रह सकती है।

कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)
आज के दिन आप स्वयं को नियंत्रित कर परिस्थिति अनुसार ढालने का प्रयास करेंगे लेकिन अन्य लोगों से स्वयं की तुलना करने पर मन हीन भावना से ग्रस्त होगा। स्वभाव में अहम की भावना अधिक रहेगी अपनी बात को ऊपर रख किसी की नही चलने देंगे। कार्य व्यवसाय में भी मनमर्जी चलाएंगे कुछ गड़बड़ होने पर आरोप किसी अन्य के सर मढ़ने का प्रयास करेंगे जिससे वातावरण खराब हो सकता है। अन्य लोगो को स्वयं से नगण्य आंकने पर बिना बात शत्रु वृद्धि होगी साथ मे काम निकालने में भी परेशानी आएगी आज धन लाभ पाने के लिये किसी की कटु बाते सुन्नी भी पड़े तो सुनले अन्यथा लाभ को भूल ही जाए। घरेलू वातावरण में गलत फहमियों को जगह ना दे नही तो किसी न किसी की विरोधी प्रतिक्रिया सहने के लिये तैयार रहें। संध्या का समय दिन की तुलना में शांत रहेगा कुछ हांसिल ना होने पर मन मारकर रह जाएंगे गलतियों का आंकलन कर स्वभाव में भी नरमी लाएंगे। शरीर के गुप्त अंगों में समस्या हो सकती है।

मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)
आज का दिन आपके लिए लाभालाभ वाला रहेगा जिस भी कार्य की योजना बनाएंगे परिस्थिति स्वतः ही उसके अनुकूल बनती चली जायेगी प्रतिकूल परिस्थिति होने पर भी अपने मधुर व्यवहार से अनुकूल बनाने की क्षमता रखेंगे। कार्य व्यवसाय से आज एक से अधिक मार्ग से धन लाभ होगा साथ ही किसी मित्र परिचित से उपहार सम्मान का लाभ भी मिलने की संभावना है। सहकर्मी कुछ समय के लिये जिद या मनमानी करेंगे लेकिन स्थिति को भय दिखाकर ठीक कर लेंगे। किसी कुटुम्बी कारणों से मन मे भय रहेगा परन्तु कुछ देर के लिये ही। स्त्री पक्ष से आकस्मिक लाभ के योग बन रहे है इनसे व्यवहारिकता में कमी ना आने दें। मौज शौक के लिये पर्यटन की योजना बनेगी शीघ्र ही इस पर खर्च भी करेंगे। सेहत आज ठीक ठाक ही रहेगी।
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞
⛅ *दिनांक 08 अगस्त 2020*
⛅ *दिन – शनिवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2077 (गुजरात – 2076)*
⛅ *शक संवत – 1942*
⛅ *अयन – दक्षिणायन*
⛅ *ऋतु – वर्षा*
⛅ *मास – भाद्रपद (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार – श्रावण)*
⛅ *पक्ष – कृष्ण*
⛅ *तिथि – पंचमी 08 अगस्त प्रातः 04:18 तक तत्पश्चात षष्ठी*
⛅ *नक्षत्र – उत्तर भाद्रपद शाम 04:12 तक तत्पश्चात रेवती*
⛅ *योग – धृति पूर्ण रात्रि तक*
⛅ *राहुकाल – सुबह 09:18 से सुबह 10:55 तक*
⛅ *सूर्योदय – 06:15*
⛅ *सूर्यास्त – 19:12*
⛅ *दिशाशूल – पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण – नाग पंचमी (राजस्थान की परम्परा के अनुसार), रक्षा पंचमी (ओड़िशा)*
💥 *विशेष – पंचमी को बेल खाने से कलंक लगता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
💥 *ब्रह्म पुराण’ के 118 वें अध्याय में शनिदेव कहते हैं- ‘मेरे दिन अर्थात् शनिवार को जो मनुष्य नियमित रूप से पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उनके सब कार्य सिद्ध होंगे तथा मुझसे उनको कोई पीड़ा नहीं होगी। जो शनिवार को प्रातःकाल उठकर पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उन्हें ग्रहजन्य पीड़ा नहीं होगी।’ (ब्रह्म पुराण’)*
💥 *शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष का दोनों हाथों से स्पर्श करते हुए ‘ॐ नमः शिवाय।’ का 108 बार जप करने से दुःख, कठिनाई एवं ग्रहदोषों का प्रभाव शांत हो जाता है। (ब्रह्म पुराण’)*
💥 *हर शनिवार को पीपल की जड़ में जल चढ़ाने और दीपक जलाने से अनेक प्रकार के कष्टों का निवारण होता है ।(पद्म पुराण)*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *जवानी में बाल सफ़ेद हो गए हो तो* 🌷
👦🏼 *जवानी में जिनके बाल सफ़ेद हो जाते हैं उनको चाहिए कि कोरा आवंले का पाऊडर ( मिश्री मिला हुआ नहीं ) ..अपना पानी पीने का जो घड़ा हो..छोटा सा वो अलग रखें उसमें एक चम्मच पाऊडर डाल दें ..जब भी प्यास लगे वो ही पानी पियें ..तो जवानी या बचपन में जिनके बाल सफ़ेद हो जाते हैं ..वो फिर से अपना रंग दिखायेंगे |*
🙏🏻 *-श्री सुरेशानंदजी मुंबई 3rd Feb’2012*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *अनिद्रा* 🌷
👉🏻 *अनिद्रा के चार कारण हैं -*
1⃣ *कफ की कमी*
2⃣ *दूसरे का हक छीनना*
3⃣ *व्यर्थ की चिंता*
4⃣ *कुछ रोगों के कारण*
🌿 *(1) हरा धनिया का रस व मिश्री मिलाकर ” ॐ हंसं हंसः ” १०८ बार जप करके पी लें ।*
🐄 *(2) गाय का घी सिर व पैरों के तलवों पर मलें ।*
🐃 *(3) भैंस के दूध से बनी लस्सी दोपहर को पियें ।थोड़ी शक्कर डालके … पर जोड़ो का दर्द हो, तो लस्सी में खटास होगी तो तकलीफ़ करेगी … वे लोग न लें ।*
🙏🏻 *(4) “शुद्धे शुद्धे महायोगिनी महानिद्रे स्वाहा” इस मंत्र का जप सोते समय प्रेम पूर्वक करें।*
🙏🏻 *पूज्य बापूजी – Hissar 21st June 2010*

📖 *हिन्दू पंचांग संपादक ~ अंजनी निलेश ठक्कर*
📒 *हिन्दू पंचांग प्रकाशित स्थल ~ सुरत शहर (गुजरात)*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞
🙏🍀🌷🌻🌺🌸🌹🍁🙏