Home उत्तर प्रदेश ‘हक़ की बात-जिलाधिकारी के साथ’

‘हक़ की बात-जिलाधिकारी के साथ’

मिशन शक्ति- महिलाओं व बालिकाओं का जिलाधिकारी से होगा पारस्परिक संवाद
यौन हिंसा, लैंगिक असमानता, घरेलू हिंसा के सम्बंध में होगी चर्चा संरक्षण, सुरक्षा तंत्र के बारे में दी जाएगी जानकारी

मुजफ्फरनगर। प्रदेश में महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के लिए चलाये जा रहे ‘मिशन शक्ति’ के तहत ‘हक़ की बात-जिलाधिकारी के साथ’ कार्यक्रम का आयोजन बुधवार (25 नवंबर) को कलेक्ट्रेट स्थित जिला पंचायत सभागार में किया जाएगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे करेंगी। कार्यक्रम में यौन हिंसा, लैंगिक असमानता, घरेलू हिंसा तथा दहेज आदि के सम्बंध में चर्चा की जाएगी और इनसे बचाव के लिए संरक्षण, सुरक्षा तंत्र, सुझावों, सहायताओं के बारे में उन्हें बताया जाएगा। इसी के साथ-साथ बालक-बालिकाओं के लिए मनोचिकित्सा व कैरियर काउंसलिंग विषय भी केंद्र बिंदु रहेंगे। कार्य्रक्रम में बालक-बालिकाओं/महिलाओं द्वारा ऑनलाइन व ऑफलाइन प्रश्न भी पूछे जा सकेंगे।
जिला प्रोबेशन अधिकारी मुश्फैकीन ने बताया कि मिशन शक्ति के तहत ‘हक़ की बात-जिलाधिकारी के साथ’ कार्यक्रम में अतिथि के रूप में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सलोनी रस्तोगी, मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ मुजफ्फरनगर समृद्धि त्यागी, जिला विद्यालय निरीक्षक गजेंद्र कुमार, जिला चिकित्सालय के मनोचिकित्सक डॉ. मनोज कुमार, महिला थानाध्यक्ष मोनिका चौहान आदि उपस्थित रहेंगी। जिलाधिकारी दो घंटे पारस्पकरिक संवाद कर महिलाओं व किशोरियों को महिला सुरक्षा के प्रति जागरूक करेंगी। कार्यक्रम का आयोजन वेबिनार, ऑनलाइन, फोन व विडियो कॉन्फ्रे ‍सिंग के जरिए किया जाएगा।
मिशन शक्ति के तहत लगातार कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहे है। इससे पहले जनपद मं ‘बेटियों से पहचान’ थीम पर जनजागरूकता कार्यक्रम, अंतरराष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस पर ग्राम से लेकर जिला स्तर पर जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के नेतृत्व में बच्चों और किशोरों की सुरक्षा व मानसिक स्वास्थ्य एवं मनोसामाजिक आवश्यकताओं, मुद्दों और सपोर्ट प्रणाली पर भौतिक शक्ति संवाद किया गया। गौरतलब है कि प्रदेश सरकार ने महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा सम्मान एवं उनके स्वावलंबन के लिए विशेष अभियान ‘मिशन शक्ति’ चलाया हुआ है।