Home उत्तराखंड सरकार के गले की बनी फांस विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन की वापसी

सरकार के गले की बनी फांस विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन की वापसी

देहरादून। आम आदमी पार्टी (आप) ने खानपुर विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन की भाजपा में वापसी को राज्य सरकार और भाजपा संगठन के गले की फांस बताया है। आप के प्रांतीय प्रवक्ता रविंद्र आनंद ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत महामंत्री बीएल संतोष ने चैंपियन की दोबारा वापसी पर सवाल उठाकर मुख्यमंत्री से जिस तरह से जवाब तलब किया है, उससे जाहिर है कि चैंपियन डबल इंजन सरकार की बड़ी आफत बन चुके हैं।

गुरुवार को जारी प्रेस बयान में आप के प्रवक्ता रविंद्र आनंद ने कहा कि वह पहले ही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से चैंपियन की वापसी को लेकर सवाल खड़े कर चुके हैं। आमजन जानना चाह रहा कि चैंपियन की वापसी कितने करोड़ में हुई है। जो लोग पिछले दिनों आम आदमी पार्टी पर आरोप लगा रहे थे कि आप की ओर से चैंपियन को करोड़ों रुपये की ऑफर दी गई थी, वही जनता आज सवाल उठा रही कि आखिर भाजपा संगठन की क्या मजबूरी थी जो चैंपियन को वापस लिया गया।

उन्होंने कहा कि अब भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व भी मुख्यमंत्री व संगठन से अंदरखाने सवाल पूछ रहा है कि आखिर क्या मजबूरी रही कि उत्तराखंड को गाली देने वाले राज्य के ही विधायक चैंपियन को छह साल तक निष्कासित करने के फैसले के बाद 13 माह में ही वापस ले लिया गया। आरोप लगाया कि इससे स्पष्ट है कि कहीं न कहीं चैंपियन व मुख्यमंत्री के बीच कोई बड़ी डील हुई है, जिसकी खबर अभी तक भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को नहीं है।

प्रवक्ता आनंद ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार और संगठन चैंपियन को बचाने पर तुला है। इस मामले में जब आप मुखर हुई, तब भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को प्रदेश में चल रहे ‘खेल’ की भनक लगी। आप प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि सरकार प्रदेश की जनता को मूर्ख बनाकर गुमराह ही नहीं कर रही, बल्कि अपने केंद्रीय नेतृत्व को भी गुमराह कर रही है।