चल गया पता, कौन चला रहा था @giyuyy नाम से ट्विटर आइडी

रुद्रपुर : बुल्ली बाई एप के मास्टरमाइंड युवक की असम से गिरफ्तारी के बाद श्वेता के परिजनों को उसके बेगुनाह होने की आस जगी है. परिजनों का मानना ​​है कि मुख्य आरोपी ने कई लोगों की आईडी का इस्तेमाल किया। पुलिस जांच करेगी तो सच्चाई सामने आ सकती है।

बुल्ली बाई ऐप में मुस्लिम महिलाओं की नीलामी की सूचना पर महाराष्ट्र और दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज किया था. बाद की जांच में महाराष्ट्र पुलिस ने एक युवक को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया। इसके साथ ही मंगलवार को रुद्रपुर निवासी श्वेता और बुधवार को कोटद्वार से एक युवक को मोबाइल सर्विलांस की मदद से गिरफ्तार कर महाराष्ट्र पुलिस अपने साथ ले गई.

रुद्रपुर में बुल्ली बाई एप में युवती की गिरफ्तारी के बाद से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है. स्थानीय स्तर पर इसमें और कोई शामिल नहीं है, पुलिस ने इसकी जांच शुरू कर दी थी। इस बीच बुल्ली बाई एप का मुख्य आरोपी असम से पकड़ा गया है। इसके बाद रुद्रपुर में रहने वाली श्वेता के परिजन उसके बेकसूर होने की आस से जगे हैं।

श्वेता की बड़ी बहन ने दैनिक जागरण से बात करते हुए बताया कि बुल्ली बाई ऐप के मास्टर माइंड ने श्वेता के साथ-साथ और भी कई लोगों की आईडी का इस्तेमाल किया है. इसकी जांच के बाद सच्चाई सामने आएगी। बताया कि जब उन्होंने श्वेता से बात की तो उन्होंने बताया कि वे सिर्फ उनके ट्विटर फ्रेंड हैं.

अकेलेपन को दूर करने और ट्विटर पर मीम्स शेयर करने के लिए उन्होंने ग्रुप ज्वाइन किया। श्वेता की बड़ी बहन ने बताया कि असम से गिरफ्तार युवक @giyuyy है। उसका नाम जी यू है। वह बुली बाई ऐप चलाता था, उसने पुलिस के बयान में भी इस बात को कबूल किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.