Home उत्तर प्रदेश मिशन शक्ति के तहत जन जागरुकता कार्यक्रम

मिशन शक्ति के तहत जन जागरुकता कार्यक्रम

मिशन शक्ति के तहत जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित,गुड्डा गुड्डी कार्यक्रम का भी हुआ आयोजन

किसी भी महिला को डरने या उत्पीड़न सहने की जरूरत नहीं : जिलाधिकारी

अपराधों के प्रति महिलाओं को जागरूक करने वालों को किया गया सम्मानित, किया वृक्शारोपण

रिपोर्टर – रविता

मुजफ्फरनगर। 19 अक्टूबर 2020। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने कहा कि महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अपराधों के प्रति सरकार बेहद गंभीर है, किसी भी महिला को डरने या उत्पीड़न सहने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि किसी महिला के साथ कोई भी आपराधिक घटना होती है तो तुरंत हेल्प लाइन नंबरों पर सूचित करें। महिला की पहचान गोपनीय रखी जाएगी और उसकी पूरी मदद की जाएगी।

जिलाधिकारी सोमवार को यहां विकास खंड सदर के ग्राम जड़ौदा में मिशन शक्ति के तहत जन जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने महिलाओं तथा बालिकाओं को स्वावलम्बी बनाने, उनमें सुरक्षित परिवेश की अनुभूति कराने, जन-जागरूकता पैदा करने, आत्म सुरक्षा की कला विकसित करने के लिए प्रशिक्षित करने की बात कही। उन्होंने हिंसा/अपराध करने वालों की पहचान उजागर करने पर भी जोर दिया। उन्होंने उन लोगों को प्रोत्साहन पत्र देकर सम्मानित किया जो लैंगिक समानता, घरेलू हिंसा तथा दहेज को लेकर होने वाली हिंसा से निपटने के लिए कानून की जानकारी देते हैं और महिलाओं को इसके प्रति जागरूकता कर रहे हैं।

जिला प्रोबेशन अधिकारी मौ. मुशफेकीन ने कहा कि बेटियों की सुरक्षा को लेकर सरकार बेहद गंभीर है और मिशन शक्ति के तहत प्रदेशभर में शोहदों व मनचलों को चिह्नित कर उनकी धरपकड़ की जाएगी। इसके साथ ही सभ्य समाज के दुश्मनों की तस्वीर चौराहों पर लगेंगी। उन्होंने कहा कि बेटियों व महिलाओं की सुरक्षा एवं विघटनकारियों को कठोर सजा का संदेश देने के लिए यह अभियान शुरू किया गया है।

जिला कार्यक्रम अधिकारी वाणी वर्मा ने बताया कि मिशन शक्ति का आयोजन सभी आगंनबाड़ी केंद्रों पर किया जा रहा है। अभियान तीन चरणों में 180 दिनों तक चलेगा। इसमें 24 विभागों का सहयोग लिया गया है। इसके साथ ही इस अभियान से अंतरराष्ट्रीय व स्थानीय सामाजिक संगठन भी जुड़ रहे हैं।

हेल्प लाइन नंबर-

महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार की ओर विभिन्न हेल्पलाइन नंबर संचालित हैं, जिसमें 1090 वूमेन पावर लाइन, 181 महिला हेल्पलाइन, 1098 चाइल्ड लाइन, 112 पुलिस आपातकालीन सेवा, 1076 मुख्यमंत्री हेल्पलाइन, 102 स्वास्थ्य सेवा, 108 एम्बुलेंस सेवा व 1800-180-5145 चिकित्सीय हेल्पलाइन है।