योगी सरकार के खिलाफ आज से प्रियंका गांधी की प्रतिज्ञा यात्रा शुरू ।

खबरे सुने

प्रियंका गांधी यूपी में बीजेपी को खदेड़ने के खिलाफ माहौल बनाने और अपने खोए हुए सियासी जनाधार को वापस लाने के लिए आज से प्रतिज्ञा यात्रा शुरू करने जा रही है.सबसे पहले वे आदित्य नाथ के भवन क्षेत्र गोरखपुर से इसकी शुरुआत करेंगी
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लखनऊ से सटे बाराबंकी में प्रतिज्ञा यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगी. प्रतिज्ञा यात्रा के तहत यूपी के चार इलाकों में 12 हजार किलोमीटर की यात्रा कांग्रेसी कार्यकर्ता तय करेंगे. पश्चिमी यूपी, बुंदेलखण्ड, अवध और पूर्वांचल के इलाके में निकालने की योजना बनाई गई है. माना जा रहा है कि प्रतिज्ञा यात्रा के जरिए कांग्रेस सूबे में अपने पक्ष में माहौल बनाने की रणनीति है.

बुंदेलखंड क्षेत्र में यह यात्रा बाराबंकी से शुरू होकर लखनऊ, उन्नाव, फतेहपुर, चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर, जालौन होते हुए झांसी में जाकर खत्म होगी. इसी तरह पश्चिम यूपी क्षेत्र में सहारनपुर से मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, बदायूं, अलीगढ़, हाथरस, आगरा, मथुरा तक यात्रा चलेगी. वहीं, अवध क्षेत्र में यह यात्रा वाराणसी से शुरू होगी और चंदौली, सोनभद्र, मिर्जापुर, प्रयागराज, प्रतापगढ़, अमेठी होते हुए रायबरेली में जा कर खत्म होगी. इस दौरान प्रियंका गांधी की सभाएं भी होंगी.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी 31 अक्टूबर को सीएम योगी के गृह जनपद गोरखपुर में बड़ी रैली को संबोधित करेंगी. इस वजह से फिलहाल कांग्रेस ने तीन यात्राओं का कार्यक्रम बनाया है, जो बुंदेलखंड क्षेत्र, पश्चिमी यूपी क्षेत्र और अवध क्षेत्र में 23 अक्टूबर से 1 नवंबर तक चलेगी. पूर्वी यूपी में यात्रा गोरखपुर रैली के बाद निकाली जाएगी. इस यात्रा के जरिए कांग्रेस अपने बड़े वादों को लोगों के बीच लेकर जाएगी, जिसे प्रतिज्ञा का नाम दिया गया है.
बता दें कि प्रियंका गांधी यूपी में चुनावी एजेंडा सेट करने में जुटी हैं. कांग्रेस का फोकस महिला, दलित और मुस्लिम वोटरों पर है. प्रियंका गांधी ने ऐलान किया है सूबे में इस बार 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देंगी. इसके बाद उन्होंने दूसरा बड़ा ऐलान छात्राओं को मोबाइल और स्कूटी देना का वादा किया है. इसके अलावा प्रियंका गांधी बाराबंकी में यात्रा को रवाना करने से पहले प्रियंका गांधी शिक्षा और नौकरियों में महिला आरक्षण, महिलाओं के लिए मुफ्त शिक्षा, किसान की कर्ज माफी, बिजली के दर आधे करने जैसे एलान कर सकती हैं.

यूपी में चार महीने के बाद होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर प्रियंका गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंकी हुई है. अपने पुराने वोटबैंक की वापसी के अलावा कांग्रेस की नजर खास तौर पर महिला वोटरों पर भी है. प्रियंका गांधी लगातार यह संदेश देने की कोशिश कर रही हैं कि योगी सरकार के खिलाफ विपक्ष की असली भूमिका कांग्रेस निभा रही है.

हाल में ही बनारस में बड़ी रैली कर कांग्रेस ने जता दिया कि उसकी ताकत लौट रही है. इतना ही नहीं प्रियंका गांधी ने जिस तरह से सूबे में डेरा जमाया है, उससे पार्टी नेताओं और कार्यकर्ता में जोश आया है. हालांकि, सूबे में जिस तरह से दो ध्रुवी चुनाव बन रहा है, उसके चलते जरूर कांग्रेस के बड़े नेताओं को चिंता है. ऐसे में देखना है कि प्रियंका गांधी उनके जीत के विश्वास को कैसे स्थापित करती हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.