Home वायरल न्यूज़ सोशल मीडिया की सकारात्मकता ने दी बुजुर्ग दम्पति को उम्मीद।

सोशल मीडिया की सकारात्मकता ने दी बुजुर्ग दम्पति को उम्मीद।

नई दिल्ली

राजसत्ता पोस्ट

सोशल मीडिया का हर तरह से प्रयोग किया जाता है , नकारात्मक व सकारात्मक परन्तु सोशल मीडिया का सकारात्मक प्रयोग कभी कभी किसी के जीवन मे चमत्कारी बदलाव ला सकता है

ऐसा ही कुछ हुआ, नई दिल्ली ,मालवीय नगर में  बाबा का ढाबा नाम से अपना स्टॉल चलाने वाले बुजुर्ग दम्पत्ति के साथ, रातों रात बाबा का ढाबा का एक फूड वीडियो इस कदर वायरल हुआ की सुबह होते ही ढाबे पर लोगो का प्यार उमड़ पड़ा।

गौरव वासन का ‘स्वाद ऑफिशियल’ नाम का एक यूट्यूब चैनल है ,जिस पर फूड ब्लॉग बनाये जाते है ,इसी चैनल पर 6 अक्टूबर को 11 मिनट का एक वीडियो डाला गया था. ‘बाबा का ढाबा’ वाले पति-पत्नी का वीडियो. और 7 अक्टूबर को इंस्टाग्राम पर तीन मिनट का वीडियो डाला गया था, अब इसी वीडियो के कुछ हिस्से वायरल हो रहे हैं।

पिछले कई वर्षो से कांता प्रसाद और बादामी देवी मालवीय नगर में अपनी छोटी सी दुकान लगा रहे हैं, दोनों की उम्र  80 से ज्यादा हो चुकी है, कांता प्रसाद बताते हैं कि उनके दो बेटे और एक बेटी हैं, लेकिन कोई भी उनकी मदद नहीं करता, सारा काम वो खुद अपनी पत्नी के साथ मिलकर करते हैं, सुबह 6-7 बजे दुकान लगाने पहुंच जाते हैं, 9 बजे तक खाना बनकर तैयार हो जाता है, लॉकडाउन के पहले तो फिर भी लोग आते थे, लेकिन लॉकडाउन के बाद कोई नहीं आता, 6 अक्टूबर को पोस्ट इस वीडियो में कांता ने बताया कि दोपहर 1 बजे तक केवल 70 रुपए की बिक्री हुई थी, अपनी दिक्कत बताते-बताते कांता प्रसाद रोने भी लगे।

वीडियो देखकर ऐसा लगता है कि वीडियो किसी फूड ब्लॉगर ने या तो किसी फूड चैनल के तहत वीडियो बनाई गई है। वीडियो में बोलने वाला शख्स कहता है, आप (बुजुर्ग) मत रोइए…सब ठीक हो जाएगा। वीडियो में ढाबे के मटर पनीर को दिखाकर शख्स लोगों से अपील कर रहा है कि बुजुर्ग की मदद करें।

वीडियो को देखकर भारतीय क्रिकेटर के स्टार स्पिनर आर अश्विन ने कहा है, चलो इस आदमी की भवना और फाइट को टूटने नहीं देते हैं, आइए हम सब इनकी मदद करें। इसके अलावा अश्विन ने लिखा है, मैं भी कुछ मदद करना चाहता हूं। आप बताइये मैं कैसे इनकी मदद करूं।

सोशल मीडिया पर वायरल इनकी वीडियो का फायदा ये हुआ की इनके स्टॉल पर लोगो की भीड़ उमड़ पड़ी और दूर बैठे लोगों ने भी ऑनलाइन पेमेंट कर बुजुर्ग दम्पत्ति की मदद की पेशकश की।