UP तक पहुंचा Omicron वैरिएंट, गाजियाबाद में मिले दो संक्रमित, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

खबरे सुने

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट ने दस्तक दे दी है। इस वायरस से संक्रमित गाजियाबाद में दो रोगी मिले। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि दो केस मिलने के बाद सतर्कता और बढ़ा दी गई है। उन्होंने कहा कि गाजियाबाद के नेहरूनगर के रहने वाले पति-पत्नी पिछले दिनों महाराष्ट्र की यात्रा करके लौटे। यहां आने पर उनको बुखार हो गया। जांच करने पर कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। दोनों के सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए लखनऊ भेज गए थे। शुक्रवार को रिपोर्ट आने पर दोनों में ओमिक्रोन वैरिएंट की पुष्टि हो गई है।

अभी तक ओमिक्रोन प्रभावित राज्यों और विदेश से उत्तर प्रदेश लौटे 89 लोगों के सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे जा चुके हैं। इसमें 46 सैंपल की रिपोर्ट आ चुकी है और दो में अब तक ओमिक्रोन पाया गया है। ओमिक्रोन संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट हो गया है। अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि गाजियाबाद में दो मरीज पाए जाने के बाद कोरोना जांच में और तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं। ओमिक्रोन संक्रमित इन दो मरीजों के संपर्क में आए लोगों का भी कोरोना टेस्ट कराया जा रहा है। एयरपोर्ट, रेलवे व बस स्टेशन पर पहले से ही सख्ती के साथ बाहर से आ रहे लोगों की जांच कराई जा रही है। ऐसे लोग जो संक्रमित पाए जा रहे हैं, उनके सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश स्टेट सर्विलांस आफिसर डा. विकासेंदु अग्रवाल का कहना है कि ओमिक्रोन वैरिएंट प्रभावित राज्यों व दूसरे देशों से आ रहे लोगों पर विशेष नजर रखी जा रही है। प्रदेश में अभी तक तीन चरणों में 89 लोगों के सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे जा चुके हैं। पहले चरण में 22 सैंपल की जांच में 21 सैंपल में डेल्टा वैरिएंट मिला था। अब दूसरे चरण में भेजे गए 24 सैंपल की रिपोर्ट आई है और इसमें दो लोगों में ओमिक्रोन वैरिएंट की पुष्टि हुई है। अभी 43 सैंपल के नतीजे आना बाकी हैं।

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रोन से पूरी दुनिया चिंतित है। भारत में दो दिसंबर पहला केस मिला था। अब देश में 100 से ज्यादा मामले आ चुके हैं। सरकार ने भी चेतावनी देते हुए लोगों से कहा है कि ओमिक्रोन वैरिएंट को हल्के में न लें। इससे संक्रमित होने वालों में भले ही हल्के लक्षण नजर आ रहे हैं, लेकिन यह तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। देश अब 12 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में अभी तक इसके 102 संक्रमितों की पुष्टि हो चुकी है। इनमें महाराष्ट्र में 32, दिल्ली में 22, राजस्थान में 17, कनार्टक व तेलंगाना में आठ-आठ, गुजरात व केरल में पांच-पांच, उत्तर प्रदेश में दो और आंध्रप्रदेश, चंडीगढ़, तमिलनाडु व बंगाल में एक-एक मामले शामिल हैं। इनमें अधिकतर विदेश से आने वाले यात्री और उनके संपर्क में आए लोग हैं।

कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर पूरी दुनिया में दहशत का माहौल है। सबसे पहले यह वैरिएंट दक्षिण अफ्रीका में पाया गया था। इस वैरिएंट की खोज के बाद से ही ज्यादातर लोग इस बात से सहमत है कि यह वैरिएंट बहुत ज्यादा संक्रामक है। लेकिन, यह कितना जानलेवा है इसके बारे में अभी तक एक्सपर्ट्स ज्यादा कुछ नहीं बता पा रहे हैं। एक रिसर्च में सामने आया है कि वैरिएंट कोरोना के वैरिएंट डेल्टा से 70 गुना तेजी से फैलता है और बेहद संक्रामक है। लेकिन, यह फेफड़े यानी लंग्स को उतना नुकसान नहीं पहुंचाता है जितना डेल्टा वेरिएंट पहुंचाता है।

कोरोना से संक्रमित 22 नए रोगी मिले : उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में 1.78 लाख लोगों की जांच में 22 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसमें गौतमबुद्ध नगर व मुजफ्फरनगर में छह-छह, गाजीपुर व लखनऊ में दो-दो और गाजियाबाद, कानपुर, सोनभद्र, देवरिया, बिजनौर व शाहजहांपुर में एक-एक रोगी मिला है। इससे पहले चार दिसंबर को 27 व पांच दिसंबर को 29 मरीज मिले थे। अब सक्रिय केस बढ़कर 164 हो गए हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.