Home उत्तराखंड उत्‍तराखंड के अपने पैतृक गांव में एनएसए अजीत डोभाल बनाएं घर

उत्‍तराखंड के अपने पैतृक गांव में एनएसए अजीत डोभाल बनाएं घर

पौड़ी। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल शनिवार करीब छह बजे अपने पैतृक गांव घीड़ी पहुंचे। यहां उन्होने पत्नी संग कुल देवी बाल कुंवारी मंदिर में पूजा की। पूजा के बाद वे अपने गांव मे ग्रामीणों से मिलने भी गए। कहा कि युवाओं को देश सेवा के लिए आगे आना चाहिए। लॉकडाउन के दौरान गांवों को लौट चुके युवाओं की पहल को उन्होंने सराहा। कहा कि गांव में उनका जो पुराना मकान है, उसको बनाने पर वे विचार करेंगे। निजि कार्यक्रम के तहत यहां पहुंचे एनएसए डोभाल का गांव पहुंचने पर ग्रामीणों ने ढोल दमाऊ की थाप और फूल मालाओं से उनका स्वागत भी किया। एनएसए ने भी सरल लहजे में ग्रामीणों से गढ़वाली भाषा में बातचीत की। इस मौके पर ग्राम प्रधान अजय डोभाल, दिनेश डोभाल, पंकज, एसडीएम एसएस राणा, सीओ वंदना वर्मा आदि मौजूद थे।

आज शनिवार सुबह करीब छह बजे एनएसए अजीत डोभाल पत्‍नी समेत कुल देवी की पूजा के लिए कोट ब्लॉक स्थित अपने पैतृक गांव घीड़ी पहुंचें। यहां कुल देवी मां बालकुंवारी के मंदिर में उन्‍होंने पूजा-अर्चना की। इसके बाद वह गांव पहुंचे और यहां उन्‍होंने ग्रामीणों से बात की। उन्‍होंने कहा कि गांव में उनकी मकान बनाने की इच्‍छा है। करीब ढाई घंटे गांव में बिताने के बाद वह पौड़ी के लिए रवाना हो गए।

बता दें कि एनएसए डोभाल निजी कार्यक्रम के तहत पत्नी के साथ बीते रोज दोपहर बाद शक्ति पीठ ज्वाल्पा धाम पहुंचे। यहां मंदिर के मुख्य पुजारी नवीन चंद्र अंथवाल, सुरेंद्र कुकरेती व राजेंद्र प्रसाद अंथवाल ने उनकी पूजा संपन्न कराई। उन्होंने भगवान शिव व कालभैरव मंदिर में भी शीश नवाया और कुछ देर पुजारी व मंदिर समिति के पदाधिकारियों से बातचीत भी। जबकि, पत्नी अरुणा डोभाल ने वहां संस्कृत विद्यालय का अवलोकन किया। मंदिर परिसर में करीब 50 मिनट गुजारने के बाद डोभाल पौड़ी के लिए रवाना हुए। यहां वे सर्किट हाउस में ठहरे हुए हैं।  इस मौके पर जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल, एसएसपी पी.रेणुका देवी, एसडीएम सदर एसएस राणा, सीओ सदर वंदना वर्मा, जिला पंचायत सदस्य गौरव रावत आदि मौजूद रहे।