पिथौरागढ़ हवाई सेवा को स्टेट प्लेन होने के लिए अब बस अब केंद्र की अनुमति का इंतजार

खबरे सुने

देहरादून। देहरादून-पिथौरागढ़ के बीच हवाई सेवा संचालन शुरू करने में आ रही दिक्कत को देखते हुए अब प्रदेश सरकार ने इसके समाधान का एक नया रास्ता निकाला है। प्रदेश सरकार ने केंद्र को इसके लिए अपना आठ सीटर स्टेट प्लेन बी-200 देने की पेशकश की है। अब इस पर केंद्र की अनुमति का इंतजार है।

केंद्र सरकार ने वर्ष 2018 में उड़ान योजना के तहत देहरादून-पिथौरागढ़ के बीच हवाई सेवा का संचालन शुरू की। यह हवाई सेवा देहरादून से पंतनगर और पिथौरागढ़ के बीच चली। इसे अच्छा रुझान भी मिला। दरअसल, इस मार्ग पर नौ सीटर विमान को चलाने की अनुमति दी गई थी। इसका किराया भी काफी कम था। किराया कम होने के कारण इसमें यात्री भी खूब आ रहे थे लेकिन इसमें तकनीकी दिक्कतें आने लगी। इससे यह सेवा लड़खड़ाने लगी। इस कारण इसके संचालन का समय घटाया गया। बाद में यह संचालन अनियमित हो गया। कोरोना काल से ठीक पहले यह सेवा बंद हो गई।

स्थिति थोड़ी सामान्य होने पर प्रदेश सरकार ने इस मार्ग पर हवाई सेवा संचालित करने के लिए केंद्र सरकार से अनुरोध किया। पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और फिर पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत दोनों ने ही यह मसला केंद्र के सामने उठाया। इस दौरान यह कहा गया कि एयर स्ट्रिप छोटी होने के कारण इसमें थोड़ी दिक्कत आ रही है। इस पर प्रदेश ने एयर स्ट्रिप पर काम किया। प्रदेश सरकार द्वारा लगातार मामला उठाने पर केंद्र ने इसके लिए टेंडर आमंत्रित किए। कुछ कंपनियों ने इसमें हिस्सा तो लिया लेकिन उन्हें नौ सीटर जहाज नहीं मिल पाए। ऐसे में प्रदेश सरकार ने केंद्र के सामने उत्तराखंड के स्टेट प्लेन का संचालन इस मार्ग पर करने का अनुरोध किया है, जिस पर विचार चल रहा है।

सचिव नागरिक उड्डयन दिलीप जावलकर ने कहा कि स्टेट प्लेन का इस्तेमाल बहुत अधिक नहीं हो रहा है। ऐसे में इसका इस्तेमाल देहरादून-पिथौरागढ़ के बीच हवाई सेवा के लिए किया जा सकता है। इस संबंध में केंद्र को प्रस्ताव भेजा गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.