अब चारधाम यात्रा के ई-पास कराये जायेंगे आधार से लिंक, पढ़िए पूरी खबर

खबरे सुने

 

देहरादून। चारधाम यात्रा के लिए जारी होने वाले ई-पास अब आधार कार्ड से भी लिंक होंगे। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड यह व्यवस्था करने जा रहा है। इसमें यात्रियों के लिए ई-पास निरस्त कराने का विकल्प भी खुला रहेगा।

हालिया दिनों में शुरू बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम की यात्रा के लिए ई-पास अनिवार्य किया गया है। इसे चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड जारी करता है। यात्रा शुरू होने पर देशभर के श्रद्धालुओं ने उत्साह दिखाया और बड़ी संख्या में ई-पास के लिए आवेदन किया। बोर्ड ने 15 अक्टूबर तक के लिए ई-पास जारी भी कर दिए, लेकिन चारों धामों में तय संख्या से कम श्रद्धालु ही पहुंच रहे हैं। कारणों की पड़ताल की गई तो बात सामने आई कि शुरुआती दौर में बिना प्लानिंग के ही बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने ई-पास तो बुक कराए, लेकिन तय तिथियों के हिसाब से उन्हें फ्लाइट अथवा रेल के टिकट उपलब्ध नहीं हो पाए। साथ ही इन्होंने अपनी बुकिंग भी निरस्त नहीं कराई। कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिन्होंने एक साथ बुकिंग तो कराई, मगर वे न तो तय तिथि पर पहुंचे और न ई-पास निरस्त कराया। ऐसे में अन्य यात्रियों को भी ई-पास जारी नहीं किए जा सके।

दरअसल, अब तक देवस्थानम बोर्ड के साफ्टवेयर में ई-पास निरस्त कराने का विकल्प भी नहीं था। इस बीच हालिया दिनों में यात्रा पड़ावों पर फर्जी ई-पास के मामले भी सामने आए थे। इस सबको देखते हुए अब देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड नई व्यवस्था करने जा रहा है। मंडलायुक्त एवं बोर्ड के सीईओ रविनाथ रमन के अनुसार ई-पास को आधार कार्ड से लिंक किया जाएगा। इसके साथ ही ई-पास निरस्त करने का विकल्प देने के लिए साफ्टवेयर में बदलाव किए जा रहे हैं। दो-तीन दिन में यह व्यवस्था कर दी जाएगी।

अब 15 अक्टूबर के बाद खुलेगी बुकिंग

चारधाम यात्रा के लिए 15 अक्टूबर तक के लिए ई-पास की बुकिंग हो चुकी है। इसे देखते हुए बोर्ड ने तय किया है कि 15 अक्टूबर के बाद पांच-सात दिन के अंतराल में बुकिंग खोली जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.