यूपी मे रिक्शा चालक के नाम आयकर विभाग का नोटिस, 3 करोड़ का करना है भुगतान ।

खबरे सुने

लखनऊ :यूपी के तो रिक्शा चालक भी भाग्यशाली है जिनकी आमदनी 43,44,36,201 बताई जा रही है उत्तर प्रदेश में एक मामूली रिक्शा चालक भी है आयकर विभाग के निशाने पर, आयकर विभाग से चौंका देने वाला लेन-देन का खेल सामने आया है। एक गरीब रिक्शा चालक को आयकर विभाग ने तीन करोड़ रूपये से अधिक का भुगतान करने का आयकर नोटिस भेजा है।चौंकाने वाली बात यह भी है कि नोटिस में रिक्शा चलाने वाले व्यक्ति की कमाई 2018-19 में 43,44,36,201 रुपये की बताई गई है, जिसके एवज में उसे 3 करोड़ से अधिक का आयकर भुगतान करने को कहा गया है।

यह मामला उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद है। जिले में बाकलपुर क्षेत्र की अमर कॉलोनी निवासी प्रताप सिंह रिक्शा चलाकर गुजर-बसर करता है। वह कम पढ़ा लिखा है। 19 अक्टूबर को उसके आयकर अधिकारियों से फोन आया और नोटिस दिया गया कि उन्हें 3,47,54,896 रुपये का आयकर भुगतान करना है। जिसके बाद प्रताप सिंह ने राजमार्ग थाने में शिकायत दर्ज कराई है और ठगे जाने का दावा किया है।

प्रताप सिंह का कहना है कि उन्होंने गत गत दिनों उनके बैंक ने उनसे बैंक में पैन कार्ड जमा कराने को कहा था, जिसके बाद उन्होंने बाकलपुर में तेज प्रताप उपाध्याय के जन सुविधा केंद्र में पैन कार्ड के लिए आवेदन दिया था। इसके लिये उन्हें तीन महीने तक चक्कर भी काटने पड़े। बाद में उसे बाकलपुर के संजय सिंह के मोबाइल नंबर से रंगीन पैन कार्ड की प्रति मिली। वह पढ़े-लिखे नहीं है इसलिए उन्होंने मूल पैन और उसकी रंगीन प्रति में भेद नहीं किया।

प्रताप सिंह का कहना है कि इसके बाद उसे 19 अक्टूबर को आयकर अधिकारियों से फोन आया और नोटिस दिया गया कि उन्हें 3,47,54,896 रुपये का भुगतान करना है। प्रताप सिंह के मुताबिक, अधिकारियों ने उन्हें बताया कि किसी ने उनके नाम पर जीएसटी नंबर प्राप्त किया और 2018-19 में 43,44,36,201 रुपये का कारोबार किया।

इस जानकारी के बाद प्रताप सिंह के होश उड़ गये। संपर्क करने पर आयकर अधिकारियों ने उन्हें प्राथमिकी दर्ज कराने की सलाह दी है। बाकलपुर पुलिस का कहना है कि प्रताप सिंह की शिकायत पर अभी मामला दर्ज नहीं किया गया है। पुलिस जांच करने के बाद मामले में उचित कार्रवाई जरूर करेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.