जरूरत नोटबंदी की नहीं खोटबंदी की ,अखिलेश यादव ने बीजेपी पर किया तंज ।

खबरे सुने

लखनऊ,ना काला धन रुका, न भ्रष्टाचार, न आतंकवाद। नोटबंदी से अर्थव्यवस्था व आय बढऩे का भाजपाई दावा अगर सच होता तो आयकर संग्रहण बढ़ता। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि गरीब, भूखे, वंचित वर्ग के लोग इस बार भाजपा को ‘वोटबंदी’ करके करारा जवाब देंगे। उन्होंने कहा कि नोटबंदी की पांचवीं बरसी पर भाजपा उनका खुलासा करे जो काला धन लेकर विदेश फरार हो गए या वहां जा बसे हैं।
अखिलेश ने प्रदेश कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि भाजपा ने अपने अब तक के कार्यकाल में उत्तर प्रदेश में सिर्फ अव्यवस्था और अराजकता फैलाने के अलावा कोई दूसरा काम नहीं किया है। नफरत का तानाबाना फैलाने के साथ समाज को बांटने और विभाजनकारी प्रवृत्तियों को बढ़ाने में ही भाजपा लगी रहती है। झूठ के लिए ही उसका मंथन, निरंतर चलता रहता है।

अखिलेश ने कहा कि उन्नाव में भूमि पर कब्जा हो जाने से परेशान किसान को इस सरकार में न्याय नहीं मिला तो लखनऊ में विधान भवन के सामने आत्मदाह को मजबूर हो गया। बागपत जिले में कर्ज में डूबे किसान द्वारा आत्महत्या की घटना कम हृदयविदारक नहीं है। बड़े जोर-शोर से दावे किए जाते हैं कि भाजपा राज में देश में खुशहाली आई है। महिलाओं-बच्चों के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दिया गया है, ङ्क्षकतु हकीकत यह है कि 33 लाख से ज्यादा बच्चे कुपोषित हैं। नवंबर 2020 से 14 अक्टूबर 2021 के बीच गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों की संख्या में 91 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.