2 साल के बच्चे का नहीं लगा सुराग, गुलदार के ले जाने की आशंका में परिवार का हुआ बुरा हाल

खबरे सुने

नैनीताल। ज्योलिकोट के समीपवर्ती गांव चोपड़ा के मटियाली बेंड से शुक्रवार रात को नेपाली के करीब दो वर्षीय बच्चे का 12 घंटे बाद भी सुराग नहीं लग सका है। स्वजनों द्वारा आंगन में गुलदार देखे जाने से बच्चे के गुलदार उठा ले जाने का शक गहरा ज्ञाह।  वन विभाग, पुलिस तथा ग्रामीणों ने बच्चे की तलाश में रात एक बजे तक सर्च अभियान चलाया, लेकिन घनी झाड़ियों में उसका कोई सुराग नहीं लग सका। आज पुलिस व वन विभाग की चार टीमें सर्च अभियान चलाकर जंगल की खाक छानेंगी।

नेपाली भानू राणा तथा मीना राणा अपने दो छोटे बच्चों के साथ चोपड़ा के मटियाली गांव में रहते हैं। शुक्रवार देर शाम उनके बच्चे चार वर्षीय पीयूष व दो वर्षीय राघव आंगन में खेल रहे थे। इसी बीच राघव अचानक गायब हो गया। पीयूष के रोने पर परिजन तथा ग्रामीण यहां पहुंचे तो उन्होंने राघव को गायब देखा। ग्रामीणों की सूचना के बाद वन विभागीय अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने ग्रामीणों के साथ गांव समेत आसपास के क्षेत्रों में रात्रि के दौरान सर्च अभियान चलाया लेकिन देर रात तक बच्चे का कहीं पता नहीं चल सका। इससे पूर्व दोपहर के बाद भी ग्रामीणों ने गांव में गुलदार देखा था।

गुलदार के आतंक और बार-बार देखे जाने पर आशंका है, कि बच्चे को गुलदार ने निवाला बना लिया होगा। फिलहाल बच्चा बरामद नहीं किया जा सका है। ज्योलीकोट चौकी इंचार्ज नरेंद्र कुमार व वन क्षेत्राधिकारी भोपाल सिंह मेहता समेत अन्य देर रात तक बच्चे की तलाश करते रहे पर कोई सफलता नहीं मिली। बच्चे के गायब होने से स्वजन बेहद चिंता में है और उन्हें अनहोनी की आशंका है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.