देश में जल्द ही नेजल वैक्सीन और दुनिया की पहली DNA Covid Vaccine की होगी शुरुआत- पीएम मोदी

खबरे सुने

नई दिल्‍ली। देश में फिर से सिर उठा रही कोरोना महामारी और सामने आने वाले इसके नए वैरिएंट ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए जल्‍द ही नाक से दी जाने वाली वैक्‍सीन की शुरुआत हो जाएगी। इसकी घोषणा खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दिए अपने संबोधन में की है। उन्‍होंने इस दौरान देशवासियों से ओमिक्रोन के नए खतरे से निपटने के लिए लापरवाह न होने की भी अपील की है। देश को दिए अपने संबोधन में उन्‍होंने कहा कि इस बात के पुख्‍ता प्रमाण हैं कि इस महामारी से केवल और केवल सावधान रहते हुए ही लड़ा और जीता जा सकता है। इसलिए मास्‍क का उपयोग, साफ-सफाई और एक दूसरे से दूरी बनाए रखने की आदत को किसी भी सूरत से न छोड़ें।

क्रिसमस के मौके पर दिए अपने संबोधन में उन्‍होंने देशवासियों को कुछ खास जानकारियां भी दी जो ओमिक्रोन से बढ़ती दहशत के लिए बेहद जरूरी भी थी। उन्‍होंने इस दौरान बताया कि तेजी से सामने आ रहे वैरिएंट के साथ ही हमारी क्षमता, ताकत और आत्मविश्वास भी बढ़ रहा है। देश में नई चीजों को लाने की जज्‍बा भी बढ़ रहा है। उन्‍होंने बताया कि देश में फिलहाल 18 लाख आइसोलेशन बेड मौजूद हैं। इसके अलावा 5 लाख ऐसे बेड हैं जिनके साथ आक्‍सीजन सपोर्ट है। साथ ही मुश्किल घड़ी में साथ देने के लिए 1 लाख 40 हजार आईसीयू बेड भी उपलब्‍ध हैं। करीब 90 हजार बेड केवल बच्‍चों के लिए मौजूद हैं।

मौजूदा समय में देश में 3 हजार से अधिक PSA आक्‍सीजन प्‍लांट्स काम कर रहे हैं। गंभीर स्थिति से निपटने के लिए करीब चार लाख आक्‍सीजन सिलेंडर देशभर में उपलब्‍ध करवाए गए हैं। सभी राज्‍यों को इस महामारी और नए वैरिएंट से लड़ने के लिए दवाओं का पूरा स्‍टाक मुहैया करवाया गया है। साथ ही राज्‍यों को बफर स्‍टाक रखने के लिए भी कहा गया है। राज्‍यों को पर्याप्त टेस्टिंग किट्स भी दी जा रही हैं।

आपको बता दें कि भारत में कोरोना महामारी के खिलाफ टीकाकरण की शुरुआत इस वर्ष 16 जनवरी को हुई थी। तब से लेकर आज तक देशभर में 141 करोड़ से अधिक लोगों को टीका लगाया जा चुका है। भारत की वयस्क जनसंख्या में से 61 फीसद से अधिक जनसंख्या को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है। वहीं करीब 90 फीसद लोगों को वैक्‍सीन की एक खुराक दी जा चुकी है। गोवा, उत्तराखंड, हिमाचल जैसे राज्यों ने सौ फीसद सिंगल डोज वैक्‍सीनेशन का लक्ष्य हासिल कर लिया है।

अपने संबोधन में पीएम ने बताया कि अगले वर्ष 3 जनवरी से 15 साल से 18 साल की आयु के बीच के बच्‍चों का वैक्‍सीनेशन शुरू हो जाएगा। 10 जनवरी 2022 से हेल्‍थकेयर वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्‍सीन की बूस्‍टर डोज देने का भी काम शुरू हो जाएगा। इसके अलावा 60 वर्ष की आयु से अधिक उम्र के लोगों को भी डाक्‍टर की सलाह के बाद ये वैक्‍सीन दी जा सकेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.