Home उत्तराखंड सरकार से वार्ता तक आंदोलन रहेगा स्थगित – उत्तराखंड माध्यमिक शिक्षा संघ

सरकार से वार्ता तक आंदोलन रहेगा स्थगित – उत्तराखंड माध्यमिक शिक्षा संघ

राजसत्ता पोस्ट

सरकार से वार्ता तक आंदोलन रहेगा स्थगित – उत्तराखंड माध्यमिक शिक्षा संघ

शनिवार 19 दिसंबर 2020

राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के सहायता प्राप्त अशासकीय विद्यालयों का वेतन अनुदान खत्म करने संबंधी धमकी भरे आदेश जारी करने के विरोध में उत्तराखंड माध्यमिक शिक्षक संघ द्वारा प्रस्तावित 21 दिसंबर के विरोध प्रदर्शन को आगामी निर्णय तक स्थगित कर दिया गया है।

उत्तराखंड देहरादून -संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप त्यागी ने बताया कि विभागीय अधिकारी लगातार अशासकीय विद्यालयों के साथ सौतेला व्यवहार कर रहे हैं। बार-बार इन विद्यालयों का वेतन अनुदान समाप्त करने की धमकी दी जा रही है। विगत दिनों भी अनुदान समाप्त करने की धमकी भरा पत्र शासन द्वारा जारी किया गया है,जिससे राज्य के अशासकीय शिक्षकों में गहरा रोष है। उत्तराखंड माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अनिल शर्मा की अध्यक्षता व महामंत्री जगमोहन रावत के संचालन में विगत 13 दिसंबर को आयोजित ऑनलाइन बैठक में वेतन अनुदान समाप्त करने के प्रयासों एवं बार-बार ऐसी धमकी भरे आदेश जारी कर शिक्षकों को मानसिक रूप से उत्पीड़ित करने का विरोध करते हुए 21 दिसंबर को प्रदेश के प्रत्येक अशासकीय विद्यालयो में इन आदेशों की प्रतियां जलाने का निर्णय किया
गया था।
संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अनिल शर्मा, महामंत्री जगमोहन रावत व प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप त्यागी आदि शिक्षक नेताओं ने बताया कि इस मुद्दे को लेकर संघ पदाधिकारी मुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री के लगातार संपर्क में हैं और वहां से सकारात्मक आश्वासन है। कल शिक्षा सचिव ने भी अनुदान ख़तम नहीं करने का बयान जारी कर दिया है। शीघ्र ही संघ नेताओं की मुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री से वार्ता होगी जिसमें इस मुद्दे को प्रमुखता से रखा जाएगा। अतः तब तक संघ द्वारा 21 दिसम्बर से प्रस्तावित आन्दोलन को स्थगित किया जाता है।
संघ नेताओं ने चेतावनी दी कि यदि अशासकीय विद्यालयों के वेतन अनुदान से छेड़खानी का प्रयास किया गया,तो पूरे प्रदेश के शिक्षक तीव्र आंदोलन के लिए बाध्य होगे।