Home LyfeStyle मसाला बाज़ार, ग्लोबल विलेज, हट्टा हैरीटेज, अल-सीफ: एक नज़र पुराने और कभी...

मसाला बाज़ार, ग्लोबल विलेज, हट्टा हैरीटेज, अल-सीफ: एक नज़र पुराने और कभी न देखे गए दुबई पर

नई दिल्ली। आप लोगों ने दुबई की ऊंची इमारतों, खूबसूरत बीच और जादुई नाइट लाइफ के बारे में ज़रूर सुना होगा, लेकिन संयुक्त अरब अमीरात का मतलब सिर्फ इमारत और समुद्री तट ही नहीं है। ऐसे में हम आपको बताते हैं दुबई की कभी न देखी गई उन जगहों के बारे में, जहां आपको ज़रूर जाना चाहिए।

पुरानी दुबई का मसाला बाज़ार

दुबई के मसाला बाज़ार में आपको बेहद रंगीन, ख़ुशबूदार और संवेदनशील अनुभव होगा। दुबई के हेरीटेज इलाक़े के पुराने मसाला बाज़ार में घूमते हुए आप नए ज़ायक़े और खाना बनाने के नए नुस्ख़े खोज सकते हैं। यहां के हर मोड़ पर बड़ी-बड़ी टोकरियों से छलकते हुए मसालों और औषधियों की महक आपको पुराने समय के स्वादिष्ट खाने की याद दिला देगी।

यहां की अलग-अलग दुकानों पर आपको दुकानदार इन अनोखे मसालों को इस्तेमाल करने के तरीक़े भी बताएंगे। कई मसाले काफ़ी तेज़ और खुशबूदार होते हैं, तो कई तीखे और कुछ मीठे भी। दुनियाभर की चाय की तरह-तरह की क़िस्में भी आपको यहां मिल जाएंगी। आप यहां घूमते-घूमते ही उनको बनाने के तरीक़े भी जान जाएंगे।

मसालों को तौलकर और पैकेट में, दोनों तरह से बेचा जाता है। अरब और भारतीय उपमहाद्वीप के ज़्यादातर मसाले आपको कम दामों पर मिल जाएंगे। चाहे आप खाना बनाने के माहिर हों या फिर अपनी पसंदीदा डिश के साथ प्रयोग करना चाहते हों, आपको मसाला बाज़ार में कई नए स्वाद मिल जाएंगे। यहां तेल और सूखे मेवे भी मिलते हैं और ज़ाफ़रान भी मिल जाएगी।

हट्टा हैरीटेज

हट्टा में पहाड़ों के खूबसूरत नज़ारों के साथ इसके पीछे की समृद्ध सांस्कृतिक कहानी भी है। हट्टा के शानदार पहाड़ों के अलावा दुबई घूमने आए लोग यहां के मौसम में आने वाले हल्के बदलाव का आनंद लेने भी आते हैं। हैरीटेज स्ट्रीट और हट्टा की चमकदार संस्कृति आपको अमीरात के इतिहास के बारे में काफी कुछ बता देगी। दुबई के सबसे पुराने गांव घूमिए, वहां आपको प्राचीन कहानियों के बारे में पता चलेगा। सालों पुराना घंटाघर, मस्जिदें और क़िले आज भी पूरी मज़बूती से खड़े हैं। हट्टा हैरीटेज गांव को साल 2001 में दोबारा स्थापित किया गया था। आज यहां कई तरह की कलाकृतियों, जैसे हथियार, साज़-ओ-सामान के साथ-साथ ऐसे उपकरण भी रखे हैं, जिनमें आपको इसके शानदार अतीत की झलक भी मिलती है।

ग्लोबल विलेज

ग्लोबल विलेज एक भव्य सांस्कृतिक जगह है, जहां दुनियाभर के देशों की झलकियां देखने को मिलती हैं। ग्लोबल विलेज एक रोमांचक इवेंट है, जिसे दुबई में आयोजित किया जाता है। यहां कई देश एक साथ आकर अपनी-अपनी संस्कृति का पूरा अनुभव हासिल करने का मौक़ा देते हैं। वे यहां अपने-अपने देश के शामियाने लगाते हैं, जहां आप उन देशों के सामान ख़रीद सकते हैं और वहां की संस्कृति का आनंद ले सकते हैं। यहां तरह-तरह के खानों के अलावा भी बहुत कुछ होता है। ग्लोबल विलेज संस्कृति, मनोरंजन और खरीदारी के लिए पहला पारिवारिक स्थल है। खरीदारी, भोजन और मनोरंजन के अनुभवों का आनंद लेने के लिए यह दुनिया की बेहतरीन जगह है। यहां आने वाले मेहमानों को एक ही जगह पर दुनिया के बेहतरीन मनोरंजन, ख़रीदारी और ख़ानों का मज़ा लेने का मौक़ा मिल जाता है। यहां आयोजित होने वाली गतिविधियों और प्रदर्शन भी रंगारंग होते हैं। इस तरह के उत्सवों के माध्यम से यहां दुनिया के कई देशों की संस्कृति की सबसे अच्छी चीज़ों को उजागर किया जाता है और यहां के विभिन्न पवेलियन अपने मेहमानों को एक ऐसी यात्रा पर ले जाते हैं कि उन्हें अलग-अलग देशों की समृद्ध संस्कृति को जानने का अवसर मिल जाता है। यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर का खाना, दिलचस्प टूर और मनोरंजक खेलों का अनुभव किया जा सकता है।

अल-सेफ़

साल 2017 के अंत में लॉन्च हुआ अल-सीफ दुबई खाड़ी का एक मशहूर समुद्र किनारा (Sea Beach) है। यह खुद के बदलाव का जश्न मनाता है, जिसकी शुरुआत मोती की तलाश में ग़ोते लगाने से हुई थी। दुबई खाड़ी के 1.8 किलोमीटर लंबे तट के आसपास बना और 2.5 मिलियन वर्ग फीट में फैले अल-सेफ के दो हिस्से हैं। पहले हिस्से में पुरानी वास्तुकला देखने को मिलती है, जबकि दूसरे हिस्से में समकालीन संरचनाएं देखी जा सकती हैं।

कभी खाड़ी का एक जीवंत-द्वार रही यह जगह पर्ल डाइविंग बंदरगाह के नाम से मशहूर है। यहां खाड़ी की पौराणिक उपस्थिति आज भी महसूस की जा सकती है। आज यहां, मछुआरे और व्यापारी अपनी पतली-सी नाव में शांत पानी को पार करते नज़र आते हैं, जो उनके रोज़मर्रा के काम का हिस्सा है। अल सेफ़ इस जगह की भव्य विरासत पर ज़ोर देता है, और प्रगतिशील सोच रखने वाले तत्वों को सामने रखता है, जिससे यहां के प्राकृतिक सौंदर्य को सामने लाने का भी मौक़ा मिलता है।